सीआईए-थ्री प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल छिल्लर की टीम ने समालखा मे गोली चलाकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 8 बदमाशों काबू किया

0
1300
CIA-3 in-charge Inspector Anil Chillar's team caught 8 miscreants who carried out the robbery by firing in Samalkha

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । रिपोर्ट अजय वर्मा | पानीपत पुलिस | पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन जी के कुशल मार्गदर्शन मे सीआईए-थ्री पुलिस ने वारदात के महज 3 दिन के दौरान ही आरोपियों को काबू करने मे बड़ी कामयाबी हासिल की । अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पूजा वशिष्ट ने सोमवार को थाना समालखा मे प्रेसवार्ता कर जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन के कुशल निर्देशन मे कार्रवाई करते हुए सीआईए-थ्री प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल छिल्लर व उनकी टीम ने समालखा मे किरयाना व फ्रुट दुकान के संचालक विनोद सिंगला व नीशु उर्फ बिल्लू पर गत 16 सितंबर गुरुवार की साय पिस्तौल से गोली चलाकर जानलेवा हमला कर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 8 बदमाशों को वारदात के महज 3 दिन के दौरान ही वारदात मे प्रयोग किये गए अवैध हथियारों सहित काबू करने मे बड़ी कामयाबी हासिल की है। अवैध 1 देशी पिस्तौल 32 बौर व 3 देशी पिस्तौल 315 बौर बरामद।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पूजा वशिष्ट ने बताया आरोपियों की पहचान शिवम उर्फ राजा पुत्र राजेन्द्र निवासी चुलकाना, मोहित पुत्र रोहताश निवासी बलींयाली भिवानी, अमन उर्फ अमनी पुत्र रमेश व रोहित उर्फ जाटराम पुत्र वेदपाल निवासी अलेवा जीन्द, विशाल उर्फ अण्डा पुत्र नरेश निवासी नजदीक रामलीला ग्राऊड समालखा, आशु पुत्र असगर निवासी चुलकाना रोड समालखा, लोकेश उर्फ लुकी पुत्र सत्यजीत निवासी कृष्णा कालोनी व दीपक पुत्र विश्वास निवासी आजाद नगर समालखा पानीपत के रूप मे हुई। आरोपियों ने योजनाबद्ध तरीके से वारदात को अंजाम दिया था। आरोपित शिवम, मोहित, अमन व विशाल को योजना अनुसार कवरिंग देने के लिए आशु, लोकेश व रोहित पास मे ही दूसरी बाईक पर असलौ सहित खड़े थे। लूट के समय साथियों को कोई पकड़ने की कोशिश करता तो आरोपी आशु, लोकेश व रोहित पिस्तौल से गोली मारकर छुड़वाते। वही आरोपी दीपक लूट के पैसे लेने के लिए गली मे खड़ा था। पकड़े गए आरोपियों मे से रोहित, मोहित व आशु का पहले भी आपराधिक रिकॉर्ड होना पाया गया है। रोहित पर जानलेवा हमला करने के दो मुकदमे दर्ज है । आरोपित एक मे गिरफ्तार हो चुका था वही एक मे फरार चल रहा था । मोहित के खिलाफ जानलेवा हमला करने की वारदात के संबंध मे थाना माडल टाउन मे एक मुकदमा दर्ज है वहीं आरोपी आशु के खिलाफ थाना समालखा मे स्नेचिंग की वारदात के संबंध मे एक मुकदमा दर्ज है। सीआईए-थ्री पुलिस ने आरोपितों के विभिन्न ठिकानों पर दंबिस देते हुए रविवार को हथवाला रोड़ पर आशु के हुक्का आफिस से सभी आरोपितों को काबू किया। आरोपित किसी अन्य अपराधिक वारदात को अंजाम देने के लिए इक्कठा हुए थे।

समालखा के चुलकाना रोड़ पर बीती 16 सितंबर गुरूवार की साय किरयाना व फ्रुट की दुकान पर बैठे विनोद सिंगला और नीशु उर्फ बिल्लू पर अज्ञात तीन युवक पिस्तौल से गोली चलाकर जानलेवा हमले की वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गये थे। वारदात की सूचना मिलते ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री पूजा वशिष्ट व समालखा थाना प्रभारी इंस्पेक्टर नरेन्द्र ने तुरंत पुलिस टीम के साथ वारदात स्थल पर पहुंचकर जायजा लिया था। वही हमले मे गोली लगने से घायल विनोद सिंगला व नीशु उर्फ बिल्लू को ईलाज के लिए जिला के निजी अस्पताल मे भर्ती करवाया गया था।

पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन जी के संज्ञान मे मामला आते ही उन्होंने आरोपितों की धरपकड़ के लिए तुरंत समालखा थाना प्रभारी के अतिरिक्त जिले की तीनों सीआईए-टीमों के प्रभारी को विशेष निदेश देकर जिम्मेदारी सौपी गई थी। आरोपितों की धरपकड़ के लिये पुलिस टीम द्वारा तुरंत विभिन्न पहलुओं पर गहनता से छानबीन शुरू कर दी गई। साथ ही पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन ने वारदात के महज 10 घंटे बाद ही वारदात स्थल पर सीसीटीवी कैमरा मे केद आरोपितों की विडियों सार्वजनिक करते हुए आरोपितों की सूचना देने पर 50 हजार रूपये का ईनाम भी घोषित किया गया था।

LEAVE A REPLY