दशहरा पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक : विद्यान प्रताप

0
546
Dussehra festival marks the victory of good over evil Vidyan Pratap

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । रिपोर्ट अजय वर्मा । फरीदाबाद, 6 अक्तूबर। दशहरा पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक रूप में पूरे देश में मनाया जाता है और रावण दहन के माध्यम से यह संदेश देने की कोशिश की जाती है कि अच्छाई एवं सत्य की हमेशा जीत होती है। इसलिए इंसान को हमेशा सच्चाई के कदम पर चलना चाहिए। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं बडख़ल विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी रहे विजय प्रताप सिंह के सुपुत्र विद्यान प्रताप बुधवार को एन.एच.1 एच ब्लॉक में आयोजित रावण दहन कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे। उन्होंने बताया कि जब भगवान श्रीराम को जब 14 वर्ष का बनवास मिला तो, स्थिति ऐसी बनी कि मैया सीता को लंकापति रावण उठाकर ले जाते हैं। भगवान राम सीमा मैया को वापिस लेने लंका गए तो उन्होंने सबसे पहले हनुमान जी को क्षेम कुशल जानने पूछा। जहां राम भक्त हनुमान ने अपनी ताकत का परिचय देते हुए पूरी लंका को आग लगा दी थी। तभी से लंका दहन पूरे देश में उत्सव के रूप में मनाया जाता है और नवरात्रों के 9 दिन युद्ध हुआ था। जिसमें भगवान राम ने रावण का वध कर दिया था, जिसे अधर्म पर धर्म और असत्य पर सत्य की जीत यानि दशहरा पर्व के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि यह त्यौहार हमारी प्राचीन धरोहर एवं संस्कृति को बचाने का प्रयास है। इसलिए हमें ऐसे कार्यक्रमों एवं उत्सवों में बढ़-चढक़र भाग लेना चाहिए। विद्यान प्रताप ने इस अवसर पर कमेटी को 1 लाख 50 हजार रुपए का सहयोग भी प्रदान किया। इस अवसर पर उनके साथ युवा कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष राहुल सरदाना, संदीप भाटी, इशांत कथूरिया जिला महासचिव युवा कांग्रेस, मनीष भाटिया, प्रिंस त्यागी, बृजेश चावला, चाहत कुकरेजा, कमल खरबंदा एवं जतिन गुलाटी सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY