प्रतिदिन 500 लोगों को भोजन करवाएगा महारानी वैष्णोदंवी मंदिर संस्थान: जगदीश भाटिया

0
97

Today Express News / Report / Ajay Verma / फरीदाबाद। महारानी वैष्णोदेवी मंदिर तिकोना पार्क फरीदाबाद प्रबंधन कमेटी ने लॉक डाऊन के चलते गरीब व मजदूर तबके के लोगों को भूख से बचाने के लिए खाना बांटने की शुरूआत की है। यह शुरूआत बुधवार को मंदिर संस्थान के प्रधान जगदीश भाटिया ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सहयोगी संगठन सेवा भारती के माध्यम से की है। बुधवार को संघ के पदाधिकारी संजय अरोड़ा, मोहन जी एवं जवाहर कालोनी मार्केट एसेसिएशन के प्रधान नीरज भाटिया को खाने के पांच सौ पैकेट सौंपे। सेवा भारती ने जवाहर कालोनी व आसपास के इलाकों में गरीब लोगों के बीच खाना व राशन बांटने का अभियान पिछले कई दिनों से आरंभ किया हुआ है। इसके अंतर्गत ही बुधवार को महारानी वैष्णोदेवी मंदिर तिकोना पार्क ने भी इस अभियान में अपनी भागेदारी सुनिश्चित की है। इसके साथ साथ मंदिर संस्थान के प्रधान जगदीश भाटिया ने सेवा भारती को 51 हजार रुपए की राशि भी भेंट की है।

इस अवसर पर मंदिर संस्थान के चेयरमैन प्रताप भाटिया, अनिल ग्रोवर, बलजीत भाटिया, फकीरचंद कथूरिया, नेतराम गांधी एवं बलबीर भी प्रमुख रूप से उपस्थित थे। बता दें कि इससे पहले भी वैष्णोदेवी मंदिर तिकोना पार्क ने हरियाणा सरकार के कोरोना रिलिफ फंड में 2 लाख 51 हजार रुपए की राशि सहयोग के तौर पर भेंट की है। मंदिर संस्थान के प्रधान जगदीश भाटिया ने बताया कि लॉक डाऊन की अवधि तक प्रतिदिन 500 खाने के पैंकेट जरूरतमंदों तक पहुंचाए जाएंगे। संस्थान ने निर्णय लिया है कि शहर में लॉक डाऊन की वजह से दिहाड़ीदार व गरीब लोगों को खाने की समस्या का भयंकर तरीके से सामना करना पड़ रहा है। हालांकि जिला उपायुक्त यशपाल यादव के नेतृत्व में प्रशासन अपने स्तर पर बेहतर तरीके से स्थिति को संभाले हुए है। लोगों तक खाना पहुंचाने का भरसक प्रयास किया जा रहा है।

इसके बावजूद प्रत्येक व्यक्ति की भी जिम्मेदारी बनती है कि वह अपने आसपास यथासंभव जरूरतमंदों की सहायता करे। इसके अंतर्गत ही मंदिर संस्थान द्वारा प्रतिदिन भूखे परिवारों को भोजन पहुंचाने का निर्णय लिया गया है। श्री भाटिया ने कहा कि आज देश संकट के दौर में है। लोगों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। उद्योग, व्यापार व व्यवसायिक संस्थान पूर्णतया बंद होने की वजह से लोगों के समक्ष बेरोजगारी व अपने परिवारों के पालन पोषण की विकट स्थिति पैदा हो गई है। ऐसे में सभी लोगों को एक दूसरे की मदद करनी चाहिए। वह जिले की प्रत्येक धार्मिक, सामाजिक व व्यापारिक संस्थाओं के साथ साथ राजनेताओं से अपील करते हैं कि इस विकट स्थिति में जरूरतमंद व गरीब लोगों की सहायता करने के लिए आगे आएं।

LEAVE A REPLY