चंडीगढ : प्रत्यक्ष प्रणाली से चुनाव कराने की मुख्यमंत्री के सामने एबीवीपी ने रखी मांग

0
471

TODAY EXPRESS NEWS : चंडीगढ, 31 जुलाई – अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने हरियाणा में छात्रसंघ चुनावों की बहाली के श्रेय को लेकर हो रही राजनीति में इनसो, एनएसयूआई को इनेलो, कांग्रेस के हितों की पूर्ति का माध्यम करार दिया, जो कभी पोस्टर बाजी तो कभी खंभों पर चढकर दिखावे की राजनीति करने हैं। वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने प्रत्यक्ष प्रणाली चुनाव कराने की मांग को लेकर न केवल पूर्व सरकार, अपितु वर्तमान सरकार में भी समय-समय पर अपनी आवाज उठाई है।  एबीवीपी के प्रांत, क्षेत्रीय एवं विभागों के प्रतिनिधियों द्वारा मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात करते हुए वर्तमान शैक्षणिक सत्र में छात्रसंघ चुनाव को बहाल करते हुए प्रक्रिया को शीघ्र शुरू करने की मांग रखी गई है। मुख्यमंत्री आवास के बाहर पत्रकारों द्वारा छात्र संघ चुनाव पर हो रही राजनीति और श्रेय लेने की होड पर एबीवीपी के प्रदेशाध्यक्ष डा राजेंद्र धीमान एवं प्रांतीय महामंत्री सुनील भारद्वाज ने कहा कि इनसो और एनएसयूआई के बहाने इनेलो और कांग्रेस मौके की राजनीति कर रही है। इनेलो ने छह साल और कांग्रेस ने 10 साल तक छात्रसंघ चुनावों को बहाल कराने महज इसलिए दिलचस्पी नहीं दिखाई क्योंकि इससे उनकी वंशवाद, परिवारवाद और धु्रवीकरण की राजनीति का खात्मा हो रहा था। आज भी इनसो, एनएसयूआई के कार्यक्रमों में युवाओं की बजाय इनेलो, कांग्रेस के नेता, विधायक और पदाधिकारी होते हैं। छात्रसंघ चुनाव की बहाली पर श्रेय के मसले पर एबीवीपी पदाधिकारी ने कहा कि इनसो, एनएसयूआई केवल पोस्टरबाजी और खंभो पर चढने का ढोंग करने तक सीमित है, जबकि एबीवीपी ने पूर्व सरकारों के साथ-साथ वर्तमान सरकार में भी छात्रसंघ चुनाव की बहाली के लिए संघर्ष किया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि एबीवीपी ने हमेशा शैक्षणिक सत्र के शुरूआत में सहायता समूह और सत्र के दौरान विद्यार्थियों की परेशानियों के समाधान के लिए निरंतर प्रयास किए हैं। इस दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री विक्रांत, प्रांत संगठन मंत्री श्याम राजावत, प्रदेश मंत्री सुनील भारद्वाज, राष्ट्रीय छात्रा प्रमुखा ममता यादव, भिवानी विभाग प्रमुख, प्रमोद शास्त्री, फरीदाबाद विभाग प्रमुख डा घनश्याम वत्स, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय शर्मा आदि मौजूद रहे।

 बाक्स ———————–
इससे पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल से उनके आवास पर मुलाकात करते हुए एबीवीपी के प्रतिनिधिमंडल ने प्रत्यक्ष प्रणाली के आधार पर छात्रसंघ चुनाव कराने की मांग रखी। यही नहीं महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय में होने वाले छात्रसंघ चुनाव की प्रक्रिया को शीघ्र शुरू करने तथा छात्राओं का उचित प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने पर जोर दिया। एबीवीपी ने कालेज, विवि में सीटों में कमी के मुद्दे को भी मुख्यमंत्री के सामने उठाया। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल द्वारा दिए गए सुझावों पर उचित कार्रवाई करने का भरोसा दिया।

( टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ के लिए अजय वर्मा की रिपोर्ट )


CONTACT FOR NEWS : JOURNALIST AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY