मानव रचना यूनिवर्सिटी में स्टैम सैल्स डोनर रजिस्ट्रेशन ड्राइव का हुआ आयोजन

0
305

TODAY EXPRESS NEWS (  REPORT BY AJAY VERMA ) विश्व मैरो डोनर दिवस के उपलक्ष्य में मानव रचना यूनिवर्सिटी (एमआरयू) फरीदाबाद में   जीवनदायिनी सोशल फाउंडेशन व ओपी भल्ला फाउंडेशन के सयुंक्त तत्वाधान में स्टैम सैल्स डोनर रजिस्ट्रेशन ड्राइव का आयोजन किया गया, जिसमें 93 स्टूडेंट्स ने अपनी स्वेच्छा से दात्री (भारत की सबसे बड़ी स्टेम सैल रजिस्ट्री) में अपना रजिस्ट्रेशन करवाया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉक्टर राहुल भार्गव (हिमाटो-ओंकोलिजिस्ट-फ़ोर्टिस मैमोरियल इंस्टिट्यूट,गुरूग्राम) ने उपस्थित जनों को जानकारी देते हुए कहा कि ब्लड कैंसर, थैलेसिमिया, एप्लास्टिक एनीमिया जैसी ब्लड डिसॉर्डर की बीमारियों से जूझ रहे मरीजों के लिए स्टैम सैल्स दान में किसी भी तरह की जटिल प्रक्रिया नहीं है तथा इससे किसी को जीवनदान मिलता है।कार्यक्रम  में जीवनदायनी सोशल फाउंडेशन की तरफ से संस्था की अध्यक्ष श्रीमति मधुलिका जैन ने बताया कि जीवनदायिनी संस्था पूरे भारतवर्ष में बौन मैरो/स्टैम सैल्स डोनेशन की जागरूकता के लिए काम कर रही है, इसी के साथ साथ संस्था ब्लड कैंसर और बाकी ब्लड डिसॉर्डर के मरीजों को आर्थिक तौर पर मदद करने के लिए प्रयासरत है। सभी को सम्बोधित करते हुए वह बताती हैं कि हम सभी को इस मानवीय कार्य के लिए हमेशा अग्रणी रहना चाहिए। चूंकि मानव के अंग और रक्त या रक्त के अवयव केवल मनुष्य ही दान कर सकता है और हम रजिस्ट्री में ज्यादा से ज्यादा डोनर्स को रेजिस्टर होना चाहिए ताकि कोई भी ज़रूरतमंद मैचिंग डोनर के बिना न रह सके।

वहीं इस मौके पर डॉ. राहुल ने कहा कि आज के समय में एक सच्चा इंसान बनना व उसकी जिम्मेदारी को निभाना बहुत जरूरी है। आज हम जोश में रजिस्टर तो कर लेते हैं लेकिन जब डोनेट करने की बारी आती है, तब कई बार लोग घबराकर पीछे हट जाते हैं, ऐसे में जो एक जिंदगी उनकी भरोसे होती है वह फिर से निराशा में चली जाती है। इसलिए रजिस्ट्रेशन के साथ ही अपनी जिम्मेदारी को निभाने का जज्बा भी रखा बहुत जरूरी है। इस नेक पहल के बारे में मानव रचना शैक्षणिक संस्थान व डॉ. ओपी भल्ला फाउंडेशन की मुख्य संरक्षका श्रीमति सत्या भल्ला ने कहा कि बोर्न मैरो ट्रांसप्लांट खराब खून की सैल्स को स्वस्थ्य सैल्स में बदलने में मदद करता है। किसी भी सफल ट्रांसप्लांट के लिए मिलता हुआ डोनर बहुत जरूरी है। केवल 30 प्रतिशत मरीज ही ऐसे होते हैं जिनको मिलता हुआ डोनर मिलता है, बाकियों को हम जैसे लोगों के द्वारा डोनेट किया गया बोन मैरो ही मदद करता है। डॉ. ओपी भल्ला फाउंडेशन और जीवनदायिनी सोशल फाउंडेशन की तरफ से आयोजित किए गए इस कार्यक्रम में मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के ट्रस्टी डॉ. एमएम कथूरिया, मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के एमडी व मानव रचना यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ. संजय श्रीवास्तव, एफएमएस की डीन डॉ. छवि भारगव, हनु भारद्वाज,मुकुल चौधरी,जया गुप्ता,जागृति गोयल,सिद्धि गोयल,रुचिका भारद्वाज,ज्योति प्रूथी आदि सदस्य व दात्री की तरफ से स्वाति प्रकाश और श्वेता सिंह उपस्थित रहे।

 

CONTACT : AJAY VERMA 9953753769 , 9716316892

EMAIL : faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY