मानसिक रूप से मंद और सेरेब्रल पाल्सी बच्चों के लिए ए.एफ.ओ. वितरण शिविर का आयोजन किया गया।

0
1293

TODAY EXPRESS NEWS / REPORT / AJAY VERMA / फरीदाबाद, । इंटरनेशनल रिहेब फाउंडेशन, दिल्ली; जिला रेडक्रॉस सोसायटी, फरीदाबाद तथा दि एडवांस्ड सोसायटी ऑफ डिफरेंटली एबल्ड, फरीदाबाद के सहयोग से वीरवार को सेक्टर-16 स्थित लघुसचिवालय परिसर में मानसिक रूप से मंद और सेरेब्रल पाल्सी बच्चों के लिए ए.एफ.ओ. वितरण शिविर का आयोजन किया गया। गत 3 जनवरी को आयोजित परीक्षण शिविर में ए.एफ.ओ. के लिए 20 लाभार्थियों का मूल्यांकन किया गया था। आज इन लाभार्थियों के बीच 40 ए.एफ.ओ. वितरित किया गया। आयोजित शिविर में इंडियन रेडक्रास सोसायटी, हरियाणा की कार्यकारी सदस्य सुषमा गुप्ता; जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव विकास कुमार, वाइस पैटर्न रेडक्रॉस जगदीश सहदेव, रेडक्रास रिहेबिलिटेशन सेंटर के प्रभारी जयपाल सिंह, इंटरनेशनल रिहेब फाउंडेशन, दिल्ली के मनीष सूद तथा अरमान स्कूल, फरीदाबाद के विजय चौधरी विशेष रूप से उपस्थित रहे।   इस अवसर पर सुषमा गुप्ता ने उपस्थित मंदबुद्धि बच्चों के अभिभावकों का आह्वान किया है कि वे बच्चों की दिल लगाकर देखरेख करें व उनके स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति स्वस्थ होता है उसकी कार्य क्षमता भी अधिक होती है और वह सभी कामों को अच्छे से कर सकता है। उन्होंने कहा कि अच्छी सेहत ही सबसे बड़ी पूंजी होती है।   वहीं विकास कुमार कहा कि बच्चों के कल्याण के लिए सरकार द्वारा मिशन इन्द्रधनुष, राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम, स्वस्थ भारत-स्वच्छ भारत आदि योजनाओं व कार्यक्रमों को क्रियान्वित किया जा रहा है। उन्होंने सभी अभिभावकों से इन योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने का आह्वान किया। वाइस पेट्रन, रोटरी क्लब ऑफ फरीदाबाद सेंट्रल के चेयरमैन प्रोजेक्ट एवं प्रेजिडेंट सीड फाउंडेशन रोटेरियन जगदीश सहदेव ने कहा कि समर्थ व सक्षम लोगों को जरूरतमंद की निस्वार्थ भावना से सेवा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मंदबुद्धि वाले लोगों का तिरस्कार करने के बजाय उनको विशेष सहानुभूति की जरूरत है और उन्हें भी अपनी बुद्धि के अनुसार जीवन जीने का पूर्ण अधिकार है।

LEAVE A REPLY