अगर किसानों की मांगे नहीं मानी गई तो हरियाणा की खट्टर सरकार का पलट देंगे तख्ता : अवतार सिंह भड़ाना

0
251
If the demands of the farmers are not agreed, then the Khattar government of Haryana will topple Avatar Singh Bhadana

Today Express News / Ajay verma / नांगल चौधरी, महेन्द्रगढ़ । फरीदाबाद के पूर्व सांसद अवतार सिंह भड़ाना ने नांगल चौधरी के आसरवास गांव में जिला परिषद के प्रत्याशी सतीश रावत प्रधान द्वारा आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगर किसानों की मांगें नहीं मानी जाती है तो हरियाणा के एम पी और एम एल ए को 26 जनवरी का झंडा नहीं फहराने दिया जाएगा। इसके बाद भी सरकार अगर नहीं सुनी तो तीन महीने के अंदर हरियाणा में खट्टर सरकार का तख्ता पलट दिया जाएगा और छह महीने के अंदर हरियाणा में अपनी सत्ता कायम करेंगे। अवतार सिंह भड़ाना यहां महेन्द्रगढ़ जिला परिषद के चुनाव में वार्ड नंबर 16 नांगल चौधरी से भावी प्रत्याशी सतीश रावत प्रधान को अपना समर्थन देने आए थे। सभा की अध्यक्षता महाराज राम नरेश दास कर रहे थे। अवतार सिंह भड़ाना ने किसानों की मांगों को जायज बताते हुए कहा कि सरकार अगर अपनी जिद्द पर इसी तरह अड़ी रही तो इसके परिणाम गंभीर होंगे। उन्होंने नौजवानों से सडक़ों पर बैठे किसानों के समर्थन में आगे आने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि वे कोई राजनीति करने नहीं आए हैं बल्कि यह बताने आए हैं कि अगर अब भी जनता नहीं जगी तो हम सभी को अडानी और अंबानी की गुलामी करनी पड़ेगी। अवतार सिंह भड़ाना ने कहा कि किसानों के समर्थन के लिए वे विधायक पद छोड़ कर और बीजेपी की कार्यकारिणी से इस्तीफा देकर जनता को जगाने के लिए आए हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के समर्थन के लिए वे पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पूरे हरियाणा के दौरा पर निकले हुए हैं। अवतार सिंह भड़ाना ने कहा कि जब तक गरीबों, किसानों और मजदूरों का देश में राज कायम नहीं होता है वे चैन से बैठने वाले नहीं। उन्होंने कहा कि सही मायने में हरियाणा और पूरे देश में किसी ने किसानों की सत्ता कायम की थी तो वे चौधरी देवी लाल थे। आज देश को ऐसे ही राजनेता की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जिस सरकार को हम सबने मिलकर बनाई और आज वही सरकार हमारी बात नहीं सुन रही है। हरियाणा की गूंगी व बहरी सरकार चंडीगढ़ में बैठी है। किसान अपनी मांगों को लेकर सडक़ों पर हैं और उनका फौजी बेटा देश की रक्षा के लिए बॉर्डर पर तैनात हैं। उन्होंने कहा कि सेना और पुलिस में किसान के ही बेटे हैं। ऐसे में अगर किसानों ने जिस दिन दिल्ली घेर ली उस दिन ये मोदी सरकार क्या करेगी? ये सरकार को सोचना है। इसके पूर्व नांगल चौधरी पहुंचने पर अवतार सिंह भड़ाना का रामजी लाल जेलदार ने 24 गांवों की ओर से उनका पगड़ी पहना कर स्वागत किया। सभा को सतीश रावत प्रधान और सरपंच कैलाश रावत उर्फ लाला ने भी संबोधित किया। इसके अलावा सभा में ईश्वर सरपंच, छबीला यादव, विकास चौधरी, दौला राम चौधरी, सीताराम नंबरदार, बहरू नेताजी, मुलाराम पंच, मातादीन नंबरदार, जयसिंह प्रधान, देशरज सरपंच, हेमराज सरपंच, बदलू राम सरपंच,रामचंद्र नंबरदार, काना पहलवान, बीरबर नंबरदार, मनोहर नंबरदार, तेजराम नंबरदार, पूरन मास्टर नंबरदार, मारू पटेल, दाता राम, गुगन सरपंच, गिरिराज थनवासिया, मिश्रा प्रसाद नंबरदार, हीरालाल ठेकेदार, प्रकाश सरपंच,जगदीश केजरीवाल, राधे डीटीसी, कृष्ण रावत, बहादूर सरपंच, रोहतास रावत, हीरा सरपंच आदि मौजूद रहे। इस मौके पर समाज की ओर से परंपरागत सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया।

LEAVE A REPLY