वाईएमसीए विश्वविद्यालय ने किया एडॉर वेल्डिंग लिमिटेड से समझौता

0
174

TODAY EXPRESS NEWS ( Ajay verma ) फरीदाबाद, 19 मई – वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा वेल्डिंग तथा विनिर्माण क्षेत्र में विद्यार्थियों की रोजगार क्षमता को बढ़ाने के उद्देश्य से वेल्डिंग उपकरण विनिर्माता क्षेत्र की अग्रणीय कंपनी एडॉर वेल्डिंग लिमिटेड, मुंबई के साथ समझौता किया है। कंपनी ने विश्वविद्यालय परिसर में वेल्डिंग प्रौद्योगिकी पर आधारित एक उत्कृष्टता केन्द्र स्थापित करने के लिए भी तकनीकी सहयोग की पेशकश की है।

वाईएमसीए विश्वविद्यालय की ओर से डीन (अकादमिक) डॉ. विक्रम सिंह तथा एडॉर कंपनी की ओर से वरिष्ठ प्रबंधक (उत्तर क्षेत्र) शेखर गुप्ता ने कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की उपस्थित में समझौते पर हस्ताक्षर किये। इस अवसर पर सिविल इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष डॉ. एम.एल. अग्रवाल, इंडस्ट्री रिलेशन्स डॉ. रश्मि पोपली, ट्रेनिंग व प्लेसमेंट अधिकारी डॉ. लखविन्द्र सिंह तथा एडॉर कंपनी के वरिष्ठ प्रबंधक (उपकरण) उपस्थित थे।
इस अवसर पर बोलते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि इस अकादमिक समझौते से विद्यार्थियों को विनिर्माण, औद्योगिक रखरखाव और निर्माण क्षेत्र में रोजगार के लिए जरूरी कौशल को सीखने का अवसर मिलेगा। इस समझौते का लाभ इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों के साथ-साथ विश्वविद्यालय के कम्यनिटी कॉलेज में चल रहे वेल्डिंग डिप्लोमा पाठ्यक्रम के विद्यार्थियों को भी होगा। डॉ. एम.एल. अग्रवाल ने बताया कि वेल्डिंग तकनीक का उपयोग मुख्य रूप से विनिर्माण तथा निर्माण क्षेत्र में किया जाता है और दोनों ही क्षेत्रों में वेल्डिंग कौशल रखने वालों के लिए रोजगार के बेहतर अवसर होते है।
इस अवसर पर एडॉर कंपनी की ओर से वरिष्ठ प्रबंधक (उत्तर क्षेत्र) शेखर गुप्ता ने विश्वविद्यालय को वेल्डिंग प्रौद्योगिकी पर अधारित उत्कृष्टता केन्द्र स्थापित करने में तकनीकी सहयोग तथा उपकरणों पर 50 प्रतिशत छूट देने की पेशकश की। उन्होंने कहा कि कंपनी द्वारा औद्योगिक जरूरतों के अनुरूप विद्यार्थियों के प्रशिक्षण के लिए सेमिनार तथा कार्यशाला का आयोजन भी करेगा। इसके अलावा, कंपनी द्वारा विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को इंटर्नशिप और रोजगार के अवसर भी उपलब्ध करवाये जायेंगे।

CONTACT : AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY