कोविड -19 से संक्रमित या संभावना वाला व्यक्ति टेस्ट सैंपल देते समय फार्म मे भरे सही मोबाइल नंबर और पता:- पुलिस आयुक्त

0
267

Today Express News / Ajay Verma / जान बुझकर गलत मोबाइल न० देने वालों के खिलाफ की जाएगी कानूनी कार्यवाही। टेस्ट के लिय सैंपल लेने से पहले संबंधित स्टाफ सैंपल देने वाले व्यक्ति के मोबाइल पर कॉल करके वेरीफाई करेगा कि मोबाइल नंबर सही है कि नहीं फॉर्म में गलत जानकारी देने वालों का नहीं किया जाएगा कोविड-19 टेस्ट। श्रीमान श्री केके राव पलिस आयुक्त महोदय ने कोविड-19 का टेस्ट करने वाले संबंधित हॉस्पिटल व लैब प्रबंधकों को निर्देश दिए हैं कि उनका स्टाफ सैंपल लेने से पहले संबंधित व्यक्ति के मोबाइल नंबर पर उसी वक्त कॉल करके वेरीफाई करेगा कि , सैंपल देने वाले व्यक्ति के द्वारा दिया गया मोबाइल नंबर सही है कि नहीं। उन्होने कोरोनावायरस का टेस्ट के लिय सैंपल देने वाले व्यक्तियों से कहा है कि सैंपल देते वक्त फार्म में वह अपना मोबाइल नंबर और सही पता बताएं। उन्होंने कहा कि अक्सर देखने में आया है कि कुछ लोग सैंपल देने के वक्त अपना मोबाइल नंबर व पता गलत लिखवा देते हैं।ऐसे लोगों की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद जब उनसे संपर्क करने की कोशिश की जाती है तो पता और मोबाइल नंबर गलत मिलता है। ऐसे लोगों की वजह से अन्य लोगों में संक्रमण फैलने का खतरा अधिक हो जाता है। फरीदाबाद जिले में कोरोनावायरस के टेस्ट के लिए जितनी भी लैब एवं हॉस्पिटल है उन सभी को दिशा निर्देश दिए गए हैं कि सैंपल लेने के दौरान सैंपल देने वाले व्यक्ति के द्वारा बताए गए मोबाइल नंबर को उसी समय डायल कर यह सुनिश्चित किया जाएगा कि सैंपल देने वाले व्यक्ति ने अपना मोबाइल नंबर सही बताया है कि नहीं। गलत मोबाइल नंबर बताने वाले व्यक्ति का न तो सैंपल लिया जाएगा और न ही उसकी जांच की जाएगी। पुलिस आयुक्त ने कहा है कि पता और गलत मोबाइल नंबर बताने वाले व्यक्ति के खिलाफ पुलिस कानूनी कार्यवाही भी करेगी।

LEAVE A REPLY