विश्व मधुमेह दिवस पर मैट्रो अस्पताल, फरीदाबाद में हेल्थ टाॅक एवं इंटरएक्टिव सत्र का आयोजन किया गया।

0
270

TODAY EXPRESS NEWS ( REPORT BY AJAY VERMA ) मैट्रो अस्पताल, फरीदाबाद में विश्व मधुमेह दिवस 14 नवम्बर 2017 को मनाया गया। इस दिन विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से एवं दुनिया के लाखों लोग एक मंच पर आकर मधुमेह पर जागरूकता बढ़ाने एवं उसकी रोकथाम के लिए कई कार्यक्रमो का आयोजन करते है। 2017 के मधुमेह का प्रमुख विषय ‘‘महिला और मधुमेह’’ रखा गया है। मधुमेह के साथ जीवन व्यतीत करना काफी ही कठिन है। किन्तु सही जानकारी एवं समय रहते ईलाज कराने पर आप स्वस्थ जीवन व्यतीत कर सकते है।

वल्र्ड डायबीटीज डे के अवसर पर मैट्रो अस्पताल, फरीदाबाद में आयोजित कार्यक्रम में डायबीटीज से जुड़ी जानकारियाँ लोगों को बताई गई। इस दौरान ओ.पी.डी. परामर्श पर 50 प्रतिशत छूट दी गई एवं इससे जुड़ी सभी जाँचों पर 25 प्रतिशत छूट एक माह (14 नवम्बर से 13 दिसम्बर 2017) के लिए रखी गई है। एक विशेष जाँच पैकेज भी लोगों को दिया गया। 200 से अधिक लोगों ने इस आयोजन में आकर स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी प्राप्त की।


डा. अरूण सिंह, एन्डोक्रोनोलोजिस्ट एवं डायबीटीज विशेषज्ञ, मैट्रो अस्पताल ने लोगों को बताया कि मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जिसमें रक्त में ग्लूकोज की मात्रा अधिक हो जाती है, क्योंकि शरीर में ग्लूकोज का ठीक से उपयोग नहीं हो पाता। यह इसलिये होता है क्योंकि पेनक्रियाॅज नामक ग्रन्थि इंसुलिन का सही मात्रा में उत्पादन नहीं करती है या इंसुलिन, जिसका उत्पादन किया जाता है, ठीक से काम नहीं करता है। डा0 अरूण सिंह ने एम्स से डी.एम. (एन्डोक्रोनोलोजिस्ट) से मान्यता प्राप्त की है। वह हार्मोन डिस्आडर, थाइराइड एवं डायबीटीज के स्पेशलिस्ट है।

मधुमेह अनियन्त्रित होने पर हृदय, आँखो, गुर्दे आदि पर प्रभाव पड़ता है। जिससे दिल का दौरा, स्ट्रोक या लकवा, आँखों की रोशनी जाने का खतरा, गुर्दे की विफलता आदि का कारण बन सकता है, जिससे डायलिसिस की आवश्यकता पड सकती है।

डा. एस.एस. बंसल, मैनेजिंग डायरेक्टर मैट्रो अस्पताल, फरीदाबाद ने हमें जानकारी देते हुए बताया कि मधुमेह रोगियों में आमतौर पर लक्षण नहीं होते है। 30 साल की उम्र के बाद सभी लोगों को अपने ब्लड शुगर की जाँच करानी चाहिये, यहाँ तक कि लक्षण के अभाव में भी, अगर आपका ब्लड शुगर सामान्य है तब भी हर साल जाँच करायें।

हालांकि मधमुेह का जड़ से इलाज नहीं किया जा सकता है, लेकिन सफलतापूर्वक इसकी रोकथाम की जा सकती है। इसके बुरे प्रभावों से बचने के लिए यह महत्वपूर्ण है कि आपका ब्लड शुगर, रक्त का दबाव और कालेस्ट्राॅल नियंत्रित स्तर पर रहे। रोजाना व्यायाम करे, संतुलित आहार ले, अपने वजन का प्रबंधन करे, एक स्वस्थ जीवन शैली का पालन करें, निर्धारित दवाई और नियमित रूप से निगरानी महत्वपूर्ण है। यह सब करके आप स्वस्थ जीवन का आनन्द

CONTACT : AJAY VERMA 9953753769 , 9716316892

EMAIL : faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY