शरद फाउण्डेशन द्वारा अपना दूसरा शिक्षक एक सजग कार्यक्रम मानव रचना यूनिर्वसिटी के सभागार में आयोजित किया।

0
1029

Today Express News / Report / Ajay verma / फरीदाबाद, 29 जनवरी। शरद फाउण्डेशन द्वारा अपना दूसरा शिक्षक एक सजग कार्यक्रम मानव रचना यूनिर्वसिटी के सभागार में आयोजित किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में एशियन एकेडमी के निदेशक संदीप मारवाह, वशिष्ठ कांगे्रस नेता लखन कुमार सिंगला, रिटायरर्ड आईएएस एवं मानव रचना यूनिर्वसिटी के डायरेक्टर जनरल एन.सी. वधवा, पद्मश्री डा. ब्रह्मदत्त, दा अर्थ सेवियर फाउण्डेशन के रवि कालरा, नेशनल वूमैन कमिशन श्यामला एस कुंदर, पूर्व सांसद एवं कवि ओमपाल सिंह, ब्रेन बिहेवीयर रिसर्च फाउण्डेशन की चेयरपर्सन डा. मीना मिश्रा, राष्ट्रीय महिला आयोग के सदस्य श्याम लाल, एयर कमोडोर प्रदीप कुमार, कमान्डो फिरे चंद नागर, आदि ने कार्यक्रम का दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया। इस अवसर पर उपस्थित शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए संदीप माहवाह ने कहा कि शिक्षा पद्धति में अमूलचूक परिवर्तन से शिक्षा पद्धति बेहतर बनी है, लेकिन आधुनिकता के कारण विद्यार्थियों के साथ-साथ उनके अभिभावक भी भारत की संस्कृति से दूर होते जा रहे है। पहले गुरूकुल व्यवस्था विद्यार्थियों को उचित वातावरण में सर्वश्रेष्ठ शिक्षा देने का कार्य करती थी। वरिष्ठ कांग्रेस नेता लखन कुमार सिंगला ने गुरूओं के सम्मान में कहा कि गुरू से ही व्यक्ति सही मायने में इंसान बनता है। गुरूओं की वजह से आज वह इस मंच पर है। पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित डा. ब्रह्मदत्त ने कहा कि समाज में शरद फाउण्डेशन बेहतर कार्य करने में लगी है। समाज में ऐसे लोगों का योगदान कमजोर समाज के लिए वरदान है। उन्हें मुख्य धारा सेे जोडऩे का बेहतर कार्य है। उन्होंने कहा कि आज शिक्षकों की वजह से ही देश व विदेश में भारत के युवा झण्ड़े गाड रहे है। इस अवसर पर शरद फाउण्डेशन की संयोजक एवं ट्रस्टी डा. हेमलता शर्मा ने आए हुए सभी अतिथियों व शिक्षकों को स्मृति चिन्ह व शॉल ओढ़ाकर स्वागत किया तथा फाउण्डेशन के लगभग पांच सौ विद्यार्थियों व 32 स्किल डवलेपमेंट के कार्यों का ब्यौरा दिया। इस अवसर पर फाउण्डेशन के संस्थापक डा. एस.एन पाण्डे ने भी उपस्थित गणमान्य लोगों को सम्बोधित किया। इस मौके पर विशिष्ठ अतिथि के रूप में वरिष्ठ अधिवक्ता ओ.पी. शर्मा, जिला टैक्स बार एसोसिएशन के प्रधान संदीप सेठी, डिप्टी मैनेजर कजारिया टाईल्स अरूण मिश्रा, पंकज पाराशर, अनशनकारी बाबा रामकेवल, शिक्षक सुशील कण्वा, अमरेन्द्र कुमार शर्मा, दीपक शर्मा, राजेश कश्यप, पर्यावरणविद् ज्ञानेन्द्र रावत, अन्र्तराष्ट्रीय रोनियार वैश्य महासम्मेलन के कार्यकारी अध्यक्ष प्रदीप गुप्ता, उद्योगपति राजेन्द्र सैनी, संदीप कुशवाहा, इनेलो प्रवक्ता सुखबीर सिंह तंवर, जगजीत कौर पन्नू, अनूप चौधरी, शीनू जैन, संगीता शर्मा, शिक्षाविद् डा. अगंद सिंह धारिया, हास्य कवि मधुकर मूसल, कवि देवेन्द्र, समाजसेवी सचिन तंवर, दीपक शर्मा, तिलकराज शर्मा, सुमित रावत,  यशपाल शर्मा, अशोक डी स्टार, हन्नी बक्शी, सहित अन्य गणमान्य मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY