कैरियर की दृष्टि से उद्यमिता युवाओं के लिए बेहतरीन विकल्पः कुलपति प्रो. दिनेश कुमार

0
610
TODAY EXPRESS NEWS ( AJAY VERMA ) फरीदाबाद, 8 दिसम्बर – वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, केन्द्र सरकार के सहयोग से ‘उद्यमिताः उद्योग में सुधार के लिए एक प्रभावी उपकरण – संस्थागत परिचर्चा’ विषय पर दो सप्ताह का संकाय विकास कार्यक्रम प्रारंभ हो गया। कार्यक्रम के दौरान 20 से ज्यादा विशेषज्ञ सत्र आयोजित किये जायेंगे।
कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में बीएमएल मुंजाल विश्वविद्यालय, गुड़गांव के कुलपति प्रो. बी.एस. सत्यनारायण मुख्य अतिथि तथा स्टार वायर लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक डॉ. एस. के. गोयल विशिष्ट अतिथि रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रो. सत्यनारायण ने ऐसे कार्यक्रमों को संकाय सदस्यों के लिए लाभकारी बताया तथा कहा कि उद्यमिता को लेकर उपयुक्त जानकारी एवं ज्ञानवर्धन के उद्देश्य से कार्यक्रम उपयोगी साबित होगा।
सत्र को संबोधित करते हुए डॉ. एस.के. गोयल ने कहा कि मौजूदा बदलाव के परिदृश्य के दृष्टिगत कार्यक्रम के शीर्ष का चयन प्रासंगिक है। उन्होंने औद्योगिक व अकादमिक सहभागिता में शोध पर दिया तथा विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं को अपने उद्यम में अनुसंधान के लिए आमंत्रित किया।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने संकाय सदस्यों के ज्ञानवर्धन के लिए कार्यक्रम के आयोजन की सराहना की तथा कहा कि मौजूदा समय में उद्यमिता अध्ययन का एक महत्वपूर्ण क्षेत्र बन गया है तथा इसे रोजगार सृजन एवं उत्पाद एवं सेवाओं प्रदाता क्षेत्र में नये विकल्प के रूप में देखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों में उद्यमिता की भावना को प्रेरित करना बेहद जरूरी है क्योंकि आज सरकार द्वारा सभी को रोजगार देना संभव नहीं है। कारपोरेट क्षेत्र में भी रोजगार सीमित है और यह केवल उन्हीं के लिए है, जो अकादमिक रूप से बेहतर प्रदर्शन करते है और इस क्षेत्र में भी रोजगार सुरक्षित नहीं है। इसलिए, कैरियर विकल्प के रूप में उद्यमिता युवाओं को आगे बढ़ने के लिए नई दिशा प्रदान करता है। सत्र को कुलसचिव डॉ संजय कुमार शर्मा ने भी संबोधित किया तथा संकाय सदस्य के कौशल निर्माण के लिए कार्यक्रम के महत्व पर प्रकाश डाला।
कार्यक्रम के विशेषज्ञ सत्र में बोनी पोलीमर प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक तथा वाईएमसीए विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र रहे श्री राज भाटिया ने मुख्य वक्ता के रूप में अपने विचार रखे। अपने संबोधन में श्री भाटिया कहा कि सफल उद्यमी बनने के लिए सही जानकारी एवं कौशल अर्जित करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि उद्यमिता के रास्ते पर प्रतिबंध तथा समर्पित होकर चलने से ही सफलता मिलती है।
इससे पूर्व कार्यक्रम के संयोजक डॉ वासुदेव मल्होत्रा ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया तथा कार्यक्रम से संबंधित जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम को उद्यमिता विकास के क्षेत्र में प्रशिक्षण देने के लिए प्रोफेशल्स विकसित करने के उद्देश्य से तैयार किया गया है  ताकि सभी प्रशिक्षित संकाय विद्यार्थियों को कैरियर विकल्प के रूप में उद्यमिता के चयन के लिए प्रेरित कर सके तथा उनका मार्गदर्शन कर सके। इस कार्यक्रम में विभिन्न शिक्षण संस्थानों से प्रतिभागी हिस्सा ले रहे है। इसके अलावा, दो सप्ताह के कार्यक्रम के दौरान आईआईटी तथा एनआईटी जैसे प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों के शिक्षाविद् तथा कारपोरेट क्षेत्र से विशेषज्ञ व्याख्यान देंगे।
उद्घाटन सत्र के दौरान सभी प्रतिभागी मुख्य अतिथियों के साथ समूह चित्र में।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलपति प्रो. बी.एस. सत्यनारायण।

CONTACT : AJAY VERMA 9953753769 , 9716316892

EMAIL : faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY