कर्मचारियों की लाम्बित माँगे ना माने जाने के विरोधस्वरूप एचएसईबी वर्कर यूनियन ने किया बड़े आन्दोलन का एलान

0
220

TODAY EXPRESS NEWS : फरीदाबाद/14 सितम्बर 2018/हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन के राज्यप्रधान कँवर सिंह यादव, महासचिव बालकुमार शर्मा व प्रदेश प्रवक्ता विजयपाल जाखड़ ने प्रदेश सरकार को कर्मचारी विरोधी बताते हुए कहा कि प्रदेश सरकार के न्यौते पर मीटिंग के माध्यम से बावजूद इसके सरकार, कर्मचारियों की सहमति बनी मानी गई मांगों को लागू ना करने के प्रति बिगुल फूँकते दिया है । उन्होंने बताया कि संगठन ने मेडिकल कैशलेस, समान काम समान वेतनमान, जोखिम भरे काम के ऐवज में जोखिम भत्ता, पुरानी पेन्शन नीति को पुनः जारी करना, कच्चे कर्मियों को पक्का करना, ठेकेदारी प्रथा को पूर्णतः निरस्त करना, निगम में सातवें वेतन आयोग का लाभ ना दिया जाना, एचआरए बढ़ाकर देना आदि अनेकों सूत्रीय मांगों को लागू किया जाना बाकी है जिन्हें अभी तक कर्मचारी हित मे लागू नही किया गया । एचएसईबी वर्कर यूनियन ने आंदोलन का आगाज़ ओर तेज करते हुए बताया कि प्रदेश की सरकार से सहमती बनी कर्मचारियों की अनेकों मुख्य माँगों पर जो संगठन के केंद्रीय परिषद कर्मचारी नेताओं से जायज माँगों को मानते हुए अपनी सामर्थ्यता जताई थी व इन्हें त्वरित लागू करने का भी शीर्ष नेतृत्व को आश्वासन दिया था । किन्तु आज प्रदेश की सरकार खुद ही अपनी मान्य बातों को लागू न कर किनारा करती नज़र आ रही है । जो कि कर्मचारियों से किया गया धोखा है । जिससे आज यह प्रतीत होता है कि प्रदेश सरकार अपने लाखों कर्मचारियों के प्रति कितनी चिंताजनक परिस्तिथि में तत्पर है और इसी अवस्था को देख यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकार कर्मचारियों पर अनीति का रास्ता अख्तियात कर लाठी-गोली की भाषा बोल उनका शोषण करने अपनी भागेदारी निभा रही है । प्रदेश के कर्मचारीयों के मानसम्मान को ठेस पहुंचाने का काम जो सरकार ने किया है यह निंदनीय है इसे अब बर्दाश्त करना बामुश्किल है । जिसकी एचएसईबी वर्कर यूनियन कड़े शब्दों में भत्सर्ना करता हैं व आगामी समय मे प्रदेश का कर्मचारी इसका जवाब देने में अपना आंदोलन तेज गति से करने को विवश होगा । इसके लिये एचएसईबी वर्कर यूनियन की केंद्रीय परिषद ने कर्मचारी आंदोलन को तीव्रता से आगे बढ़ाते हुए यह फैसला लिया है । जिसकी जानकारी देते हुए मीडिया प्रभारी लेखराज चौधरी ने बताया कि 18 सितम्बर 2018 से प्रदेश सरकार की कथनी में करनी का फर्क बताने व मानित माँगों को लागू न करने को लेकर कर्मचारी एकजुटता से लामबंद होकर समस्त प्रदेश के सभी बिजली सबडिवीजनों पर विरोध प्रदर्शन जाहिर कर सरकार के खिलाफ अपनी आवाज को बुलन्द करेंगे व 25 सितम्बर 2018 को इन्ही कार्यक्रमों के तहत डिवीजन स्तर पर इसी तरह कर्मचारी अपना विरोध करेंगे । इसके बाद 09 अक्टूबर 2018 को रोष प्रदर्शन के माध्यम से समस्त प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों को सरकार के नाम ज्ञापन सौंपेंगे । प्रदर्शन के अगले पड़ाव के आंदोलन की अग्रिम क्रमावाली में 23 अक्टूबर 2018 को पंचकूला में अतिरिक्त मुख्य सचिव पॉवर हरियाणा सरकार कार्यालय का घेराव कर प्रदर्शन व ज्ञापन दिया जायेगा । यदि इसके बावजूद भी प्रदेश सरकार ने कर्मचारियों के प्रति अपनी हठधर्मिता त्याग कर सहमति बनी माँगों को लागू नही किया तो आगामी निर्णायक आंदोलन में हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन 30 अक्टूबर 2018 को राज्यव्यापी सांकेतिक हड़ताल करने को बाध्य होगा । जो कि अनिश्चितकालीन स्तिथि तक भी की जा सकती है । इस हड़ताल से उत्पन्न प्रदेश में यदि किसी भी प्रकार की औद्योगिक अशान्ति भंग होती है तो इसकी पूर्णतः जिम्मेदारी प्रदेश प्रशासन व प्रदेश सरकार की होगी ।

( टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ के लिए अजय वर्मा की रिपोर्ट )


CONTACT FOR NEWS : JOURNALIST AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY