‘अपनी रसोई’ के माध्यम से 61 सप्ताहों से मात्र 5 रुपये में लोगों को भोजन उपलब्ध करवा रहे है वरिष्ठ नागरिक

0
658

फरीदाबाद, 10 दिसम्बर। फरीदाबाद के सेक्टर-28 के वरिष्ठ नागरिक इन दिनों समाजसेवा की एक नई मिसाल कायम कर रहे है। पिछले 61 सप्ताहों से ये वरिष्ठ नागरिक ‘अपनी रसोई’ के माध्यम से न केवल गरीब व जरुरतमंद लोगों को मात्र 5 रुपये में भरपेट खाना खिला रहे है बल्कि शहर की अन्य सामाजिक संस्थाओं के लिए भी एक प्रेरणा बन रहे है।  सेक्टर-28 के वरिष्ठ नागरिक हर सप्ताह रविवार को आपस में चंदा इक_ा करके ‘प्रयास-अपनी रसोई’ में स्वादिष्ट एवं स्वाथ्यवर्धक खाना बनाकर लोगों को खिलाते है। उनके द्वारा किया जा रहा यह कार्य पूरे फरीदाबाद के लोगों के लिए एक मिसाल बनकर उभर रहा है। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया एनआईटी ब्रांच के चीफ मैनेजर पद से रिटायर्ड त्रिलोक आहुजा ने बताया कि वह शुरु से गरीब व जरुरतमंद लोगों की मदद के लिए कुछ करना चाहते थे, इसको लेकर उन्होंने सेक्टर के अन्य वरिष्ठ नागरिकों से सलाह मशविरा करके लगभग डेढ साल पहले ‘अपनी रसोई’ की शुरुआत की और आज उन्हें 61 हफ्ते बीत चुके है और वह बिना किसी दिक्कत के लोगों को मात्र 5 रुपये में स्वादिष्ट व लजीज खाना उपलब्ध करवा रहे है। उन्होंने बताया कि यह कार्य करने से उन्हें आत्मिक शांति मिलती है। उन्होंने बताया कि शुरु में उन्हें थोड़ा अजीब लगा परंतु जैसे-जैसे सप्ताह बीतते गए, उनका हौंसला भी बढ़ता गया, आज उन्हें 61 सप्ताह बीच चुके है और उनकी इस मुहिम में आज सेक्टर के लोग दिल खोलकर उनके साथ जुटे हुए हैं और अब उन्हें रविवार का बेसब्री से इंतजार रहता है। श्री आहुजा ने बताया कि रविवार के दिन सुबह पार्क में वह पहले योग शिविर लगाते है और उसके बाद अपनी रसोई के माध्यम से लोगों को मात्र 5 रुपये में खाना खिलाते है और यह 5 रुपये भी इसलिए लिए जाते हैं ताकि लोगों के आत्मसम्मान को ठेस न पहुंचे कि वह फ्री में खाना खा रहे है। उन्होंने बताया कि हर सप्ताह में करीब 500 थालियां खाना वितरित करते है और 5 रुपये के हिसाब से जो पैसे आते है और जो बचता है, वह मिल जुलकर अपनी जेब से खर्च करते है। उनकी अब इस मुहिम में लोग भी उनका समर्थन दे रहे है और सामाजिक संस्थाएं व समाजसेवी लोग उन्हें सहयोग करते है। आहुजा ने बताया कि ‘अपनी रसोई’ की इस मुहिम में राजेंद्र शर्मा, के.एल. खेड़ा, गुलशन कुमार, अनुपम, श्याम कुमार, योगेश सिंह, सुश्री द्रोपती आहुजा, कविता शर्मा, सुश्री सृष्टि आहुजा, यतिन आहुजा, जी.एस. मकानी, सावित्री बजाज, मोहन बजाज, एस.के. सिंगला, पंकज जैन आदि लोग भी बढ़चढक़र हिस्सा लेकर समाजसेवा में अपनी भागेदारी निभा रहे है।

LEAVE A REPLY