फेक न्यूज़ एवं फैक्ट चेकिंग पर जनसंचार एवं पत्रकारिता के छात्रों के लिए एक दिवसीय वर्कशॉप का आयोजन

0
161
Organized one-day workshop for students of mass media and journalism on fake news and fact checking

Today Express News / विभिन्न कॉलेज के जनसंचार एवं पत्रकारिता के छात्रों के लिए गत रविवार को एक विशेष वर्कशॉप का आयोजन किया गया जिसमें विद्यार्थियों को फेक न्यूज़ से बढ़ते खतरे के बारे में अवगत कराया गया और उन्हें फैक्ट्र चेकिंग के प्रयोग से समाज में जागरूकता फैलाने के लिए प्रेरित किया गया| इस वर्कशॉप के मुख्य वक्ता रही रचना कसाना ,जो फैक्शाला में ट्रेनर के रूप में अपनी सेवा दे रही हैं और फरीदाबाद डीएवी शताब्दी कॉलेज में जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग की विभाग अध्यक्ष के पद पर सम्मानित है |रचना ने पीपीटी की मदद से पूरे विषय को उपस्थित सभी विद्यार्थियों को बड़े ही रचनात्मक तरीके से समझाया और विद्यार्थियों से वादा लिया कि सभी  उपस्थित सदस्य फेक न्यूज़ के खिलाफ अपने ज्ञान का उपयोग करेंगे और एक सशक्त समाज का हिस्सा बनेंगे| एक दिवसीय इस वर्कशॉप में विद्यार्थियों की सहभागिता काफी उत्साह पूर्वक रही जिसमें कई सवालों के जवाब रचना कसाना ने दिए | इस मौके पर उन्होंने पत्रकारिता के विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि आज चारों और सूचना की भरमार है आज सभी लोग पब्लिशर बन गए हैं किसी सूचना को आगे भेजने से पूर्व तथ्यों की जांच पड़ताल जरूरी है इसमें हमें देखना होगा कि सूचना कहां से आ रही है क्या सूचना पूरी है या अधूरी तथ्यों की कसौटी पर जांचना  परखना आज की बड़ी चुनौती बन गई है| देखा जाना चाहिए कि सूचना का स्त्रोत क्या है और यह कितना विश्वसनीय है इसके लिए मीडिया से जुड़े लोगों को पूर्वाग्रह पक्षपातपूर्ण व्यवहार आदि से बचना होगा यह आप पर निर्भर है कि आप कैसे सोच के आधार पर निष्कर्ष तक पहुंचते हैं तथ्यों की जांच के लिए कई उपकरण मौजूद है इस क्षेत्र में तमाम संगठन और संस्थाएं कार्यरत है फोटो और वीडियो की सच्चाई की पड़ताल की जा सकती है| वेबीनार के अंत में रचना कसाना ने सभी का धन्यवाद करते हुए कहा कि आप सभी को स्वयं गेट कीपर की भूमिका निभानी होगी |

Report Ajay Verma 

LEAVE A REPLY