मेवात: उज्जवला योजना धूएं के गुब्बार से मिली निजात और समय की हुई बचत

0
843

TODAY EXPRESS NEWS (बिलाल अहमद) मेवात: प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत घर में गैस चूल्हा जलने से धूएं के गुब्बार से भी मुक्ति मिली है, समय की भी बचत हुई है। अब पहले की अपेक्षा परिवार का माहौल भी और अधिक सौहार्दपूर्ण बना है। गैस चूल्हे पर काम जल्दी निपटाने के बाद बच्चों की परवरिश भी अच्छे ढंग से हो रही है।

यह कहना है कि देशभर के विभिन्न राज्यों की गृहणियों का, जो सोमवार को उज्जवला योजना पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से सीधे संवाद कर रही थीं। भारत के प्रधानमंत्री श्री मोदी ने उज्जवला योजना का लाभ ले रही देश के अलग-अलग प्रांतों की महिलाओं से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सीधे बात की और उनके मन की बात जानी। इस दौरान प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि उज्जवला योजना से गरीबों के घरों में आमूलचूल परिवर्तन हुआ है। उन्होंने देशभर की महिलाओं से आह्वान करते हुए कहा कि घर में गैस चूल्हे के प्रयोग से जो समय की बचत हुई है, वे उसका सद्पयोग करें। उन्होंने महिलाओं से नया कार्य सीखने को कहा। उन्होंने कहा कि महिलाएं अपने क्षेत्र में टिफिन सप्लाई कर सकती हैं। उन्होंने महिलाओं से कहा कि वे रोजमर्रा के भोजन तैयार करने के साथ-साथ अपने बच्चों के लिए पोष्टिक भोजन बनाएं ताकि वे शारीरिक व मानसिक रूप से मजबूत बनें। प्रधानमंत्री ने महिलाओं से जन-धन योजना के तहत खाते खुलवाकर डेबिट कार्ड की सुविधा लेने, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना व प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने का आह्वान किया। इसी प्रकार से उन्होंने मुद्रा योजना के तहत ऋण लेकर स्वरोजगार अपनाकर अपना जीवन स्तर ऊंचा उठाने का आह्वान किया।  सीधे संवाद के दौरान प्रधानमंत्री ने योजना का लाभ लेने वाली महिलाओं से पूछा कि उनको गैस सिलेंडर आसानी से समय पर मिल पा रहा है या नहीं। कहीं वे किसी बिचौलियों की ठगी का शिकार तो नहीं हो रही हैं। उनके बच्चों का पालन-पोषण पहले की अपेक्षा बेहतर हुआ है या नहीं। पति का व्यवहार उनके प्रति पहले से कहीं अच्छा हुआ या नहीं। प्रधानमंत्री से सीधे संवाद के दौरान उड़ीसा के मयूरभंज जिले से सुष्मिता ने कहा कि उनको घरेलू गैस सिलेंडर मिलने से उनके जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। इससे पहले उनका अधिकांश समय लकड़ी एकत्रित करके लाने व चूल्हा जलाने में बीतता था। बारिश के दौरान तो उनकी हालत और भी बदतर हो जाती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। अब समय की बचत होने लगी है, जिसको वे अपने बच्चों की परवरिश लगाती हैं। रायपुर, छतीसगढ़ से मिना निर्मलकार ने बताया कि बच्चे पहले से कहीं अधिक खुश रहते हैं। पहले बच्चे धूएं के गुब्बार में खांसी से परेशान रहते थे, लेकिन वे अब आराम से पढ़ते हैं। उनका सामाजिक स्तर ऊपर उठा है। जम्मू कश्मीर से जिला अनंतनाग से अरजूमाना ने बताया कि विशेषकर रमजान के महीने तो उनको बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता था। अब वे समय की बचत होने से सिलाई का काम भी सीखने लगी हैं। उन्होंने श्री मोदी से कहा कि वे रमजान के दौरान नमाज के माध्यम से उनके फिर से प्रधानमंत्री बनने की दुआ करेंगी। तमिलनाडू के कृष्णगिरी जिले से रूतरमा व असम की महिलाओं ने भी उज्जवला योजना के तहत उनको घरेलू गैस उपलब्ध करवाने पर प्रधानमंत्री श्री मोदी का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि इससे उनकी जीवन शैली पर काफी प्रभाव पड़ा है। इस दौरान जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक सीमा शर्मा, ने जिले के सभी पात्र व्यक्तियों से योजना का लाभ लेने की अपील की। वीडियो कॉन्फें्रस में जिले की गैस एजेंसी संचालक भी मौजूद रहें।

CONTACT : AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY