दमनकारी नीतियों के चलते हरियाणा में भी सरकार को चुनाव में हार का मुँह देखना पड़ेगा : सुभाष लाम्बा

0
699

TODAY EXPRESS NEWS : केंद्र सरकार द्वारा इलेक्ट्रीस्टे इमेनमेन्ट बिल – 2018 में संशोधन को लेकर पूरे देश में विरोध होना शुरू हो गया है. इस विरोध को लेकर आज पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किये जा रहे है जिसके चलते आज फरीदाबाद में ऑल हरियाणा पावर कार्पोरेशन वर्कर्स यूनियन के बैनर तले बिजली कर्मचारियों ने धरना और प्रदर्शन किया।

इस प्रदर्शन का नेतृत्व प्रदेश महासचिव सुभाष लाम्बा ने किया। पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने बताया की यह प्रदर्शन ” इलेक्ट्रीस्टे इमेनमेन्ट बिल – 2014 था और जो अब 2018 के नाम से है. जिसके अंदर केंद्र सरकार संशोधन करने की तैयारी कर रही है और अगर यह बिल पार्लियामेंट में पारित हो जाता है तो सबसीडी खत्म हो जायेगी और बिजली के ट्रांसमीटर में प्राइवेट प्लेयर आ जाएंगे और बिजली के दामों में वृद्धि होगी। इससे किसानो की कमर टूटेगी और डोमेस्टिक और नॉन डोमेस्टिक उपभोग्ताओ को बिजली मिलना मुश्किल हो जाएगा। यही नहीं बिजली के क्षेत्र में काम करने वाले इन्जीमियर्स और कर्मचारियों की नौकरी पर भी संकट पैदा होगा। जबकि सरकार की दलील है की प्रतिसपर्धा बढ़ेगी तो बिजली के रेट्स कम होंगे जो की तर्कसंगत नहीं है. उनका कहना था की रेट तभी कम होते है जब उत्पादन जायदा हो और डिमांड कम हो तभी रेट सस्ते हो सकते है. उन्होंने कहा की हमारी नेशनल कोडिनेशन कमेटी ने केंद्रीय बिजली मंत्री को ज्ञापन दे रखा है यदि इसके बावजूद सरकार मनमानी करती है तो आगामी 8 – 9 जनवरी को कर्मचारी राष्ट्रयव्यापी हड़ताल करेंगे। चेतावनी के तौर पर आज एक दिवसीय हड़ताल की गयी है जिसमे कच्चे कर्मचारियों को पक्का करना , समान काम समान वेतन और पुरानी पेंशन और अन्य स्कीमों को बहाल किया जाना शामिल है. उन्होंने चेतावनी दी की यदि सरकार नहीं मानी तो पांच राज्यों की हार की तरह आने वाले चुनावों में भी सरकार को शिकस्त खानी पड़ेगी।

( टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ के लिए अजय वर्मा की रिपोर्ट )


CONTACT FOR NEWS : JOURNALIST AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY