ब्रेकिंग मेवात : ठगी करने वाले गिरोह को पकडने गई सीआईए और पुलिस की बदमाशों के साथ हुई मुठभेड़

0
1662

TODAY EXPRESS NEWS (बिलाल अहमद) संवाददाता – नूह मेवात : मेवात जिले के उपमंडल पुन्हाना के गांव तिरवाडा में ओलेक्स पर लोगो को साथ ठगी करने वाले गिरोह को पकडने गई पुन्हाना सीआईए और बिछौर थाना पुलिस की बदमाशों के सभा हुई मुटभेड एक मोस्टवांटिड बदमाश के सीने में गोली लगने से घायल हो गया। घायल का पुलिस की निगरानी में शहीद हसन खां मेवाती मेडिकल कॉलेज नूंह में इलाज चल रहा है। जिसकी हालत खतरे से बहार है। पुलिस का दावा है कि आरोपी अरशद के खिलाफ करीब 19 से अधिक लूट, डकेती, हत्या का प्रयास और पुलिस पर फाईरिंग करने के मामले दर्ज हैं। फिलहाल बिछौर थाना प्रभारी रामचंद्र की शिकायत पर अरशद उर्फ बग्गा पुत्र सुलेखां, जावेद पुत्र सुभान, अरशद पुत्र अबदुल, शौकीन पुत्र जमालू और आजम पुत्र इब्रा के खिलाफ पुलिस पर फाईरिंग करने और सरकारी कार्य मेंं बाधा डालने सहित कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर अन्य आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

बिछौर थाना प्रभारी राम चंद्र का कहना है कि उनको गुप्ता सूचना मिली की कुछ बदमाश किस्म के लोग हथियारों से लैस होकर हथनगांव की ओर से तिरवाडा गांव की तरफ आ रहे हैं। जिनमें कई आरोपी उनके कई मामलों में वांछित हैं। उन्होने बताया कि बिछोर थाना और पुन्हाना सीआईए स्टाफ पुलिस सूचना पाकर जब घटना स्थल की तरफ रवाना हुई तो गांव तिरवाडा गांव में पुलिस को आता देख बदमाशों ने पुलिस टीम पर सीधी फाइरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी फाईरिंग की। आरोपी फाईरिंग करते हुऐ गांव के अंदर घुस गऐ।
  थाना प्रभारी का कहना है कि चार आरोपी छत पर चढ गऐ जबकि एक आरोपी पुलिस पर नीचे से फारिंग कर रहा था। बदमाशों की आपसी फाईरिंग में अरशद पुत्र सुलेखां के सीने के नजदीक गोली लगी। उन्होने अरशद को गिरफ्तार कर तुरंत नूंह के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया जहां पुलिस की निगरानी में उसका इलाज चल रहा है। उन्होने बताया कि आरोपी अरशद के कब्जे से एक देशी कटटा, 9 कारतूस बरामद किऐ हैं जबकि बदमाशों ने उनके ऊपर कई राऊंड फाईरिंग की और पुलिस ने भी अपने बचाव में फाईरिंग की। उन्होने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर शनिवार को पुन्हाना के डीएसपी अशोक कुमार की अगुवाई में गांव तिरवाडा में पुन्हाना, बिछौर, पिनगवां और सीआईए स्टाफ ने मिलकर दबिश दी लेकिन आरोपी मौके से फरार हो गऐ।
 क्या कहते हैं प्रत्यक्षदर्शी
प्रत्यक्षदर्शी नाजिम का कहना है कि जिस समय घटना हुई वह मौके पर ही मौजूद था। अरशद भागता हुआ आया जिसके पीछे पुलिस लगी हुई थी। वह उसके सामने बचने के एि एक इंंटों की बनी झोंपडी में दुबक गया। दूसरे रास्ते से आये पुलिस कर्मियों ने ताबडतौड अरशद पर तीन फायर किए जिनमें से दो गोली दिवार में लगी तथा एक गोली अरशद के सीने के नजदीक लगी। पहले तो पुलिस कर्मी उसे छोडकर भाग रहे थे लेकिन थोडा दूर चलने के बाद पुलिस कर्मी घायल अरशद को अपनी जिप्सी में पटक्कर साथ ले गऐ। नाजिम का कहना है कि अरशद के पास कोई हथियार नहीं था ना ही उसने कोई फाईरिंग की बल्कि पुलिस ने ही उसको गोली मारी।
क्या कहते हैं आरोपी अरशद के मां-बाप 
आरोपी अरशद के पिता सुलेखां, मां चंदो का कहना है कि उसका बेठा निर्दोश है। उसे तो गांव की पार्टीबाजी की वजह से फंसाया जा रहा है। उसके चार लडके हैं जिनमें एक नाबीना है जबकि तीन लडके मजदूरी और खेती-बाडी का काम करते हैं। उन्होने पुलिस के उच्च अधिकारियों से मांग की है कि जिन पुलिस कर्मियों ने उसके बेटे को गोली मारी है उनके खिलाफ कार्रवाई की जाऐ।
क्या कहते हैं गांव के सरपंच और ग्रामीण
 गांव की महिला सरपंच फरजाना ने अपने लेटर हेड पर उच्च अधिकारियों को लिखकर दिया है कि अरशउ उर्फ सुलेखा 2013 से पहले तो टटलू आदि की वारदातों में शामिल रहता था लेकिन उसके बाद उसने कोई जुर्म नहीं किया है। गांव के समाजसेवी यूसुफ का कहना है कि पुलिस अरशद को जानबूझकर फंसा रही है। झूंठे मामलों में उसे फँसाने पर उसने एसपी से लेकर मुख्यमंत्री और केंद्रय गृह मंत्री तक पत्र भेजकर इंसाफ की गुहार लगाई है। वह पशुओं का व्यापार कर अपने बच्चों का पालनपौषण कर रहा था।
 पुलिस और आरोपी के परिजनों के अलग-अलग बयानों में कौन सच्चा है और कौन झूंठा है इसका नतीजा तो जांच के बाद ही पता चल सकेगा।

 


CONTACT : AJAY VERMA – 9716316892 – 9953753769
 
EMAIL : todayexpressnews24x7@gmail.com , faridabadrepoter@gmail.com
सावधान  – टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ एक फ्री न्यूज़ वेबसाइट है कृपया इसके लिए आप किसी को भी कोई पेमेंट ना करें।

LEAVE A REPLY