सरेआम गोली चलाकर फिरौती मांगने वाला बंटी सरदार पुलिस की गिरफ्त में

0
194
Bunty Sardar, who shot ransom openly, caught police
photo by fbd police pro

Today Express News / Report / Ajay Verma / फरीदाबाद : 19 जून को सेक्टर 23 में मिनी स्वीट्स कॉर्नर पर गोली चला कर 50 लाख की फिरौती मांगने वाले गिरोह के सरगना बंटी सरदार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गौरतलब है कि मोटर साइकिल सवार दो युवकों ने सरेआम फायरिंग करके धमकी भरा पत्र देकर 50-लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। पत्र में फिरौती मांगने वाले का नाम बंटी सरदार लिखा गया था। उसके बाद बार बार जगह बदलकर मिनी स्वीट्स कॉर्नर के मालिक के फोन पर व्हाट्सएप्प कॉल करके बार बार जान से मारने की धमकी देकर फिरौती मांगी गई। बंटी सरदार ने फ़िल्मी अंदाज में धमकाते हुए कहा था की आज शाम 6 बजे मेरे बन्दे आएंगे और कहेंगे कि डिब्बा तैयार है क्या, तो उनको रुपयों से भरा थैला दे देना और अगर पुलिस को कुछ बताया या मेरे बंदों को कुछ हुया तो, तेरा कुछ रहना नही ओर हमारा कुछ जाना नही। पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह आईपीएस ने चार्ज संभालते ही इस मामले को प्राथमिकता के आधार पर सुलझाने के निर्देश दिए थे। पुलिस ने लगातार अपराधियों की तलाश शुरू कर दी थी लेकिन गिरफ्तारी से बचने के लिए हर 15-20 दिन बाद बंटी सरदार अपना ठिकाना बदल लेता था। साथ ही अपनी लोकेशन को इतना गुप्त रखता था कि उसके रिश्तेदार व दोस्तों को भी इसकी जानकारी नहीं थी। 7 जुलाई को बंटी के दो साथियों कुलदीप और अमन को गिरफ्तार कर लिया गया था। डीसीपी क्राइम मकसूद अहमद आईपीएस और एसीपी क्राइम अनिल कुमार यादव बंटी की गिरफ्तारी के लिए लगातार काम कर रहे थे। इसके लिए कई पुलिस टीमों का गठन किया था साथ ही अपने मुखबिरों को सक्रिय किया था। मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 के प्रभारी सब इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने हार्डवेयर चौक फरीदाबाद से बंटी सरदार को उसके एक साथी प्रिंसपाल के साथ 12 जुलाई को गिरफ्तार कर लिया था। नशे और नाम के लिए अपराधों को अंजाम देता है बंटी सरदार अदालत से पुलिस रिमांड पर लेकर जब बंटी सरदार से पूछताछ की तो पता चला कि उपरोक्त आरोपी गुरमीत सिंह@बंटी सरदार नशे का आदि है और अपनी लत व अन्य शौक पूरे करने के लिए और खुद को सुर्ख़ियों में रखने के लिए तथा लोगों में अपने नाम की दहशत बैठाने के लिए वारदात को अंजाम देता है। बंटी एक शातिर व आदतन अपराधी है, जो की इससे पहले अपरहण, मारपीट, तथा अवैध हथियार रखने जैसे संगीन मामलों में जेल जा चुका है तथा नवम्बर-2019 में थाना सारन फरीदाबाद के एक सिपाही को चाकू मारकर जख्मी करने के आरोप में फरार चल रहा था । बंटी पर मुजेसर थाने में दो मुकदमे अवैध हथियार के व दो केस दंगा फसाद और मारपीट के सारन थाने में दर्ज हैं। बंटी के पास से एक कट्टा देसी , एक जिन्दा कारतूस, एक मोबाइल सैमसंग ग्रान्ड, एक मोबाइल लिनोवा, एक मोबाइल सिम, दो मोटर साइकिल स्पलेंडर बरामद किए गए हैं।

LEAVE A REPLY