हरियाणा में कौशल विकास के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य हुआ है : मुख्यमंत्री मनोहरलाल

0
52

TODAY EXPRESS NEWS : पलवल, 13 जनवरी। मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि हरियाणा में कौशल विकास के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य हुआ है। गत एक साल के दौरान प्रदेश के 52 हजार युवाओं को अप्रैंटशिप केे तहत विभिन्न सरकारी व प्राइवेट संस्थानों में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। आज हरियाणा उद्योग लगाने के लिए उद्योगपतियों की पहली पसंद बना हुआ है तथा 22 हजार नए लघु उद्योग स्थापित हुए हैं, जिनमें करीब एक लाख 40 हजार लोगों को रोजगार मिला है। इज ऑफ डूईंग बिजनेस में भी हयिाणा देश में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। मुख्यमंत्री रविवार को श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय दुधौला में निर्माण कौशल अकादमी के उद्ïघाटन व भूमि पूजन कार्यक्रम में भाग लेने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर प्रदेशवासियों को गुरु गोविंद सिंह की जयंती, लोहड़ी व मकर संक्रांति की बधाई देते हुए कहा कि यह विश्वविद्यालय हरियाणा के युवाओं को हुनरमंद बनाने व उन्हें रोजगार के अवसर प्रदान करने में मील का पत्थर साबित होगा। यह देश का पहला अनूठा विश्वविद्यालय है, जहां पर कोर्स करने वाले प्रत्येक विद्यार्थी को निश्चित तौर पर प्राइवेट और सरकारी क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध होगा। प्रदेश में आंकड़ों के अनुसार प्रति वर्ष दो लाख शिक्षित युवा बेरोजगारी की लाइन में खड़े हो रहे हैं, लेकिन सरकारी क्षेत्र में रोजगार के अवसर सीमित हैं, इसलिए प्राइवेट क्षेत्र में रोजगार या स्वरोजगार के अवसर बढ़ाने की आवश्यकता है, ताकि हर हाथ को काम मिल सके। उन्होंने कहा कि युवाओं को हुनरमंद बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कौशल विकास अभियान चलाया। इसी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना का निर्णय लिया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत 19 नवंबर को इस विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी थी। इसके बाद बहुत कम समय में निर्माण कौशल अकादमी की यह बिल्डिंग बनकर तैयार हो गई। इस विश्वविद्यालय का निर्माण तीन चरणों में होगा, जिसके बाद प्रतिवर्ष 12 हजार विद्यार्थी कुशलता, कौशल व हुनर लेकर सरकारी व प्राइवेट क्षेत्रों में रोजगार प्राप्त करेंगे। इसके साथ ही यहां पर छोटी अवधि के सर्टिफिकेट कोर्स भी होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत में कौशल विकास 8 प्रतिशत है, जबकि अमेरिका में 52 प्रतिशत, इंग्लैंड में 68 प्रतिशत, जर्मनी में 75 प्रतिशत, जापान व चीन में 80 प्रतिशत तथा दक्षिण कोरिया में 96 प्रतिशत है। यह विश्वविद्यालय कौशल विकास में भारत को नई दिशा प्रदान करने का कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि सक्षम योजना के तहत बेरोजगार युवाओं को 100 घंटे प्रति माह विभिन्न संस्थानों में कार्य दिया जा रहा है, जिसमें ग्रेजुएट पास को 7 हजार व पोस्ट ग्रेजुएट पास को 9 हजार रुपए मासिक मानदेय दिया जा रहा है। अभी तक प्रदेश के 60 हजार युवाओं ने पोर्टल पर पंजीकरण करवाया है। प्रदेश में 167 सरकारी आईटीआई और 242 प्राइवेट आईटीआई हैं, जिनमें लगभग 92 हजार विद्यार्थी प्रतिवर्ष विभिन्न कोर्स कर रहे हैं।  उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने प्रदेश में भ्रष्टाचार खत्म करने का काम किया है और पैसे का सदुपयोग कर विकास कार्यों में तेजी लाई गई है। सरकार लोगों को मूलभूत सुविधाएं रोटी, कपड़ा और मकान तथा स्वास्थ्य व सम्मान प्रदान करने के लिए भी कृतसंकल्प है।  मुख्यमंत्री ने गांव दुधौला के तालाब के जीर्णोद्धार की जिम्मेवारी विश्वविद्यालय के कुलपति राज नहेरू को सौंपी तथा गांव दूधौला में विकास कार्यों के लिए पंचायत को दो करोड़ रुपए देने तथा सामुदायिक केंद्र, व्यायामशाला एवं पार्क बनाने की घोषणा की। इसी प्रकार पृथला से धतीर सडक़ को सात मीटर से 10 मीटर चौड़ा करने तथा पृथला उप-तहसील की मांग को प्रदेश स्तर पर बनी कमेटी के पास भेजने की भी घोषणा की। इसी प्रकार उपायुक्त को गांव पृथला में विकास कार्यों के लिए पांच करोड़ रुपए की धनराशि खर्च करने की अनमुति देने का निर्देश दिया। इससे पहले मुख्यमंत्री ने निर्माण कौशल अकादमी का उद्घाटन करने के बाद विश्वविद्यालय के निर्माण संबंधी कार्यों को देखा तथा भगवान श्री विश्वकर्मा की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए। उन्होंने बताया कि श्री विश्वकर्मा कौशल विवि में निर्माण कौशल अकादमी के निर्माण पर 3 करोड़ 21 लाख रुपए की लागत आई है, जिसमें 250 से 500 युवाओं को प्रतिवर्ष प्रशिक्षित किया जायेगा। एक बैच में 60 मजदूरों को ट्रेनिंग दी जा सकेगी। प्रारंभिक अवस्था में मेसन तथा बार्बेडर कोर्सेज शुरू किये जा रहे हैं। कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र में जाने के इच्छुक पलवल व फरीदाबाद के युवाओं और मजदूरों को कौशल विकास के कोर्स के साथ प्रशिक्षित दिया जाएगा। केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र में पिछले साढ़े 4 साल में इतने विकास कार्य हुए हैं कि पिछले 40 वर्षों के दौरान नहीं हुए। इस दौरान गांव में सचिवालय व व्यायामशालाएं बनाने, सडक़ों को चौडी व सुंदर बनाने, 185 करोड़ रुपये की रैनीवेल योना के तहत गांव में मीठे पानी की व्यवस्था करवाने, आधा दर्जन गांवों में महिला महाविद्यालय बनाने, पलवल में एलिवेटिड पुल बनवाने, मैट्रो का विस्तार, फरीदाबाद को मंडल का दर्जा देने, फसलों का उचित दाम व मुआवजा देने, गावं में गलियां, नालियां, बरातघर, सामुदायिक केंद्र व शमशानघाटों के सुधारीकरण संबंधी अनेक कार्य करवाए गए हैं। इसके साथ ही सरकार ने एफएमडीए का गठन किया है, जिसके तहत व्यवस्था होगी की जो राजस्व फरीदाबाद जिले से एकत्रित होगा वह धनराशि फरीदाबाद के विकास पर ही खर्च होगी। इसके अलावा फरीदाबाद व गुरूग्राम के बीच करीब 6 हजार करोड़ रुपये से मैट्रो लाइन बिछाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय के निर्माण से दूधौला व आस-पास के क्षेत्र की पहचान देश के मानचित्र पर होगी।  उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि यह विश्वविद्यालय पृथला विधानसभा क्षेत्र के लिए एक बहुत बडी सौगात है। इस गांव ने 82 एकड़ जमीन विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए देकर पुण्य का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय में बनने वाले भवन बहृुत जल्दी तैयार किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जिन आईटीआई के भवन निर्माण कार्यों में देरी हो रही थी, उन्हें भी जल्द पूरा करवाया जा रहा है। यह विश्वविद्यालय देश-प्रदेश के युवाओं को स्किल में मजबूत बनाने में बहुत बडी भूमिका निभाएगा तथा रोजगार के नए आयाम स्थापित करेगा। पृथला के विधायक टेकचंद शर्मा ने कहा कि श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय इस क्षेत्र के चहुमुखी विकास में अपना विशेष योगदान देगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने पृथला विधानसभा क्षेत्र में अनेक विकास कार्यों की सौगात देकर इस क्षेत्र को विकास में अग्रणी बनाने का कार्य किया है।  अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेंद्र सिंह ने कहा कि अभी तक इस विश्वविद्यालय द्वारा 500 बच्चों को विभिन्न कोर्स करवाए गए हैं, जिन्हें विभिन्न संस्थानों में अच्छी प्लेसमेंट मिल रही है। उन्होंने कहा कि आईटीआई में स्टाफ की कमी को दूर करने के लिए अभी हाल ही में करीब 2 हजार 500 इंस्ट्रक्टर के पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

विश्वविद्यालय के कुलपति राज नेहरू ने कार्यक्रम में पहुंचने पर मुख्यमंत्री व अन्य अतिथियों का स्वागत किया। सरपंच सुंदर सिंह ने मुख्यमंत्री के समक्ष गांव के विकास से संबंधित मांगे रखी। इस अवसर पर बडख़ल विधानसभा क्षेत्र की विधायक सीमा त्रिखा, पूर्व मंत्री सुभाष कत्याल, हरियाणा भूमि सुधार आयोग के चेयरमैन अजय गौड़, हरियाणा श्रम कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष हरी प्रकाश गौतम, भाजपा जिला अध्यक्ष पलवल जवाहर सिंह सौरोत, भाजपा जिलाध्यक्ष फरीदाबाद गोपाल शर्मा, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला, भाजपा नेता नयनपाल रावत, हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष मेहरचंद गहलौत, उपायुक्त डा. मनीराम शर्मा, पुलिस अधीक्षक विनोद कौशिक, विश्वविद्यालय की कुल सचिव ऋतु बजाज, परीक्षा नियंत्रक चंचल भारद्वाज, पूर्व विधायक रामरत्न सहित आस-पास के गांवों के पंच-सरपंच तथा क्षेत्र के गणमान्य व्यक्ति और विश्वविद्यालय व प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।
पांच एमओयू हस्तांतरित हुए : एसवीएसयू ने क्यूपी आधारित अल्पकालिक कार्यक्रमों के लिए कौशल विकास के क्षेत्र में काम करने के लिए हीरो मोटोकॉर्प के साथ एक और समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए, जो विद्यार्थियों को वेल्डिंग, मशीनिंग, वाहन, ऑटो मैकेनिक आदि के ट्रेडों में प्रशिक्षित करेगा। एसवीएसयू द्वारा इस आयोजन पर सहमति ज्ञापनों का आदान-प्रदान किया गया। एसकेएच मेटल्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ दूसरा समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया, एसवीएसयू के साथ इस समझौता ज्ञापन पर ऑटो कंपोनेंट विनिर्माण में बी.वॉक/डिप्लोमा कार्यक्रम चलाने के लिए कौशल विकास के क्षेत्र में काम होगा। तीसरा एमओयू एसकेएच मेटल्स ने चिकित्सक व मोबाइल चिकित्सा वैन के लिए किया। यह मोबाइल मेडिकल वैन सप्ताह में एक बार गांव दुधौला का दौरा करेगी ताकि यहां के लोगों की सेवा की जा सके। प्लांट हेड नरेश रैना और आईआर हेड विजय यादव के साथ एसकेएच मेटल्स के निदेशक और सीईओ परवेश सोनी द्वारा एमओयू का आदान-प्रदान किया गया। चौथा एमओयू का आदान-प्रदान एम्बिएंस फैसिलिटीज मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड के साथ किया गया। एसवीएसयू ने सुविधा प्रबंधन में स्नातक/डिप्लोमा कार्यक्रम चलाने के लिए कौशल विकास के क्षेत्र के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इस एमओयू का आदान-प्रदान अम्बिएंस  मॉल के उपाध्यक्ष विजय आइमा द्वारा किया गया। चौथा एमओयू बहादुरगढ़ फुटवियर डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट (बीएफडीआई) के साथ आदान-प्रदान किया गया, जिसमें बी वॉक इन फुटवियर डिजाइन एंड प्रोडक्शन, बी वॉक इन फुटवियर मैनेजमेंट, बुनाई व्यवसाय में बी वोक शामिल हैं। पांचवा एमओयू वीडियोकेन सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के साथ आदान-प्रदान किया गया। इसमें प्रो-फ्री बेस पर पायलट के रूप में विडियोकेन डिजिटल प्लेटफॉर्म के उपयोग के लिए समझौता हुआ।

( टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ के लिए अजय वर्मा की रिपोर्ट )


CONTACT FOR NEWS : JOURNALIST AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY