दिवाली पर अपनी त्वचा का रखें खास ख्याल – डॉ. कावेश्वर घुरा

0
185
The Ultimate Guide to Your Skin - Dr. Kaveshwar Ghura

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । रिपोर्ट अजय वर्मा । मैरिंगो एशिया हॉस्पिटल्स से प्लास्टिक एवं रिकंस्ट्रक्टिव सर्जरी विभाग के एचओडी डॉ. कावेश्वर घुरा ने बताया कि दिवाली के त्योहार पर पटाखे जलाने के दौरान कई बार आग लगने या हाथ,पैर जलने की बहुत ज्यादा संभावना होती है इसलिए दिवाली का त्यौहार पटाखों की बजाय घर में दीये, लाइट्स और सुन्दर रंगोली बनाकर अपने परिवार और दोस्तों के साथ शांतिपूर्ण एवं सुरक्षित तरीके से मनाएं।

दिवाली के त्योहार के दौरान कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखें जैसे:

· घर के अन्दर दीये और मोमबत्ती उस स्थान पर न रखें, जहां घर के सदस्यों का आना-जाना ज्यादा होता है। पर्दों से भी दीया और मोमबत्ती दूर रखें।

· टाइट कपड़े पहनें, ज्यादा ढीले एवं फैले हुए कपड़े जैसे लहंगा, दुपट्टा न पहनें। इस अवसर पर सिंथेटिक कपडे न पहने क्योंकि ये कपडे आग बहुत जल्दी पकड़ लेते हैं। इसलिए सूती कपड़े पहनने चाहिए।

· हाथ में पटाखे जलाने से बचें।

· अपने पास हमेशा एक बाल्टी पानी जरूर रखें।

· दीया और पटाखे जलाते समय बच्चों को अकेला न छोड़ें।

· जले हुए पटाखे और दीये को सुरक्षित स्थान पर फेंके।

· दिवाली को न केवल अपने लिए बल्कि दूसरों के लिए भी सुरक्षित बनाएं।

· अगर कपड़ों में आग लग जाए तो घबराकर भागना नहीं चाहिए, आग लगे कपड़े को तुरंत उतार दें। फिर जलाने वाली चीज को तुरंत दूर करें और हाथ या शरीर के जले हुए हिस्से को टैप (नल) के बहते हुए पानी के नीचे कम से कम 10-15 मिनट रखें, इससे दर्द और जलन कम हो जाती है। इसके बाद जले हिस्से को किसी साफ कपडे में लपेटकर डॉक्टर के पास जाएँ। तुरंत ड्रेसिंग करवाएं।

· जले हुए अंग को बर्फ़ में न डुबोएं क्योंकि इससे कोल्ड इंजरी हो सकती है और इससे जली त्वचा को ज्यादा नुकसान हो सकता है।

· जले स्थान पर कोलगेट या घर में बनी कोई अन्य दवा बिल्कुल भी न लगायें, इससे कोई फायदा नहीं होता है बल्कि यह ट्रीटमेंट में बाधा ही डालता है। कुछ लोग जले स्थान पर स्याही, नारियल तेल या रतन जोत लगाते हैं, इन्हें लगाने से बचें। खुले घाव पर किसी भी प्रकार के तेल का इस्तेमाल न करें। जले हुए घाव पर बर्नोल या अन्य देशी दवा लगाने से बचें क्योंकि ऐसा करने से एलर्जिक रिएक्शन हो सकते हैं।

· घर के अंदर फर्स्ट ऐड के तौर पर शरीर के जले हुए अंग पर एंटीसेप्टिक क्रीम लगाएं, इससे जलन कम हो जाएगी।

· अगर कोई व्यक्ति गंभीर रूप से जल गया है, तो तुरंत अस्पताल ले जाएँ।

LEAVE A REPLY