स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया गया

0
210
National Youth Day was celebrated by laying flowers on the statue of Swami Vivekananda.

Today Express News / Ajay verma /  Faridabad / फरीदाबाद:- दुनिया को भारतीय संस्कृति और जीवन पद्धति से परिचय कराने वाले महान आध्यात्मिक और सामाजिक नेताओं में से एक स्वामी विवेकानंद की जयंती आज है. युवाओं के प्रेरणा के प्रतिक नेता विवेकानंद की याद में ही हर वर्ष 12 जनवरी को राष्ट्र युवा दिवस बनाया जाता है जिसके अंतर्गत आज ग्राम पंचायत हिरापुर में जज्बा फाउंडेशन एवम खेल एवम युवा कार्यक्रम विभाग जिला फरीदाबाद के सहयोग से दीपकं आज़ाद जी की अध्यक्षता में स्वामी विवेकानंद जी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर युवाओं को उनके जीवनी से जुडी कुछ बातों को बताया गया।

इस अवसर पर खेल एवम युवा कार्यक्रम विभाग से युवा समन्वयक अधिकारी श्रीमती सुनीता ने बताया कि विभाग द्वारा प्रत्येक वर्ष स्वामी विवेकानंद जी के जन्मोत्सव के अवसर पर एक सप्ताह तक अलग अलग कार्यक्रमो के माध्यम से लोगो को जागरूक करने का कार्य किया जाता हैं । जिसमे इस बार के विषय बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, स्वच्छ भारत, युवा वर्ग को उनकी प्रेरणा , सामाजिक उत्थान एवं आध्यात्मिक मूल्यों में उनका योगदान तथा उनकी शिक्षाओं के बारे में अलग अलग दिन कार्यक्रम प्रस्तृत किए जाएंगे।

इस अवसर पर जज्बा फाउंडेशन के अध्यक्ष व खेल एवम युवा कार्यक्रम विभाग के राज्य स्तरीय सर्व श्रेष्ट युवा हिमांशु भट्ट ने युवाओं को सम्भोदित करते हुए बताया की आज युवा नायक स्वामी विवेकानन्द जी की 157 वी जयंती 12 से 19 जनवरी 2021 सप्ताह उपलक्ष में मनाया जा रहा है। हिमांशु ने युवा दिवस के इतिहास की जानकारी देते हुए बताया कि भारत सरकार ने भी उन्हें अपना आध्यात्मिक और दार्शनिक नेता माना. यही कारण है कि देश के युवाओं के प्रति उनके विचारों को प्रोत्साहित करने के लिए हर वर्ष 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाने की परंपरा 1984 में शुरू की गयी. ये वह दिन है जब स्वामी जी का जन्म हुआ था। यदि स्वामी जी के विचारों की बात करे तो वे हमेशा युवाओं की क्षमता को दोहन करना चाहते थे. वे अपने विचारों से युवाओं को ध्यान केंद्रित करना चाहते थे. स्वामी विवेकानंद चाहते थे की युवा पीढ़ी देश के लिए आगे बढ़े अंग्रेजों का मुकाबला करें और स्वतंत्रता में अपना योगदान दें।

इस अवसर पर कार्यक्रम आयोजक दीपक आजाद एवं विजय कौशिक ने समस्त गांव की सरदारी व युवाओं का ध्यान किया। एवम इस अवसर पर राम प्रसाद जी, कशी, राजन, तेजी, अर्जुन, दिनेश, महेश, ललित, धीरज, अमित, सोनू, गोविन्द अदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY