सेव फरीदाबाद द्वारा 9 जनवरी को काले दिवस के रूप में मनाया

0
593
Save Faridabad celebrated 9th January as Black Day

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । रिपोर्ट । अजय वर्मा । 9.01.2022, फरीदाबाद: शहर की प्रमुख समाजसेवी संस्था सेव फरीदाबाद के पदाधिकारियों ने आज अपने कार्यालय पर प्रेस वार्ता करके 9 जनवरी को काले दिवस के रूप में मनाया।संस्था के अधिकारियों  का कहना है कि 5 साल पहले आज ही के दिन से फरीदाबाद के काले दिन शुरू हो गए थे जब वर्तमान पार्षदों ने अपना कार्यभार संभाला था। गत 5 वर्षों में फरीदाबाद गर्त में चला गया है जिसकी पोल पिछले 3 दिनों से हो रही बरसात ने खोल कर रख दी है।सेव फरीदाबाद के अध्यक्ष पारस भारद्वाज ने बताया कि एक नागरिक संगठन होने के नाते उनका दायित्व है कि वो जनता के द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधियों के किये गए कार्यों को उजागर करें। उनका कहना था कि वैसे तो यहाँ काम विपक्ष मसलन कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का है परन्तु यह सब विपक्षी दल आज सत्ता के साथ मिलकर अपना उल्लू सीधा करने में लगे हुए हैं। इनका फरीदाबाद की जनता से कोई सरोकार नहीं है।पारस भारद्वाज ने कहा कि इस शहर की जनता ने विकास की आस में भारतीय जनता पार्टी को सांसद ,विधायक और पार्षद बनाते समय रिकॉर्ड वोटों से विजयी बनाया परन्तु बदले में प्रत्येक नागरिक के साथ विश्वासघात किया गया।संस्था ने आरोप लगाया कि आज फरीदाबाद की हालत के जिम्मेवार सत्ता और विपक्ष दोनों ही हैं और केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्ण पाल गुर्जर के संरक्षण में यहाँ हर तरह का अवैध काम फल फूल रहा है। फरीदाबाद में अधिकारी नेता और ठेकेदारों का ऐसा भयानक गठजोड़ चल रहा है जिसने शहर के नागरिकों का जीना दूभर कर दिया है। निगम में भ्रष्टाचार पिछले 5  सालों में अपने चरम पर रहा। जब जांच के आदेश हुए तो 200 करोड़ की फाइलें  निगम के रेकॉर्ड रूम में आग लगा कर  जला दीं जाती हैं। फरीदाबाद निगम को सरकार से पिछले 5 वर्षों में 10000 करोड़ का बजट मिला जिससे हर वार्ड के पार्षद के पास औसतन 250 करोड़ रुपये आये। इतने पैसों में तो  एक नया शहर विकसित किया जा सकता था। इसके विपरीत विकास की बजाय विनाश किया गया। मेयर , सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर भारतीय जनता पार्टी के हैं और ज़्यादातर पार्षद या तो भाजपा के हैं या अंदरखाने भाजपा को समर्थन देते नज़र आते हैं। ईको ग्रीन के नाम पर चल रही धांधलेबाजी को भी मुखर होकर उजागर किया गया। सेव फरीदाबाद के संरक्षक ठाकुर कमल सिंह तंवर ने सराय ,पल्ला ,तिलपत सेक्टर 37 में धड़ल्ले से चल रहे अवैध निर्माणों का हवाला देते हुए कहा की सरकार निष्पक्ष जांच करवाए तो पता चलेगा कि यहाँ सब अवैध निर्माण केंद्रीय राज्य  मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर  के गुर्गों के द्वारा ही करवाए जा रहे हैं और हरियाणा सरकार के राजस्व को करोड़ों का चूना लगाया जा रहा है। शहर के प्रमुख आर टी आई एक्टिविस्ट रविंदर चावला ने ठेकेदारों को एक ही काम की कई बार पेमेंट किये जाने, गरीबों की बस्ती उजाड़े जाने और भाजपा समर्थित नेताओं के अवैध निर्माण बचाये जाने के विषय को उठाया। अरुण यादव, जो कि सेव फरीदाबाद संस्था के सदस्य हैं और निगम कमिश्नर यशपाल यादव द्वारा गठित वार्ड कमेटी के सदस्य भी हैं , ने बताया कि वार्ड कमेटियों द्वारा केवल जनता की आँख में धूल झोंकने का काम किया गया है और इसके बहाने गरीब रेहड़ी पटरी वालों पर गाज गिरायी गयी है।भविष्य में चुनाव लड़ने के प्रश्न पर पारस भारद्वाज ने स्पष्ट किया कि सेव फरीदाबाद नागरिकों के अधिकारों के लड़ने वाला एक संवेदनशील संस्थान है ,यह कोई राजनीतिक दल नहीं है। परन्तु यदि फरीदाबाद के हित में साफ़ छवि के लोगों को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें प्रत्याशियों की मदद करनी पड़ती है तो वह पीछे नहीं हटेंगे और एक साफ़ सुथरा निगम बनाने में उनकी संस्था एक मज़बूत मंच प्रदान करेगी। प्रेस वार्ता में सस्था के अमित शर्मा , विकास दुबे , हेमंत शर्मा , कपिल आर्य , मनोज कुमार, राजेश कुमार भी मौजूद रहे और उन्होंने भी अपने अपने वार्ड की दयनीय हालत से पत्रकारों को फोटो और वीडियो के माध्यम से अवगत कराया।

LEAVE A REPLY