कुष्ठ रोग दिवस पर बापू को श्रद्धांजलि और कुष्ठ उन्मूलन अभियान।

0
822
लघुनाटिका के माध्यम से ब्रिगेड के सदस्य कुष्ठरोग के बारे में जागरूक करते हुए।

TODAY EXPRESS NEWS : राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा में जूनियर रेड क्रॉस व सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड के बैनर तले प्राचार्या नीलम कौशिक की अध्यक्षता में आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई और कुष्ठ रोग के प्रति जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये गए। ब्रिगेड प्रभारी रविन्दर कुमार मनचन्दा ने और छात्र राहुल सिंह राजपूत ने विस्तार से कुष्ठ रोग के बारे में बताया तथा इस रोग के बारे में व्याप्त भ्रांतियों को पूर्णतया मिथ्या बताया। मनचन्दा ने कहा कि राष्‍ट्रीय कुष्‍ठ उन्‍मूलन कार्यक्रम के तहत देश से कुष्‍ठ रोग को खत्‍म करने की कोशिश महात्‍मा गांधी के उसी लक्ष्‍य के प्रति एक श्रद्धांजलि है। उन्‍होंने याद किया कि इस कार्यक्रम को 1955 में शुरू किया गया था। उन्‍होंने कहा कि सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या के रूप में कुष्‍ठ रोग को खत्‍म करने के लक्ष्‍य यानी राष्‍ट्रीय स्‍तर पर प्रति 10,000 की आबादी पर 1 से भी कम रोगी की दर को 2005 में ही हासिल कर लिया गया था। उन्‍होंने कहा कि हालांकि उसके बाद रोगियों का पता लगाने की दर में मामूली कमी आई लेकिन निदान के समय दिखने वाली विकृति बढ़ गई। उन्‍होंने कहा कि हमें न केवल एक देश के रूप में अंतिम लक्ष्‍य तक पहुंचने के लिए प्रयास और जागरूकता मुहिम नहीं छोड़नी है बल्कि इस रोग से जुड़े सामाजिक कलंक को खत्‍म करने के लिए साथ मिलकर भी काम करना होगा। इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार एम्बुलेंस ब्रिगेड के सदस्यों रूबी, ज्योति, सुमित तथा अन्य छात्रों ने कुष्ठ रोग के तथ्यों व भ्रांतियों को दूर करने के लिए एक लघु नाटिका का मंचन भी किया जिसमें बताया गया कि कुष्ठ रोग का इलाज पूर्णतया संभव है और नियमित रूप से चिकित्सा करने पर रोगी रोगमुक्त हो जाता है एम.डी.टी. चिकित्सा से रोग प्रसार दर लगातार घट रही है| बिलंब से कुष्ठ रोगीयों के स्वास्थय केंद्र पर आकर चिकित्सा प्रारंभ कराने पर विकलांगता होने की संभावना होती है| कुष्ठ रोग के संबंध में जन समुदाय में प्रचार-प्रसार के माध्यम से जागरूकता पैदा की जा रही है और रोगियों को शीघ्र चिकित्सा हेतु प्रेरित किया जा रहा है| यदि किसी रोगी में विकलांगता आ जाती है तो उन्हें शल्य चिकित्सकीय उपचार का परामर्श दिया जाता है तथा रोगमुक्त कुष्ठ रोगियों को पुर्नशल्य चिकित्सा द्वारा विकलांगता से मुक्त किया जाता है| कुष्ठ रोगियों के पैर के बचाव के लिए माईक्रोसेल्यूलर रबड़ चप्पले मुफ्त उपलब्ध कराई जाती है| बी.पी.एल परिवार के इलाज में विशेष रियायतें भी दी जाती है। यदि हम अपने समाज, राष्ट्र और विश्व को कुष्ठरोग से मुक्त करने में अपना योगदान किसी भी प्रकार से देते है तो ये बापू के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

( टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ के लिए अजय वर्मा की रिपोर्ट )


CONTACT FOR NEWS : JOURNALIST AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY