अप्रैल-मई-जून की फीस जमा कराने के लिए दबाव ना डालें – शिकायत मिली तो उसकी मान्यता रद्द कर दी जाएगी.

0
7082

Today Express News / Report / Ajay Verma /  4 अप्रैल मुख्यमंत्री के कहने पर शिक्षा निदेशक हरियाणा ने एक और पत्र भेजकर हरियाणा के सभी स्कूल प्रबंधकों से कहा है वे पूर्व में भेजे गए पत्र के निर्देशों के अनुसार अभिभावकों पर अप्रैल मई जून की फीस जमा कराने के लिए दबाव ना डालें अगर किसी स्कूल की शिकायत मिली तो उसकी मान्यता रद्द कर दी जाएगी । जिला शिक्षा अधिकारी ने इस दूसरे पत्र को सभी स्कूल प्रबंधकों को भेजकर कहा गया है कि स्कूल प्रबंधक मनमानी से बाज आएं और किसी भी हालत में अभिभावकों पर फीस जमा कराने के लिए दबाव ना डालें । मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा ने बताया कि मंच की ओर से 1 अप्रैल को प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर यह शिकायत की गई थी कि शिक्षा निदेशक के 26 मार्च के पत्र मे दिए गए दिशनिर्देशों का स्कूल प्रबंधक नहीं मान रहें हैं और तिमाही फीस जमा कराने को कह रहे है जब कि नियम है कि सिर्फ उसी महीने की फीस ली जाए जिसमें पढ़ाई की गई है।

मंच ने यह भी शिकायत की थी कि स्कूल प्रबंधकों ने लॉकडाउन का फायदा उठाते हुए शिक्षा सत्र 2020 21 मैं ट्यूशन फीस व अन्य अपनी मर्जी से बनाए गए गैरकानूनी फंडों में 30 से 50% तक की वृद्धि कर दी है। जो पूरी तरह से गलत व नियम विरुद्ध है।स्कूल प्रबंधक बिना पेरेंट्स एसोसिएशन की अनुमति व शिक्षा निदेशक अनुमति के बिना फीस बढ़ा ही नहीं सकते इस समय तो हालात ऐसे हैं कि अभिभावक पहले से ही मंदी के शिकार है । उनकी जेब पर और अधिक आर्थिक बोझ डालना उनके साथ पूरी तरह से अन्याय है। मंच इस अन्याय को नहीं होने देगा। मंच ने अभिभावकों से भी कहा है कि वे जिला प्रशासन द्वारा लॉकडाउन के समय बनाई गई गाइडलाइंस का पूरी तरह से पालन करते हुए अपने घरों में ही रहे और स्कूलों के इस तरह के नोटिसो से न घबराएं और स्कूलों की प्रत्येक मनमानी का डटकर विरोध करें। मंच उनकी उनके साथ है।

LEAVE A REPLY