सत्ताधारी नेताओं के इशारे पर बरसाई गई छात्रों पर लाठियां – विधायक ललित नागर

0
198

TODAY EXPRESS NEWS : फरीदाबाद में पिछले 26  दिनों से नेहरु कालेज के सामने अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे एनएसयूआई के छात्र-छात्राओं पर बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज की तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने कड़ी निंदा करते हुए धरने को अपना समर्थन दे दिया है। इसे प्रशासन व सरकार का तानाशाही रवैया करार दिया। उन्होंने कहा कि खट्टर सरकार ने अंग्रेजों के शासनकाल की याद ताजा कर दी, नेताओं के इशारे पर विद्यार्थियों के साथ लाठीचार्ज जैसा निंनदनीय कदम उठाया गया, इसे विधानसभा में उठायेेंगे। गत दिवस फरीदाबाद के नेहरू कालेज के सामने छात्र- छात्राओं पर धरना प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज किया गया, इस नजारे ने खट्टर सरकार में अंग्रेजों के शासनकाल की याद ताजा कर दी। जब अपने हकों की मांग करने वालों के खिलाफ लाठियां भांजी जाती थी और लोगों की आवाज को इसी प्रकार दबाने का काम किया जाता था। लाठियां खाने के बाद भी 28वें दिन नेहरु कालेज के समक्ष धरने पर बैठे एनएसयूआई कार्यकर्ताओं से मिलने कांग्रेसी विधायक ललित नागर पहुंचे और अपना समर्थन दिया। इस दौरान कांग्रेसी नेताओं एवं छात्र-छात्राओं ने खट्टर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए अपना रोष जाहिर किया।  गौरतलब है कि शुक्रवार को नेहरु कालेज के समक्ष धरना दे रहे एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था, जिसमें कई छात्र-छात्राएं जख्मी हो गए थे और पुलिस ने 9 छात्रों को हिरासत में भी ले लिया था परंतु बाद में कांग्रेसी नेताओं के हस्तक्षेप के बाद इन छात्रों को रिहा कर दिया गया था। कांग्रेसी विधायक ललित नागर कहा कि नेताओं के इशारों पर विद्यार्थियों के उपर पुलिस ने बर्बरता पूर्वक लाठियां बरसाई हैं, उन्होंने कहा कि खट्टर सरकार ने अंग्रेजों के शासनकाल की याद ताजा कर दी। विद्यार्थी सरकार से अपना हक मांग रहे हैं, बेहतर शिक्षा देने का वायदा करने वाली सरकार में विद्याथर््िायों शिक्षा को तो पता नहीं हां मगर लाठियां जरूर मिल रही हैं। इस मांग को वह विधानसभा में उठायेंगे।

( टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ के लिए अजय वर्मा की रिपोर्ट )


CONTACT FOR NEWS : JOURNALIST AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com

LEAVE A REPLY