निष्कपट व्यक्ति को ही श्रीमद् भागवत कथा कहने-सुनने का अधिकार

0
763

TODAY EXPRESS NEWS ( REPORT BY AJAY VERMA ) नई दिल्ली। श्री बरसाना धाम फाउण्डेशन और सिग्नेचर ग्लोबल परिवार की ओर से संयुक्त रुप से आयोजित श्री मद् भागवत कथा सप्ताह के दूसरे दिन सुप्रसिद्ध कथावाचक श्रद्धेय श्री मृदुल कृष्ण गोस्वामी जी महाराज ने अपने व्याख्यान में कहा कि प्रभु में तन्मयता ही भागवत कथा का फल है। ट्रेफिक ट्रेनिंग पार्क, पंजाबी बाग मे चल रही कथा में महाराज जी ने आज श्री कपिल भगवान चरित्र, श्री कपिल गीता व श्री धु्रव चरित्र प्रसंगों पर अपना विस्तृत व्याख्यान दिया।

श्री भागवत कथा के दूसरे दिन की कथा का विस्तार से व्याख्यान करते हुए श्री गोस्वामी जी ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा सुनने मात्र से ही व्यक्ति की भगवान में तन्मयता हो जाती है। धर्म जगत में जितने भी योग यज्ञ, अनुष्ठान एवं तप किए जाते हैं, उन सब का एक ही मंतव्य होता है कि भगवान में हमारी भक्ति लगी रहे।  श्री भागवत के प्रारम्भ में ही सत्य की वंदना की गई है क्योंकि सत्य सर्वत्र एवं व्यापक होता है। सत्य की चाह प्रत्येक को होती है। चाहे वह पिता अथवा पुत्र ही क्यों न हो। पिता अपने पुत्र से सत्य बोलने की अपेक्षा रखता है। यहीं नहीं चोर भी दूसरे चोर से परस्पर सत्य रखने की अपेक्षा करते हैं। अतः आरम्भ में ही श्री वेद व्यास जी ने सत्य की वंदना द्ववारा मंगलाचरण किया है और भागवत कथा विश्राम भी सत्य की वंदना के द्वारा ही किया है। गोस्वामी जी महाराज ने कहा कि श्रीमद् भागवत में निष्कपट धर्म का वर्णण किया गया है। जो व्यक्ति निष्कपट हो उसे ही कथा कहने सुनने का अधिकार है। श्रीभागवत कथा का श्रवण करने के लिए आज जनसमुह उमड़ पड़ा। भारी संख्या में कृष्ण भक्त श्रीमद् भागवत कथा श्रवण के लिए पहुंचे। आज के कार्यक्रम में सांसद एवं दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी, विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष श्री ओम प्रकाश सिंघल, संत दिलीप सिंह नामधारी, नंन्द किशोर गर्ग पूर्व विधायक, पंजाबी बाग जन्माष्टमी के प्रधान श्री अमृत लाल सिंघल व महांमत्री श्री राजकुमार गुप्ता, यूएचएफ के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष श्री जी.के.रात्रा व राष्ट्रवादी शिवसेना दिल्ली प्रदेश के उपाध्यक्ष श्री नत्थू राम सहित अनेक गणमान्य अतिथि सम्मिलित हुए।

CONTACT : AJAY VERMA 9953753769 , 9716316892

EMAIL : faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY