8 करोड में बनकर तैयार हुए सिंथेटिक ऐथलीट ट्रैक का नहीं हुआ उद्धघाटन

0
233

TODAY EXPRESS NEWS : फरीदाबाद सेक्टर 12 खेल परिसर में 6 महीने पहले बनकर तैयार हो चुका सिंथेटिक ऐथलीट ट्रैक अब तक खिलाडियों को नहीं सोंपा गया है, जिसके चलते खिलाडियों को अपने अभ्यास करने में कठनाईयों से गुजरना पड रहा है, खिलाडी कच्ची और कंकरीट वाली सडक पर दौड लगाने के लिये मजबूर हैं। इस ट्रैक के निर्माण पर 8 करोड़ 87 लाख रुपये खर्च किए गये है। मगर अभी तक इसका उदघाटन नहीं किया गया है। जिसके लिये बार एसोसिएशन के पूर्व एल एन पराशर ने खेल मंत्री अनिल विज को इसकी शिकायत की है।  हरियाणा के खिलाड़ी राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय खेलों में काफी पदक जीतते हैं लेकिन हरियाणा के एक बड़े फरीदाबाद जिले के खिलाडियों की हरियाणा सरकार उपेक्षा कर रही है। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर का। बता दें कि खेल परिसर में बने सिंथेटिक ऐथलीट ट्रैक का अब तक  उद्घाटन ना होने पर वकील पाराशर ने हरियाणा के खेल मंत्री अनिल विज को जमकर घेरते हुए कहा कि वो बातें बड़ी बड़ी करते हैं और जमीन पर कोई काम नहीं करते हैं। वकील पाराशर ने कहा कि इस ट्रैक के निर्माण पर 8 करोड़ 87 लाख रुपये खर्च किए किया गया है और लगभग 6 महीने पहले ये बनकर तैयार भी हो गया था लेकिन इसका उद्घाटन अब तक नहीं किया गया जिस कारण शहर के खिलाड़ी बहुत परेशान हैं और कई खिलाड़ी दिल्ली जाकर अभ्यास कर रहे हैं । आपको बता दें कि खेलों को बढ़ावा देने की दिशा में सीएम मनोहर लाल ने 14 मई 2016 को सेक्टर-12 खेल परिसर में सिंथेटिक ऐथलेटिक्स ट्रैक बनाने की घोषणा की थी, सिंथेटिक ट्रैक तैयार करने में 8 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित किया गया था। प्रदेश के उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने 20 नवंबर 2017 को सिंथेटिक ट्रैक का शिलान्यास किया था। अगस्त 2018 तक इस काम को पूरा करने का समय निर्धारित किया गया था लेकिन अब तक ट्रैक का उद्घाटन नहीं हुआ। खेल परिसर में पहुंचे खिलाडियों का कहना है कि उन्हें कहा गया था कि 30 दिसंबर को इसका उद्घाटन होगा लेकिन उस दिन भी नहीं हुआ। खिलाडियों से कहा कि एक जनवरी 2019 को उद्घाटन होगा और दर्जनों खिलाडी एक जनवरी को मौके पर पहुँच गए लेकिन निराशा हाँथ लगी।   यहाँ फरीदाबाद सहित होडल पलवल से आये खिलाड़ियों ने उन्हें बताया कि वो मजबूरन शहर के पार्कों या अन्य जगहों पर नंगे पैर दौड़ते हैं जिस कारण ऐथलीट के पैर में कंकड़ या कोई नुकीली चीज से चोट लग जाती है। इसके चलते वह कई दिन तक अभ्यास नहीं कर पाते। अभ्यास जारी नहीं रख पाने का असर प्रतियोगिता के दौरान ऐथलीट के प्रदर्शन पर पड़ता है।

( टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ के लिए अजय वर्मा की रिपोर्ट )


CONTACT FOR NEWS : JOURNALIST AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY