7 नवम्बर 1966 को शहीद हुए गौरक्षको को श्रद्धांजली

0
705

TODAY EXPRESS NEWS ( REPORT BY AJAY VERMA ) नई दिल्ली। यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट (हिन्दू संगठनों का समूह) के पदाधिकारियों की एक बैठक आज यहां शाहदरा स्थित संगठन मुख्य कार्यालय में अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत नारायण गिरी जी महाराज की अध्यक्षता में हुई जिसमें आज के ही दिन शहीद हुए असंख्य गऊ रक्षक संतों को भावभीनी श्रद्धांजली अर्पित की गई। बैठक में मोदी सरकार से देश भर में गौहत्या पर अविलम्ब प्रतिबंध लगाने की जोरदार मांग दोहराई गई।

बैठक में फ्रंट के अंतर्राष्ट्रीय महासचिव एवं राष्ट्रवादी शिवसेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जय भगवान गोयल ने कहा कि गाय को शीघ्रतिशीघ्र राष्ट्रीय पशु घोषित कर देश भर में गाय की खरीदो फरोख्त पर तत्काल रोक लगाई जानी चाहिए। संसद भवन के बाहर गोल चक्कर पर इन गौरक्षक शहीदों की स्मृति में बलिदानी स्मारक का यथाशीघ्र निर्माण किया जाना चाहिए।

गोयल ने बताया कि गऊ रक्षा देश की 100 करोड़ हिन्दुओं की आस्था का प्रश्न है। आज के ही दिन 7 नवम्बर 1966 को तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमति इंदिरा गांधी ने गऊ हत्या पर प्रतिबंध की मांग कर रहे गऊ रक्षकों पर गोली चलाकर उनकी निर्ममता पूर्वक हत्या कर दी थी । मृतकों में अधिकांश संख्या साधु संतों की थी। हिन्दुओं के इस रोष प्रदर्शन में उस समय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी व श्री लाल कृष्ण अडवानी भी सम्मिलित हुए थे। देश में भाजपा की सरकार को आम लोगों ने इसीलिए चुना था कि हिन्दू हितों को प्राथमिकता देगी। सरकार को चाहिए कि देश भर में अविलम्ब गौहत्या पर रोक लगाए।

बैठक में सर्वश्री चंद्र प्रकाश कौशिक (राष्ट्रीय अध्यक्ष, हिन्दू महासभा), श्री रजनीश गोयनका (प्रधान सनातन धर्म सभा, जी.के-2), जी.के. रात्रा(कोषाध्यक्ष, यूएचएफ), धर्मेंद्र बेदी(संयोजक दिल्ली, यूएचएफ), विनोद गुप्ता (राष्ट्रवादी शिवसेना), ईश्वर चैधरी (अध्यक्ष, दिल्ली प्रदेश राष्ट्रवादी शिवसेना), मुकेश जैन(दारा सेना), संजीव राठौर (वानर सेना) आदि अपने कार्यकर्ताओं सहित शामिल हुए।

CONTACT : AJAY VERMA 9953753769 , 9716316892

EMAIL : faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY