सूरजकुंड मेले में देखने को मिलेगी उत्तर प्रदेश के पारम्परिक स्थलों की झलकियां

0
456

TODAY EXPRESS NEWS ( REPORT BY AJAY VERMA ) आगामी 2 – 18 फ़रवरी को आयोजित होने वाला अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुंड मेले की तैयारियां ज़ोरशोर से शुरू हो गयी है जिसके लिए पर्यटन विभाग के अधिकारियों ने मेला स्थल के दौरे करने शुरू कर दिए है. इस बार देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश मेले की थीम स्टेट होगा जबकि इस बार पार्टनर कंट्री किर्गिस्तान बनेगा। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के प्रिंसिपल सेकेट्री अवनीश कुमार अवस्थी और हरियणा पर्यटन निगम के अस्सिस्टेंट चीफ सेक्रेटरी विजय वर्धन ने अधिकारियो के दल के साथ मीटिंग की और मेला परिसर का दौरा किया। इस चर्चा में मेले को आकर्षक रूप और मेला दर्शको को सुविधाएं देने के लिए चर्चा की. गौरतलब है की  इस बार मेला 15 दिन की जगह 17 दिन का होगा ।यह फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि पिछले साल सीएम मनोहर लाल खट्टर ने मेले की अवधी में तीन वीकेंड शामिल करने की घोषणा की थी जिसके  चलते यह फैसला लिया गया है । 

FILE PHOTO FROM GOOGLE
उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग के प्रिंसिपल सेकेट्री ने बताया की आज हरियाणा टूरिजम विभाग के अधिकारियो ने उन्हें यहाँ आमंत्रित किया था जिसके चलते आज वह यहाँ आये है और अधिकारियो ने उन्हें मेला स्थल का दौरा करवाया है और उन्हें पूरी डिटेल में जानकारियां दी.  उन्होंने बताया की थीम स्टेट होने के नाते वह इस बार उत्तर प्रदेश  की सांस्कृति और कला से मेला दर्शको को रूबरू करवाएंगे। उन्होंने कहा की उत्तर प्रदेश की तरफ से इस बार वह मेले में बनारस के घाट , संगम और अर्धकुम्भ के बारे में दर्शको को बताएँगे इसके साथ – साथ आयोध्या का राम मंदिर , मथुरा , आगरा का ताजमहल  के अलावा उत्तर प्रदेश के फोक संगीत , कलाएं और कल्चर  आदि दर्शको को दिखाएंगे।  उन्होंने बताया की वह लोग कोशिश कर रहे है की जो साडी बनारस में पारम्परिक रूप से बनायी जाती है उसे हस्तशिल्पियों द्वारा मेला परिसर में बनाकर दर्शको को दिखाया जाएगा।  वहीँ ऐसी बहुत सी चीजे है जो मेले में प्रदर्शित की जा सकती है जिस पर चर्चा चल रही है जिन्हे आने वाले समय में अमलीजामा पहनाया जाएगा।  उन्होंने बताया की हरियाणा टूरिजम और उत्तरप्रदेश टूरिजम मिलकर कोशिश कर रहा है की इस बार मेले में नायाब चीजे लेकर आये. वहीँ उन्होंने फ़ूड के बारे में बात करते हुए कहा की बनारस के चाट , बाटी चौखा लिट्टी और लखनवी लजीज व्यंजन भी वह लेकर आएंगे। उन्होंने बताया की इस बार उत्तर प्रदेश से  करीब 150 हस्तशिल्पी मेले में शिरकत करेंगे जो की हस्तशिल्प के हर क्षेत्र में माहिर है चाहे बात जरदोजी की हो या फरोजाबाद की कांच की चूडियो की हो  , लेडीज सूट पर चिकन का काम हो आदि चीजों को उत्तर प्रदेश के हस्तशिल्पी यहाँ लेकर आएंगे और अपनी कला का जोहर दिखाएंगे। उन्होंने कहा की कुल मिलकर इस बार मेले में उत्तर प्रदेश का क्राफ्ट और कल्चर दर्शको को देखने को मिलेगा। 
अवनीश कुमार अवस्थी, मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश पर्यटन 
 
वहीँ हरियाणा टूरिजम के अधिकारी विजय वर्धन ने बताया की हर साल की तरह इस बार भी मेले में कुछ नया करने के लिए आज उन्होंने उत्तर प्रदेश के प्रिंसिपल सेकेट्री के साथ चर्चा की है. वहीँ उन्होंने ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा की इस मेले को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जिस तरह से खुद मॉनिटरिंग कर रहे है उसके लिए वह मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश का धन्यवाद करते है.  उन्होंने कहा की इस बार मेले में उत्तर प्रदेश की खूबसूरत छटा देखने को मिलेगी क्योंकि उत्तर प्रदेश भारत की जान है मेले में इस बार यूपी का कल्चर दर्शको के आकर्षण का केंद्र होगा। उन्होंने बताया की पिछली बार मेले में करीब 12 लाख दर्शको ने पहुंचकर मेले में रिकॉर्ड बनाया था वहीँ इस बार मेले की  अवधि को बढ़ाया गया है जिसके चलते इस बार मेला दर्शक तीन वीकेंडस तक मेले का आनंद ले सकते है. उन्होंने बताया की इस बार भी मेले की टिकट्स पिछली बार की तरह रहेगी और उनके रेट्स में कोई इजाफा नहीं किया गया है.  वहीँ इस बार फ़ूड कोर्ट में बनाये जाने वाले स्टाल्स में भी बढ़ौतरी की जा रही है.  
विजय वर्धन, अस्सिस्टेंट चीफ सेक्रेटरी, हरियाणा पर्यटन विभाग

( MORE PHOTOS )

CONTACT : AJAY VERMA 9953753769 , 9716316892

EMAIL : faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY