एशिया की प्रतिष्ठित 21 गन सेल्यूट इंटरनेशनल विंटेज कार रैली और कॉनकाॅर्स डी’एलीगेंस ऐतहासिक इंडिया गेट से हरी झंडी दिखाकर रवाना की जाएगी

0
1188

Today Express News / Report / Ajay verma / नई दिल्ली, 28 जनवरी, 2020ः देश में मोटरिंग को लेकर बढ़ रहे जोश और उत्साह का जश्न मनाते हुए, 21 गन सैल्यूट हेरिटेज कल्चरल ट्रस्ट कारों के, खासकर विंटेज कारों के शौकीनों को 21 गन सेल्यूट इंटरनेशनल विंटेज कार रैली और कॉनकाॅर्स डी’एलीगेंस के 9वें एडीशन के साथ एक नए युग में वापस ले जाने के लिए तैयार है। इस दौरान शानदार और समृद्ध ऑटोमोटिव विरासत को प्रदर्शित किया जाएगा और ये आयोजन आॅटोमोटिव इंडस्ट्री के स्वर्ण युग को एक सच्चा सम्मान है।

15 फरवरी (शनिवार) को कार्यक्रम के पहले दिन ऐतिहासिक इंडिया गेट से 150 से अधिक विंटेज विंटेज कार रैली निकाली जाएगी। विंटेज/ क्लासिक कारें लुटियंस दिल्ली से परेड करेंगी और फिर करमा लेकलैंड्स गोल्फ कोर्स पर अविस्मरणीय प्रदर्शन के लिए कई अन्य मोटरिंग ग्रेट्स के साथ एकत्र होंगी। 16 फरवरी को विश्व स्तर पर पाए जाने वाले दुर्लभतम कलेक्शनों में से चुन चुन कर लाई गई पुरानी कारों के भव्य प्रदर्शन के साथ-साथ शानदार कल्चरल समारोह-एक असाधारण वीकएंड का अनुभव प्रदान करेगी।

21 गन सैल्यूट इंटरनेशनल विंटेज कार रैली और कॉन्काॅर्स डी’एलीगेंस एशिया के सबसे बेहतरीन और चर्चित ऑटोमोबाइल आयोजनों में से एक बन गया है। मोटरिंग के उत्साह को बेहद दुर्लभ सैल्यूट करते हुए इस शो में कई शानदार कारों को डिस्प्ले किया जाएगा, जिनमें भारतीय विरासत के साथ दुनिया की सबसे अविश्वसनीय और दुर्लभ कारें शामिल हैं, जिनमें 1938 रोल्स-रॉयस 25/30, मासरेटी 3500 जीटी विग्नेल सिडर, 1939 ब्यूक रोडमास्टर कनर्वेटेबल, 1938 लैंसिया एस्टुरा सीरीज 4, 1949 ब्यूक रोडमास्टर, 1930 बीएमडब्ल्यू 3/15 डीए2 “ कैब्रियोलेट”, 1938 डेलाहे 135एम, 1936 रोल्स रॉयस 25/30 गुर्ने नटिंग कूपे, 1959 जगुआर एक्सके 150एस, 1936 रोल्स रॉयस 25/30, 1951 बेंटले एमके 6 फ्रीस्टोन एंड वेब, 1966 फोर्ड मस्टैंग, 1930 कैडिलैक वी-16 रोडस्टर, और 1959 अल्फा 2000 और कई अन्य शामिल हैं।

