फरीदाबाद – होली पर परहेज करें कैमीकल युक्त रंगों व गुलाल से – डा. वीरेंद्र यादव की सलाह !

0
336

 

( CLICK THIK LINK FOR VIDEO NEWS )

FARIDABAD : होली पर कैमीकल युक्त रंगों व गुलाल से परहेज करना चाहिए और अस्थमा व सांस के रोगियों को तो इससे बचकर ही रहना चाहिए। इस तरह के रंगों से न केवल त्वचा संबंधी विकार हो सकते है, बल्कि आंखों के लिए भी ये खतरनाक सिद्ध हो सकते है। यह कहना है, फरीदाबाद के सिविल अस्प्ताल के प्रधान चिकित्सा अधिकारी डा. वीरेन्द्र यादव का। इसके अलावा होली हुडदंग में हिंसा व लड़ाई झगड़ों के मामलों को देखते हुए सिविल अस्पताल में सभी शिफ्टों को दुगाना कर दिया गया है और अस्पताल में घायलों के उपचार के लिए विशेष प्रबंध भी किए गए है। 

उमंग और मस्ती के त्यौहार होली का नाम आते ही बच्चे, युवक व यहां तक की बूढेंं भी स्वयं को नहीं रोक पाते है और हो जाते रंगों में सरोबोर। लेकिन आजकल तैयार किए जा रहे रंग और गुलाल उनकी सेहत के लिए कितने खतरनाक है, यह उनकों पता ही नहीं है। अगर पता भी है तो होली की मस्ती में वे सब भूल जाते है। डाक्टरों की सलाह है कि होली पर कैमीकल रंगों के प्रयोग से बचना चाहिए। इससे त्वचा संबंधी रोग तो होते ही है और आंखों की बिमारी भी हो सकती है। हो सके तो हर्बल रंगों का प्रयोग करें या फिर इनसे दूर रहें और साफ व स्वच्छ होली मनाएं। क्योंकि इसके कारण वायु, जल और शोर प्रदूषण भी होता है। 

LEAVE A REPLY