श्रम विभाग द्वारा कामगारों की खेल कूद प्रतियोगिता का आयोजन – श्रम विभाग के कर्मचारी ने लगाए श्रम विभाग पर आरोप

0
429

TODAY EXPRESS NEWS : फरीदाबाद के नाहर सिंह स्टेडियम में आज श्रम विभाग द्वारा उघोगिक संगठनो के मजदूरों के अच्छे स्वास्थ्य को लेकर खेलकूद प्रतियोगिता करवाई गयी जिसमे दर्जनों उद्योगिक संगठनो के कामगारों ने इन खेलो में हिस्सा लिया। इस मौके पर जिले के डिप्टी कमिश्नर  समीरपाल सरो और लेबर विभाग के उपश्रमायुक्त अजयपाल ढूंढी उपस्थित थे. इस मौके पर झंडा फहराकर खेलो का शुभारम्भ किया गया और दावा किया गया की मजदूरों के सर्वांगिंग विकास के उद्देश्य से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है ताकि दिन रात उद्योगिक संगठनो में काम करने वाले मजदूर स्वस्थ रह सके. लेकिन विडंबना यह रही की श्रम विभाग में आउट सोर्सिंग पर क्लेरिकल काम करने वाले कर्मचारियों ने कैमरे के सामने अपना मुँह छिपाते हुए विभाग की पोल खोली और बताया की पिछली जुलाई से  विभाग ने उन्हें वेतन तक नहीं दिया जबकि श्रम विभाग यहाँ खेलो का आयोजन करके झूठी वाहवाही लूट रहा है  ऐसे में कामगारों के हित  कैसे सुरक्षित रहेंगे। करें खा रहे हैं। यहां पर यह क हावत चरिर्थात हो रही है जब बाढ ही खेत को खाने लगे तो रखवाली कौन करेगा। 

श्रम विभाग में कार्यरत एक क्लर्क ने अपनी पहचान छुपाने की शर्त पर  बताया की पिछली जुलाई से उन्हें  उनका वेतन नहीं मिला है जिसके चलते उन्हें अपना घर चलाना मुश्किल हो  गया है यही नहीं उनके वेतन से पैसे तक काट  लिए जाते है ऐसे में खेलो का आयोजन एक दिखावा मात्र है उक्त कर्मचारी ने उप श्रमायुक्त को इसका दोषी ठहराया। अपनी बेबसी बयान करते हुए सरकार से मांग की – कि  कामगारों के हितो का दम  भरने वाले श्रमविभाग के अधिकारियों की जांच करवाई जाए. 

पीड़ित कर्मचारी 

दिखाई दे रहा यह नजारा है फरीदाबाद के नाहर सिंह स्टेडियम का है जहां पर श्रमविभाग द्वारा श्रमिकों के लिए खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर जिला उपायुक्त समीरपाल सरो ने झंडा फहराकर खेलो का शुभारम्भ किया। पत्रकारों से बातचीत करते हुए जिला उपायुक्त समीरपाल सरों ने कहा कि श्रमिकों के लिए ऐसे आयोजन का होना कामगारों के हित में है जिससे कामगारों का सर्वांगिंग विकास होगा। वहीं श्रमिकों के हकों के लेकर पूछे गए सवाल पर उपायुक्त आश्वस्त दिखाई नहीं दिए। 
डीसी समीरपाल सरों
 
गौरतलब है की फरीदाबाद को उघोगिक नगरी के रूप में जाना जाता रहा है यहां पर करीब साढे तीन हजार से ज्यादा उद्योगिक ईकाईयों में लाखों कामगार रोजगार कर अपना पेट पाल रहे हैं। मौके पर मौजूद उप श्रमायुक्त अजय पाल ने बताया की  आज यहाँ करीब चालीस कंपनियों के कामगार खेलो में भाग ले रहे है. जब उनसे पूछा गया कि उनके विभाग में कामगार मेहनताने के लिए धक्के खा रहे हैँ तो उनका जबाब आप खुद सुन लिजिए। 
 
अजयपाल डूडी उपश्रमायुक्त फरीदाबाद
 
( नोट – सम्बंधित कर्मचारी के द्वारा आरोपों की पुष्टि TODAYEXPRESS NEWS नहीं करता और यह खबर कर्मचारी के बयान के अनुसार ही लिखी गयी है )
  

LEAVE A REPLY