वित्त वर्ष 24 में जि़प इलेक्ट्रिक के राजस्व में तीन गुना वृद्धि, 2023 में भारत में 20,000 ई-स्कूटर्स की बिक्री और परिचालन लाभ हासिल करने में सफल रही कंपनी

0
88

● राजस्व वित्त वर्ष 23 के 115 करोड़ रुपये से बढ़कर वित्त वर्ष 24 में 325 करोड़ रुपये हुआ
● 396% की मजबूत चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (सीएजीआर)
● परिचालन लाभ की स्थिति हासिल, कंपनी ने मुंबई और हैदराबाद में शुरू किया परिचालन

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ | नई दिल्ली, 08 अप्रैल, 2024: भारत के अग्रणी तकनीक-सक्षम ईवी-एज़-ए-सर्विस प्लेटफॉर्म, जि़प इलेक्ट्रिक ने वित्त वर्ष 24 में राजस्व में तीन गुनी वृद्धि के साथ जबरदस्त उपलब्धि हासिल की है। यह मजबूत व तेज वृद्धि परिवहन के स्‍थायी समाधानों के माध्यम से अंतिम उपभोक्ताओं तक डिलीवरी की प्रक्रिया को बदल डालने की जि़प इलेक्ट्रिक की मजबूत प्रतिबद्धता को दर्शाता है। एशिया-प्रशांत 2024 के सबसे तेजी से बढ़ते व्यवसायों की सूची में नंबर एक रैंक वाली कंपनी के रूप में उभरने के बाद जि़प इलेक्ट्रिक ने 2019 से 2022 के बीच 396% चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (सीएजीआर) हासिल करने में सफल रही है।

पूरे भारत में इलेक्ट्रिक स्कूटरों के एक अतिरिक्त बेड़े की सफलतापूर्वक तैनाती के साथ ज़िप इलेक्ट्रिक ने दिल्ली एनसीआर, बेंगलुरू और मुंबई के छह प्रमुख महानगरीय शहरों में अपनी उपस्थिति का विस्तार किया है। 11,000 से बढ़कर 20,000 से अधिक इलेक्ट्रिक वाहनों की वृद्धि पर्यावरण के अनुकूल लॉजिस्टिक्स और मोबिलिटी प्लेटफॉर्म को लेकर कंपनी के समर्पण को जाहिर करती है।

क्विक-कॉमर्स, फूड डिलीवरी, बाइक टैक्सी, ई-कॉमर्स और अन्य ऑनलाइन व्यवसायों के साथ सहयोग करते हुए कंपनी भारत में 100% अंतिम उपभोक्ता तक इलेक्ट्रिक डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए लगातार काम कर रही है। जनवरी 23 से फरवरी 24 के बीच जि़प इलेक्ट्रिक ने इलेक्ट्रिक वाहनों के माध्यम से 45 मिलियन से अधिक शिपमेंट डिलीवरी की है, जो पृथ्वी पर 76 लाख पेड़ उगाने के बराबर है। पिछले वर्ष में, हमने 53,000 से अधिक डिलीवरी अधिकारियों को इलेक्ट्रिक वाहन अपनाने में सक्षम बनाया है, जिससे हमारे प्लेटफॉर्म पर अधिक कमाई करने का अवसर मिला है। प्रति सवार उनकी मासिक औसत कमाई में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है, जोकि 24,000 रुपये प्रति माह से अधिक है और इससे उन्हें पेट्रोल बाइक सवारों की तुलना में 50% अधिक बचत करने में मदद मिली है। उनकी पर्यावरण-हितैषी पहलों के कारण इसके संचालन की शुरुआत के बाद से 29 मिलियन किलोग्राम कार्बन उत्सर्जन में कमी आई है।

जि़प इलेक्ट्रिक की शानदार वृद्धि को बढ़ावा देने वाले अहम घटकों ने संपूर्ण ईवी ईकोसिस्टम को शामिल करने वाले एक प्रौद्योगिकी मंच और नए बाजारों में इसके रणनीतिक विस्तार पर इसका ध्यान केंद्रित किया गया है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में अग्रणी होने से जि़प इलेक्ट्रिक ने बेंगलुरु, मुंबई और अब हैदराबाद सहित अतिरिक्त बाजारों में सफलतापूर्वक प्रवेश किया है। यह विस्तार न केवल कंपनी की नीति और अनुकूलनशीलता को दर्शाता है, बल्कि कई शहरी परिदृश्यों में इलेक्ट्रिक लास्ट-मील लॉजिस्टिक्स में क्रांति लाने की उसकी महत्वाकांक्षी दृष्टि को भी सामने रखता है।

इसके अलावा, थ्री-व्हीलर कार्गो व्यवसाय में जि़प इलेक्ट्रिक का प्रवेश ईवी क्षेत्र में अग्रणी के रूप में अपनी स्थिति को और मजबूत करता है। E3W का बेड़ा फरवरी 23 से 6 गुना बढ़कर फरवरी 24 में 750 से अधिक हो गया है और इसी अवधि में डिलीवरी 21 गुना वृद्धि के साथ 4,320 से बढ़कर 92,000 से अधिक हो गई है। जल्द ही पहुंचने वाले 1000 इलेक्ट्रिक एल5 लोडर के बेड़े और विस्तार के साथ, अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाकर, जि़प इलेक्ट्रिक विज्ञापन विकल्प के लिए खुले E3W पर ब्रांडिंग विकल्पों के साथ-साथ राजस्व स्रोतों अधिकतम करते हुए व्यावसायिक जरूरतों की एक विस्तृत श्रृंखला को पूरा करने के लिए तैयार है।

अपनी विस्तार कोशिशों के अलावा, जि़प इलेक्ट्रिक ने परिचालन में लाभ की स्थिति हासिल की है, जो इसके मजबूत बिजनेस मॉडल और रणनीतिक दूरदर्शिता को बताता है है। सतत विकास पर गहन ध्यान देने के साथ, कंपनी अब अगले 12 से 18 महीनों में ब्रेकइवेन यानी न लाभ न घाटा तक पहुंचने की कगार पर है, जो लंबे समय में इसकी सफलता के लिए ठोस आधार तैयार कर रही है।

कंपनी के शानदार प्रदर्शन के बारे में, जि़प इलेक्ट्रिक के सह-संस्थापक और सीईओ, आकाश गुप्ता ने कहा, “पिछला वित्त वर्ष हमारे लिए महत्वपूर्ण रहा है। हमने पिछले वित्त वर्ष की तुलना में अपने राजस्व में लगभग 3 गुना वृद्धि की है, जिस पर मुझे गर्व है।” बदलते ईवी परिदृश्य के बीच हमारी टीम ने इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए एनसीआर और बेंगलुरु में और अधिक हब जोड़कर इस साल मुंबई में अपना परिचालन शुरू किया है। हर तिमाही में एक नए शहर में लॉन्च करने के लक्ष्य के साथ हम हैदराबाद और बेंगलुरु में अपनी सेवाएं शुरू करने के लिए उत्साहित हैं। बेड़े के मोर्चे पर, हमारा इरादा अगले 12 से 18 महीनों में 20,000 वाहनों की अपनी मौजूदा संख्या को बढ़ाकर लगभग 100,000 करने का है और फिर अगले 36 से 48 महीनों में इसे 500,000 तक बढ़ाने का है। मुनाफे की स्थिति हासिल करना हमारी अगली उपलब्धि है, जिस पर हम विकास के साथ-साथ करीब से नज़र रख रहे हैं।”

हाल ही में, जि़प इलेक्ट्रिक ने विश्वसनीय लॉजिस्टिक्स समाधान प्रदान करने के लिए पोर्टर एंटरप्राइजेज के साथ साझेदारी भी की है। मजबूत नींव, रणनीतिक विस्तार, उत्कृष्ट ईवी फ्लीट प्रबंधन टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म और इनोवेशन की निरंतर खोज के साथ, जि़प इलेक्ट्रिक अंतिम-उपभोक्ता तक डिलीवरी को नया आकार देने और एक स्थायी भविष्य की ओर संक्रमण में तेजी लाने के लिए तैयार है।

LEAVE A REPLY