न केवल यह हेरिटेज मोटरिंग इस फरवरी में दुनिया भर से दुर्लभ विंटेज और क्लासिक कारों के एक शानदार प्रदर्शन को एक साथ लाएगा, बल्कि इस विंटेज कार रैली इसे अगले स्तरपर लेकर जाएगी और ये भारत में हेरिटेज मोटरिंग के इतिहास में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि होगी। इस ऐतिहासिक 23-दिवसीय शाही अभियान-इंक्रेडिबल इंडिया रैली का आयोजन भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय के सहयोग से 21 गन सेल्यूट हेरिटेज एंड कल्चरल ट्रस्ट द्वारा किया जा रहा है। हेरिटेज मोटरिंग और भारतीय संस्कृति का यह भव्य उत्सव 17 फरवरी 2020 से शुरू होगा और ये विंटेज कार रैली हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और गुजरात के ऐतिहासिक और दर्शनीय शहरों से होकर गुजरेगर। रैली के आखिरी दिन इसका समापन 10 मार्च 2020 को झीलों के शहर, शाही और भव्य शहर उदयपुर में होगा, जहां प्रतिभागी रंगों के त्योहार होली और शहर के शाही अंदाज का एक अलग अनुभव प्राप्त करेंगे।

इंक्रेडिबल इंडिया रैली 17 शहरों को कवर करेगी और वैश्विक हेरिटेज मोटरिंग और ऐतहासिक भारतीय कल्चर का एक हिस्सा होगी और साथ में भारत और दुनिया भर में हेरिटेज मोटरिंग के संरक्षकों के लिए एक नए युग की शुरुआत होगी।

इस मौके पर श्री मदन मोहन, चेयरमैन एवं मैनेजिंग ट्रस्टी, 21 गन सैल्यूट हेरीटेज एंड कल्चरल ट्रस्ट ने कहा कि “भारतीय संस्कृति और हेरीटेज मोटरिंग हमारे कॉनकोर्स के दो मजबूत स्तंभों को जोड़ रहे हैं। दोनों पहलुओं पर प्रकाश

डाला गया कि 21 गन सेल्यूट कॉनकॉर्स शो विशेष महत्व का है और प्रतिभागियों और मेहमानों, दोनों को आकर्षित करता है। पिछले 8 वर्षों से, यह आयोजन सभी पहलुओं में एक शानदार शो के तौर पर विकसित हुआ है जो पर्यटकों और दुनिया भर के मोटरिंग शौकीनों को अपनी तरफ आकर्षित करता है।”

इस मौके पर एक और घोषणा करते हुए श्री मदन मोहन ने आगे कहा कि “सिर्फ यही नहीं, जीवन से कुछ बड़ा करने का अथक उत्साह, हमें 2019 में सबसे प्रभावशाली और शानदार शाही अभियान का आकलन करने और एक विराम लेने का अवसर मिला। इस दौरान ही ये नया काॅन्सेप्ट सामने आया, जिसे अब साकार किया जा रहा है। इस नए काॅन्सेप्ट को ही इंक्रेडिबल इंडिया रैली का नाम दिया गया है जो कि 4000 किलोमीटर लंबी रैली पूरी तरह से हमारे देश के सबसे जीवंत और शाही राज्यों – हरियाणा, उत्तर प्रदेश, गुजरात और राजस्थान की सांस्कृतिक विविधता और शाही विरासत को बढ़ावा देने पर केंद्रित होगी। यह शाही अभियान भारत की भव्यता का अनुभव करने के लिए वैश्विक पर्यटकों में रुचि पैदा करने के लिए एक जबरदस्त कदम होगा।”

मदन मोहन, ही बीते कई सालों से इस आयोजन को इस रीजन के सबसे बड़े हेरिटेज मोटरिंग शो के तौर पर प्रोत्साहित कर रहे हैं और वे मोटरिंग टूरिज्म डेस्टीनेशन के रूप में, भारत को आगे बढ़ा रहे है। उनका मानना है कि इस संबंध में भी भारत के पास दुनिया को दिखाने के लिए बहुत कुछ है और 21 गन सैल्यूट कॉनकोर्स अपनी विरासत के इस पहलू का संदेश पूरी दुनिया तक पहुंचा रहा है।

यह रैली पूरी दुनिया से आने वाले 15 मोटरिंग उत्साही लोगों की अंतरराष्ट्रीय भागीदारी का गवाह बनेगी। उनकी मौजूदगी से इंक्रेडिबल इंडिया रैली का द्विवार्षिक आयोजन भारत को वैश्विक मंच पर एक ग्लोबल मोटरिंग टूरिज्म डेस्टिनेशन के तौर पर किया जा सकेगा। इंक्रेडिबल इंडिया रैली हमारे देश में विदेशी सैलानियों की बड़ी संख्या को आकर्षित करने में सफल होगी। पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा समर्थित, इनक्रेडिबल भारत रैली भारत की सबसे विशिष्ट और अविस्मरणीय हेरीटेज मोटरिंग रैली होगी। 23-दिवसीय लंबी रैली 17 फरवरी 2020 को गुरूग्राम से शुरू होगी, और इसमें 17 चेक-इन स्टॉप शामिल हैं, और ये विभिन्न शहरों में होंगे, और अंत में 10 मार्च 2020 को उदयपुर, राजस्थान में इसका समापन होगा।

21 गन सेल्यूट हेरिटेज एंड कल्चरल ट्रस्ट के सहयोग से भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा समर्थित, यह सबसे अधिक एलीट और विशिष्ट कार रैलियों में से एक होगी जहां प्रसिद्ध मोटरिंग उत्साही अपने बेहतरीन मास्टरपीसेज के साथ भारत में अद्वितीय स्थलों की यात्रा करेंगे। इस दौरान वे भारत के बीते दौर के राजे महाराजाओं के महलों में रहेंगे, महलों में शाही परिवारों के साथ भोजन करेंगे, महाराजाओं के विशाल किलों की यात्रा करेंगे, और इसके साथ ही मोटरिंग और विरासत के धागे से बंधे आजीवन बंधन को मजबूत करेंगे। इंक्रेडिबल इंडिया रैली भारत की सबसे विशिष्ट और अविस्मरणीय विरासत मोटरिंग रैली में से एक होगी, जो पहली बार, राजस्थान और गुजरात के महलों को कवर करती है; जो कि पूरी तरह से एक अलग और खास अनुभव की पेशकश की जाएगी। राजस्थान और गुजरात के महलों को पहली बार बेहद खास अंदाज में कवर किया गया है, जो कि पहले कभी नहीं किया गया है।

विंटेज कारों की 2 दिन के एक्स्ट्रावेगेंजा के दौरान 150 से अधिक विंटेज ब्यूटीज को अपने शानदार अवतार में डिस्पले किया जा रहा है। शो में पेश किए जाने वाले हर मास्टरपीस को खास तौर पर चुना गया है और ये पहले कभी भी इस शो का हिस्सा नहीं रही है। इस आयोजन ने जर्मनी, फ्रांस, बेल्जियम, अमेरिका सहित दुनिया के विभिन्न हिस्सों से और दिल्ली, मुंबई, बैंगलोर, लखनऊ, बैंगलोर, चेन्नई, जयपुर और अहमदाबाद सहित दुनिया के विभिन्न हिस्सों से प्रतिभागियों को आकर्षित किया है।

इस शो का मूल आधार पोस्ट-वाॅर यूरोपीय क्लास, पोस्ट-वाॅर अमेरिकन क्लास, प्री-वाॅर अमेरिकन क्लास, प्रिजर्वेशन क्लास, एमजी क्लास, पेबेल बीच क्लास, जगुआर, और डेमलर क्लास रोल्स रॉयस क्लास, इंडियन हेरिटेज क्लास,

क्लासिक फोक्सवैगन क्लास, बेंटले क्लास, एडवर्डियन क्लास सहित विभिन्न क्लास के लिए भारत भर से दुर्लभ कारों को लाना था। इसके साथ ही इन क्लास में से बेस्ट ऑफ शो को चुन कर लाया गया है।

21 गन सैल्यूट इंटरनेशनल विंटेज कार रैली और कॉनकाॅर्स डी’एलीगेंस में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मोटरिंग शौकीनों, प्रतिष्ठित मेहमानों, प्रतिष्ठित व्यक्तित्वों और एक अंतरराष्ट्रीय जूरी पैनल की मौजूदगी होती है जिसमें 37 मोटरिंग विशेषज्ञ शामिल होते हैं जिसमें कई प्रसिद्ध क्लासिक विशेषज्ञ, फीवा अधिकारी, रेस्ट्रोरेशन एक्सपर्ट, फीवा स्क्रूटीनर्स, एफ-1 रेसर, और कई अन्य प्रतिष्ठित हस्तियां दुनिया भर से, 150 चयनित कारों के साथ, शामिल हैं। इन सभी को जिन्हें सावधानी से चयन के बाद भाग लेने के लिए चुना गया है।

इस दौरान कारों की मौलिकता, उनकी शैली, डिजाइन, दुर्लभता, और उनकी भव्यता के लिए इस प्रतियोगिता का ध्यान केंद्रित है। इस साल, हमारे पास कुछ अद्भुत व्हीकल हैं जो प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार हैं कि विंटेज और क्लासिक कारों की एक अद्भुत ब्यूटी कम्पीटिशन करेंगी। होगी। हजारों कलेक्टरों और पारखी लोगों की विशेष मौजूदगी दिव्यांग बच्चों के लिए चैरिटेबल फाउंडेशन का समर्थन करती है। दो दिवसीय आयोजन को 4000 किमी लंबी रैली के साथ आगे बढ़ाया जाएगा जो पूरी तरह से सांस्कृतिक विविधता और हमारे देश की शाही विरासत को बढ़ावा देने पर केंद्रित होगा। रैली दुनिया भर के 15 मोटरिंग उत्साही लोगों से अंतरराष्ट्रीय भागीदारी का गवाह बनेगी।

श्री मदन मोहन ग्लोबल मोटरिंग फर्टिनिटी में एक जाने माने और प्रसिद्ध व्यक्ति हैं और जीवन भर कार कलेक्टर और उत्साही रहे हैं। उन्होंने कभी भी अपने मोटर व्हीकल्स कलेक्शन से नजर नहीं हटाई, जो वर्ष 2000 में एक वास्तविकता बन गया, जब उन्होंने अपनी पहली विंटेज कार डॉज विक्ट्री 6, 1928 (पहले खेतड़ी के राजा साहब के स्वामित्व में) खरीदी थी। अब, 19 वर्षों में, उनके पास 328 पुरानी कारें, 43 जीप, और 106 बाइक के साथ-साथ घड़ियां, टाइपराइटर और अन्य एंटीक्स हैं। वह विभिन्न ग्लोबल मोटरिंग शो में ज्यूरी पैनल का हिस्सा रहे हैं, जिसमें मास्टरपीस कॉन्काॅर्स डी’एलीगेंस (जर्मनी), कॉन्काॅर्स डी’एलीगेंस सुइस (स्विटजरलैंड), जोउट कॉन्काॅर्स डी’एलीगेंस (बेल्जियम), हैम्पटन कोर्ट कॉन्काॅर्स (यूके), ट्रम्प नेशनल कॉन्सर्ट डी’एलीगेंस और ला जोला कॉनकोर्स डी’एलीगेंस (यूएसए) शामिल हैं।

वे भारत की मोटर वाहन विरासत को संरक्षित करने में दृढ़ता से विश्वास करता है, और 21 गन सेल्यूट इंटरनेशनल विंटेज कार रैली और कॉन्सर्ट डी’एलीगेंस का उद्देश्य भारत को विश्व स्तरीय मोटरिंग टूरिज्म डेस्टिनेशन के रूप में स्थापित करने के अपने दृष्टिकोण को आगे ले जाना है। श्री मदन मोहन इस हेरिटेज मोटरिंग वेंचर की रीढ़ हैं जो मोटरिंग की अनकही विरासत और भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का वर्णन करता है, जो भारत में हेरिटेज मोटरिंग में एक नया पहलू जोड़ता है।

21 गन सैल्यूट कॉनकॉर्स डी’एलीगेंस एशियन मोटरिंग इवेंट कैलेंडर और एशिया में एकमात्र कॉनकॉर डी’एलीगेंस पर सबसे भव्य और क्लासिएस्ट आयोजनों में से एक है!

अधिक जानकारी के लिए, ूूूण्21हनदेंसनजमतंससलण्बवउ पर जाएं।

LEAVE A REPLY