एनएचपीसी के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक ने नेपाल के प्रधानमंत्री से मुलाकात की

0
995
CMD, NHPC calls on the Prime Minister of Nepal
दिनांक 19.04.2023 को नेपाल में श्री पुष्प कमल दहल 'प्रचंड', नेपाल के सम्माननीय प्रधानमंत्री के साथ श्री आर.के. विश्नोई, सीएमडी, एनएचपीसी, श्री वाई.के. चौबे, निदेशक (तकनीकी), एनएचपीसी एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी।

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ / रिपोर्ट अजय वर्मा / एनएचपीसी के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, श्री आर के विश्नोई ने दिनांक 19.04.2023 को नेपाल के सम्माननीय प्रधानमंत्री श्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ से मुलाकात की। अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी ने माननीय प्रधानमंत्री को नेपाल में एनएचपीसी द्वारा की जा रही पहल के बारे में अवगत कराया। अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी ने नेपाल में अप्रयुक्त जलविद्युत क्षमता का दोहन करने के लिए एनएचपीसी की विशेषज्ञता की पेशकश की और नेपाल में एनएचपीसी के लिए और अधिक अवसर प्रदान करने का अनुरोध किया।

नेपाल की अपनी यात्रा के दौरान, एनएचपीसी के सीएमडी महोदय ने नेपाल के माननीय ऊर्जा, जल संसाधन और सिंचाई मंत्री श्री शक्ति बहादुर बसनेट, माननीय वित्त मंत्री डॉ. प्रकाश शरण महत, विदेश मंत्री श्री नारायण प्रकाश सौद, मुख्य सचिव श्री शंकर दास बैरागी, ऊर्जा सचिव श्री दिनेश घिमिरे और आईबीएन के सीईओ श्री सुशील भट्ट से भी मुलाकात की। चर्चा, नेपाल में समग्र जलविद्युत विकास एवं एनएचपीसी की इसमें महत्वपूर्ण भूमिका पर केंद्रित रही। गणमान्य व्यक्तियों ने एनएचपीसी द्वारा की जा रही पहल और नेपाल में जलविद्युत के विकास के प्रति इसकी प्रतिबद्धता की सराहना की।
चर्चा के दौरान श्री वाई के चौबे, निदेशक (तकनीकी), श्री रजत गुप्ता, कार्यपालक निदेशक (एसबीडी एंड सी) एवं एनएचपीसी के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी ने दिनांक 19.04.2023 को इंडिपेंडेंट पावर प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन, नेपाल (आईपीपीएएन) द्वारा आयोजित पावर समिट ’23 के पूर्ण सत्र को भी संबोधित किया। इस सत्र में नेपाल के माननीय ऊर्जा, जल संसाधन एवं सिंचाई मंत्री, ऊर्जा सचिव, नेपाल सरकार तथा अन्य प्रतिनिधियों ने भाग लिया। अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक, एनएचपीसी ने अपने मुख्य संबोधन में समग्र आर्थिक विकास में जलविद्युत की महत्वपूर्ण भूमिका पर अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने ऊर्जा की मांग को पूरा करने के लिए जलविद्युत परियोजनाओं को विकसित करने की आवश्यकता पर भी बल दिया।

LEAVE A REPLY