मोबाइलओडीटी ने जेनवर्क्स के सहयोग से लॉन्च किया अपना नया उपकरण थर्मोग्लाइड

0
478

• थर्मोग्लाइड हलके वजन का, पोर्टेबल, एफडीए द्वारा स्वीकृत उपकरण है जो अन्यथा पीड़ादायक और लम्बे उपचार को आरामदायक बना सकता है

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । रिपोर्ट अजय वर्मा । भारत, 18 जनवरी 2023 : एआइ-संचालित सर्वाइकल स्क्रीनिंग पर केन्द्रित इजराइली फेमटेक स्टार्ट-अप कंपनी, मोबाइलओडीटी ने जेनवर्क्स के सहयोग से अपना नया उपकरण, थर्मोग्लाइड लॉन्च किया है। गौरतलब है कि जेनवर्क्स भारत की प्रमुख डिजिटल मेडिकल और हेल्थकेयर समाधान प्रदान करने वाली कंपनी है। थर्मोग्लाइड वजन में हल्का, आकार में छोटा और एफडीए द्वारा स्वीकृत उपकरण है जो महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर की एक ही सिटिंग में जाँच और उपचार करने की सुविधा प्रदान करता है।

महिलाओं में, विशेषकर गर्भधारण की उम्र में रिप्रोडक्टिव ट्रैक्ट के संक्रमण बहुत आम हैं। हालांकि, बहुत कम महिलाएं अपनी जाँच करवाती हैं। असल में, चिकित्सीय अध्ययनों से पता चला है कि अनेक महिलाओं को उपचार की परम्परागत पद्धतियाँ पीड़ादायक, लम्बी और हताश करने वाली लगती हैं। उदाहरण के लिए, सर्वाइकल एक्ट्रोपिअन एक सामान्य रोग है। इसके कारण काफी स्राव हो सकता है और नतीजतन अनेक महिलाओं में घबराहट और परेशानी हो सकती है। बीएमसी मेडिसिन में प्रकाशित शोध सहित अनेक अध्ययनों में यह प्रमाणित हुआ है।

आईयूसीडी (इंट्रायूटेराइन कॉन्‍ट्रासेप्टिव डिवाइस), सर्वाइकल सूजन, और एक्ट्रोपिअन भी एक अलग अध्ययन में दर्शाया गया है। एक दूसरे अध्ययन में कहा गया है कि सर्वाइकल एक्ट्रोपिअन के उपचार से सर्वाइकल कैंसर के विरुद्ध बचाव हो सकता है। यह भारत महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर के बाद दूसरा सबसे आम कैंसर है।

थर्मोग्लाइड एक बैटरी-चालित उपकरण है। इसमें थर्मो-कोगुलेशन तकनीक का प्रयोग किया जाता है जो ताप का प्रयोग करके टिश्यू को नष्ट कर देती है। यह क्रायोथेरेपी से भिन्न है जो टिश्यू को हटाने के लिए शीत तापक्रम का प्रयोग करने वाली एक और प्रचलित विधि है। आब्सटेट्रिक्स ऐंड गाईनेकलॉजी रिसर्च पत्रिका के अनुसार थर्मो-कोगुलेशन क्रायोथेरेपी के जितना ही प्रभावकारी और सुरक्षित है और उच्च स्टार के सर्वाइकल घावों के उपचार में आसानी से प्रयोग किया जा सकता है।

साईं निवास हेल्थ केयर ऐंड क्लिनिकल एडवाइजर विमेंस हेल्थ, जेनवर्क्स में मेडिकल डायरेक्टर, डॉ. प्रिया गणेश कुमार ने कहा कि, “एक्ट्रोपिअन के मामले में लोगों को थर्मोग्लाइड से बढ़िया नतीजे मिलते रहे हैं। क्रायोथेरेपी के बाद मरीजों को कम से कम तीन सप्ताह तक पानी के जैसा स्राव होता है, और वे यह नहीं चाहते। बड़े घावों में क्रायोथेरेपी का प्रयोग करना भी मुश्किल होता है क्योंकि इस तकनीक की सीमायें हैं। लेकिन इसमें थर्मोग्लाइड एक प्रभावकारी साधन हो सकता है।”

डॉ. प्रिया गणेश ने आगे कहा कि, “मोबाइलओडीटी के अनुसार, यह उपकरण महज आठ सेकंड में तेजी से गर्म होकर 100 डिग्री सेल्सियस पर बना रहता है और इस प्रकार समय की भी बचत करता है, जिससे तेजी से सर्वाइकल उच्छेदन करने में आसानी होती है। थर्मोग्लाइड के द्वारा मैं अनेक स्थानों पर तप्त जांच कर सकती हूँ और वह भी अपेक्षाकृत कम समय में।”

मोबाइलओडीटी के सीईओ, लीयन बॉस्टन ने कहा कि, “थर्मोग्लाइड अपनी विलक्षणता, व्यावहारिकता और प्रयोग में आसान होने के कारण प्रत्येक गाईनेकोलॉजिस्ट के लिए एक आवश्यक उपकरण है। यह कैंसर-पूर्व घावों और सर्विसिटीज का सरल, पीड़ारहित, तीव्र प्रक्रिया में उपचार कर सकता है। हमें भारत में अपने पार्टनर्स, जेनवर्क्स के साथ मिलकर थर्मोग्लाइड को लॉन्‍च करके गर्व और रोमांच हो रहा है। हमारे लिए भारत एक महत्वपूर्ण बाज़ार है।”

जेनवर्क्‍स के विषय में :
जेनवर्क्‍स भारतीय स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा उद्योग में पहला स्‍टार्टअप है, जो भारत में स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा की सुलभता में सुधार के लिये समर्पित है। जेनवर्क्‍स मूल रूप से विप्रो जीई के निवेश वाली कंपनी थी, जिसका लक्ष्‍य स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा की तीन आधारभू‍त चुनौतियों – सुलभता, वहनीयता और स्‍वीकायर्ता को हल करने के लिये एक प्‍लेटफॉर्म बनाना था। जेनवर्क्‍स की संकल्पना जीई हेल्‍थकेयर के साथ उसके करीबी सम्‍बंध का फायदा लेते हुए स्‍वास्‍थ्‍यरक्षा के क्षेत्र की कमियों को दूर करने के लिये की गई था, जिसका नजरिया है ‘ज्‍यादा स्‍वस्‍थ भारत के लिये काम करना’। जेनवर्क्‍स का लक्ष्‍य है गुणवत्‍तापूर्ण देखभाल को पूरे देश में उपलब्‍ध कराना। जेनवर्क्‍स उपलब्‍ध टेक्‍नोलॉजी का फायदा लेकर और अंतिम मील के लिये विशेषज्ञों की पहुँच में सुधार पर ध्‍यान देने के साथ अपने अत्‍याधुनिक डिजिटल समाधानों के माध्‍यम से विभिन्‍न भौगोलिक क्षेत्रों में किफायती समाधान प्रदान कर जागरूकता निर्मित करने के लिये समर्पित है।
https://www.genworkshealth.com/

LEAVE A REPLY