रॉकस्टार डीएसपी ने इंडियन म्यूजिक के ग्लोबल अपील पर कहा “गाना आपके जहन में जिंदा रहना चाहिए!”

0
69

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़। रिपोर्ट मोक्ष वर्मा। देवी श्री प्रसाद उर्फ ​​रॉकस्टार डीएसपी भारत के सबसे प्रसिद्ध म्यूजिक कंपोजर में से एक हैं। उन्होंने भाषा की बाधा को तोड़कर तमिल, तेलुगु, हिंदी और कई फिल्म इंडस्ट्रीज में अपने म्यूजिक को एक्सपैंड करके पॉपुलैरिटी हासिल की। नेशनल अवॉर्ड विनिंग म्यूजिक कंपोजर, जो हाल ही में शहर में आयोजित एक Spotify इवेंट का हिस्सा थे, ने म्यूजिक बनाने के प्रति अपने नज़रिये के बारे में दिलचस्प जानकारी साझा की। म्यूजिक मेस्ट्रो, जिन्होंने सालों से इंटरनेशनल लेवल पर प्रशंसा हासिल की और अभी भी कर रहे हैं, ने बताया कि कैसे इंडियन म्यूजिक ग्लोबल लेवल तक पहुंच रहा है।

पॉपुलर कंपोजर ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि किसी की परफॉरमेंस को देखना और अकेले में म्यूजिक सुनना कैसे अलग है। उन्होंने कहा, “जब आप कोई परफॉरमेंस देखते हैं, तो आपको वह पसंद आता है और आप ‘वाओ’ कहते हैं लेकिन आप इसे दोबारा रीप्रोड्यूस नहीं कर पाएंगे। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपके काम में परफेक्शन सालों की प्रैक्टिस से नज़र आता है। लेकिन जब आप कोई गाना सुनते हैं, तो यह बिल्कुल अलग अनुभव होता है। गाना आपको याद रहना चाहिए और आपके जहन में ज़िंदा रहना चाहिए।”

इवेंट में रॉकस्टार डीएसपी की स्पीच ने उनके क्राफ्ट के प्रति उनके पैशन और डेडिकेशन को दर्शाया, जिससे दूसरे आर्टिस्ट्स और म्यूजिक एनथुसीएस्ट दोनों को प्रेरणा मिली। वर्कफ्रंट पर, नेशनल अवॉर्ड विनिंग म्यूजिक कंपोजर के पास आने वाले प्रोजेक्ट्स की एक दिलचस्प सीरीज़ है। उनके पास धनुष अभिनीत ‘कुबेर’, अजित कुमार अभिनीत ‘गुड बैड अग्ली’, विशाल की ‘रथनाम’, अल्लू अर्जुन की ‘पुष्पा: द रूल’ और सूर्या की ‘कांगुवा’ शामिल हैं।

LEAVE A REPLY