राजस्थान में शनिवार की रात कुछ तथाकथित गौरक्षकों ने नूंह के युवक की गोतस्करी के शक में पीट पीटकर हत्या कर दी।

0
459

TODAY EXPRESS NEWS / बिलाल अहमद / राजस्थान पुलिस ने मृतक रकबर खां (40) व घायल असलम (30) निवासी कोलगांव फिरोजपुर झिरका जिला नूंह के रूप में पहचान की है। पहलू खां और मुस्ताक के बाद अलवर जिले में मॉबलीचिंग की घटना में हुई यह तीसरी हत्या है। इस घटना के बाद राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे ने पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए है।

 राजस्थान में शुक्रवार की रात कुछ तथाकथित गोरक्षकों ने नूंह के युवक की गोतस्करी के शक में पीट पीटकर हत्या कर दी। दूसरा युवक भागकर अपनी जान बचाने में कामयाब रहा। राजस्थान पुलिस ने मृतक अकबर उर्फ रकबर खां (40) व घायल असलम (30) निवासी कोलगांव फिरोजपुर झिरका जिला नूंह के रूप में पहचान की है। पहलू खां और मुस्ताक के बाद अलवर जिले में मॉबलीचिंग की घटना में हुई यह तीसरी हत्या है। इस घटना के बाद राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। पुलिस ने इस संदर्भ में ललावंडी गांव के आधा दर्जन अज्ञात लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। वहीं पुलिस ने मामले ललावंडी निवासी धर्मेंद्र यादव व परमजीत सिंह सरदार को हिरासत में लिया है। राजस्थान पुलिस आगामी कार्रवाई में जुटी हुई है।
मृतक की पत्नी असमीना व अन्य परिजनों के अनुसार रकबर खां व उसका साथी असलम खां शुक्रवार के दिन अलवर जिले के एक गांव में अपनी रिश्तेदारी में गए हुए थे। लेकिन जब वो रात्रि में घर लौट रहे थे तो अलवर के गांव ललावंडी में कुछ तथाकथित गोरक्षकों ने उन्हें गोतस्करी के शक में बुरी तरह पीटा। इसमें अकबर उर्फ रकबर की मौत हो गई।
 परिजनों ने की नेशनल हाइवे पर जाम लगाने की कोशिश :
पुलिस की कार्रवाई से असंतुष्ट नजर आए मृतक अकबर के परिजनों व ग्रामीणों ने नेशनल हाइवे पर देर शाम जाम लगाने की कोशिश की। लेकिन पुलिस की मुस्तैदी के चलते पीड़ित जाम नहीं लगा पाए। इसके बाद परिजनों ने हाइवे पर जमकर हंगामा भी किया। पुलिस की कार्यशैली से नाराज परिजनों ने खबर लिखे जाने तक शव को दफनाने से मना कर दिया। अभी भी परिजन मामले में आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग पर अड़े हुए थे। वहीं एहतियात के तौर पर गांव में पुलिस बल भी मौजूद रहा।
गाय खरीदने के लिए लाड़पुर गया था अकबर :
मृतक अकबर की पत्नी असमीना ने बताया कि अकबर व असलम लाड़पुर गांव से दो दुधारू गाय खरीदने के लिए गया था। जब वह रास्ते में आ रहा था तो ललावंडी गांव के समीप बाइक की आवाज के कारण उनकी गाय पास के कपास के खेतों में घुस गई। इसके बाद ललावंडी गांव के लोगों ने उन्हें गोतस्कर समझकर बेरहमी से पीटा जिसमें अकबर की मौत हो गई।
 मजदूरी करके भरता था परिवार का पेट :
मृतक अकबर कोलगांव में मजदूरी करके अपने परिवार का पेट भरता था। उसके परिवार में पत्नी, चार बेटी, तीन बेटे व बुजुर्ग माता-पिता हैं। अकबर की बड़ी बेटी साहिला 15 साल, लड़की साहिमा 14, लड़का साहिल 13, लड़की इकराना 10, लड़का इकराम 8, लड़का रिहान 5, लड़की मनसीरा 2 वर्ष की है। इतनी कम उम्र में उनके सिर से उनके पिता का साया उठ गया। तथाकथित गोरक्षकों ने पूरे परिवार से उनकी कमाई का साधन ही छीन लिया। अब यह परिवार पूरी तरह बेसहारा हो चुका है।

CONTACT FOR NEWS : JOURNALIST AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY