बेघर होने के डर से हजारों लोगों ने निकला फरीदाबाद की सडकों पर रोष मार्च

0
3638

TODAY EXPRESS NEWS ( REPORT BY AJAY VERMA ) फरीदाबाद की सडकों पर बेघर होने के डर से 50-100 नहीं पूरी तीन कालोनियों के हजारों लोग उतरे। शिवालय कालोनी, वाल्मिकी कालोनी और हरिजन बस्ती के लगभग हजारों लोगों ने हाथों में भाजपा सरकार के पुतले लेकर पूरे शहर में रोष मार्च निकाला, और भाजपा पर दलित विरोधी सरकार होने का आरोप लगाया, कालोनियों को 11 अक्टूबर के दिन तोडने का नोटिस मिला है जो कि अब 9 अक्टूबर को ही तोड दी जायेंगी, पिछले 60 सालों से रह रहे लोगों की मांग है कि उन्हें यहीं पर बसाया जाये अन्यथा जेसीबी के सामने अपनी जान दे देंगे।

 
प्रशासन और बीजेपी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए दिखाई दे रहे गुस्साये पुरूष और महिला शिवालय कालोनी, वाल्मिकी कालोनी और हरिजन बस्ती में करीब 60 सालों से रहने वाले हैं, जिन्हें हाल ही में बेघर करने का नोटिस मिला है, जिससे परेशान होकर सभी ने शहर की सडकों पर रोष मार्च निकाला, और भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
 
इस फरमान के बाद लोगो में हडक़ंप मंच गया और वह सडक़ो पर उतर आये. लोगो का कहना था की यहाँ पर पिछले 50 – 60 साल से वह रह रहे है और उन्हें यही रहने दिया जाए।  अगर उनके यहाँ तोड़ फोड़ की कार्यवाही हुई तो  वह और तो कुछ नहीं कर सकते लेकिन वह अपने बच्चो समेत  जीसीबी के आगे लेट जाएंगे बेशक इसके लिए उन्हें अपनी जान ही क्यों ना देनी पड़े। 
 
वहीं महिलाओं ने बताया कि वो सभी अपने अशियानों को बचाने के लिये मौजूदा विधायक सीमा त्रिख, केबिनेट मंत्री और केन्द्रीय मंत्री का भी दरवाजा खटखटा चुकी है जहां से उन्हें बस एक ही जबाब मिला है कि कोर्ट का आदेश है वो कुछ नहीं कर सकते। महिलाओं ने कहा कि बिजली पानी सीवर सहित सभी सुविधाओं का कर देने के बाद भी उनके घर तोडे जा रहे हैं, अगर घर टूटे तो सभी लोगा अपने परिवार के साथ विधायक मंत्री के घर के सामने धरना देंगे। 
 

 

CONTACT : AJAY VERMA 9953753769 , 9716316892

EMAIL : faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY