दो दिवसीय रोजगार मेले में सौ कंपनियां लेकर आयी 14 हजार से भी जायदा नौकरियाँ – उद्योगमंत्री विपुल गोयल

0
672

TODAY EXPRESS NEWS ( Ajay verma ) नेशनल स्किल डिवेलपमेंट कार्पोरेशन ( NSDC ) के सौजन्य से आज फरीदाबाद की मानव रचना यूनिवर्सिटी के प्रांगण में दो दिवसीय रोजगार मेले का शुभारम्भ उद्योगमंत्री विपुल गोयल ने किया। दो दिवसीय इस मेले में सौ से जायदा कंपनियां करीब 14 हजार नौकरियाँ लेकर आयी है. इसे अब तक का सबसे बड़ा रोजगार मेला माना जा रहा है. युवाओ में नौकरियों के लिए रजिस्ट्रेशन करवाने की होड़ लगी हुई है. उद्योग मंत्री विपुल गोयल के अनुसार कोई भी युवा तीन कंपनियों में एक साथ जॉब के लिए अप्लाई कर सकता है और फिर अपनी मर्जी से कंपनी का चयन कर सकता है की उसे किस कंपनी में जॉब करनी है.

पत्रकारों से बातचीत करते हुए उद्योगमंत्री ने कहा की अभी सुबह सुबह ही 400 युवा अपना रजिस्ट्रेशन करवा चुके है और लगातार रजिस्ट्रेशन का काम जारी है. उन्होंने बताया की इस मेले में सौ से जायदा कंपनियां 14 हजार से जायदा जॉब लेकर आयी है और यह युवाओ के लिए एक सुनहरा मौक़ा है. उन्होंने बताया की  कोई भी युवा तीन कंपनियों में एक साथ जॉब के लिए अप्लाई कर सकता है और फिर अपनी मर्जी से कंपनी का चयन कर सकता है की उसे किस कंपनी में जॉब करनी है.  उद्योगमंत्री ने फरीदाबाद और पलवल के युवाओ से अपील की – कि वह इस दो दिवसीय जॉब मेले में बढ़चढ़कर भाग ले और रजिस्ट्रेशन करवाए।
मानव रचना एजुकेशन इन्टीटीयूट के वाइस प्रेजिडेंट अमित भल्ला का कहना था की यह फरीदाबाद का सौभाग्य है की यहाँ इतने बड़े स्तर पर जॉब मेला लगाया गया है जिसमे 14 हजार से जायदा वेकेंसियां उपलब्ध है. ऐसे में इस दो दिवसीय मेले में युवाओ को जायदा से जायदा जॉब मिलने की संभावना है. मेले में भाग लेने वाले युवाओ में भारी उत्साह देखा गया. अमित नाम के युवा ने बताया की वह पहली बार किसी जॉब मेले में नौकरी लेने के लिए आया है. वहीँ संजय नाम के युवा ने बताया की वह बीसीए की पढ़ाई कर चुका  है और सेल्स के क्षेत्र में नौकरी के लिए यहाँ आया है और उसे उम्मीद है की उसे नौकरी जरूर मिलेगी। इसी तरह मैकेनिकल फील्ड के लिए आये ऋषि नाम के युवक ने भी इस मेले में जॉब मिलने की पूरी संभावना व्यक्त की.

CONTACT : AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY