एग्रीबाजार पहला ऑनलाइन एग्री-ट्रेडिंग प्‍लेटफॉर्म बना, जिसके पास अपना इन-हाउस वर्चुअल पेमेंट सॉल्‍यूशन ‘एग्रीपे’ है

0
405

• एग्रीबाजार ने एग्रीपे से यूजर्स के लिये व्‍यापारिक लेन-देन को आसान बनाया
• एग्रीपे के माध्‍यम से कंपनी इस प्‍लेटफॉर्म पर ट्रांजैक्‍शन करने वाले खरीदारों और विक्रेताओं के लिये ज्‍यादा आसानी और सुविधा
सुनिश्चित कर रही है

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । अजय वर्मा । भारत की प्रमुख फुल-स्‍टैक एग्रीटेक कंपनी एग्रीबाजार ने अपने वर्चुअल पेमेंट सॉल्‍यूशन प्‍लेटफॉर्म एग्रीपे को नए अंदाज में पेश किया है। इससे ट्रांजैक्‍शन के दौरान यूजर्स (खरीदारों और विक्रेताओं) को अतिरिक्‍त सुरक्षा और ज्‍यादा सुविधा मिलेगी।

एग्रीबाजार पर व्‍यापार करने के लिये खरीदारों और विक्रेताओं, यानि दोनों ही पक्षों को अर्नेस्‍ट मनी डिपॉजिट (ईएमडी)/ सिक्‍योरिटी डिपॉजिट (एसडी) करना होता है, ताकि व्‍यापार की प्रक्रिया के बीच कोई भी पक्ष पीछे न हटे। इस प्रकार यूजर का अनुभव ज्‍यादा सुचारू हो जाता है। यूजर्स आसानी से एग्रीपे अकाउंट में अपना पैसा डाल सकते हैं और उसका इस्‍तेमाल व्‍यापार के कई ट्रांजैक्‍शंस के लिये कर सकते हैं।

मशीनी त्रुटि या अन्‍य कारणों से व्‍यापार विफल होने पर यूजर्स को तुरंत रिफंड मिलेगा। इस प्‍लेटफॉर्म को लॉन्‍च करने के पीछे आइडिया यूजर्स में विश्‍वास पैदा करने और उन्‍हें आसानी से लेन-देन के लिये सशक्‍त करना है। एग्रीपे के माध्‍यम से वे इन ट्रांजैक्‍शंस के बारे में कभी भी जान भी सकते हैं, जिससे पूरे लेन-देन के दौरान ज्‍यादा क्षमता और पारदर्शिता मिलेगी। सबसे अच्‍छी बात यह है कि एग्रीपे मुफ्त है और 0.00008% जैसी न्‍यूनतम त्रुटि-दर के साथ लेन-देन में उच्‍च सटीकता सुनिश्चित करता है।

एग्रीबाजार के को-फाउंडर और सीईओ अमित अग्रवाल ने कहा, “भारत में डिजिटल पेमेंट्स के मामले में तेजी से बढ़त हुई है, यहां तक कि कृषि के क्षेत्र में भी। यह तेज और सुरक्षित है और सबसे महत्‍वपूर्ण भी क्‍योंकि यह यूजर्स को प्रत्‍यक्ष रूप से बैंक जाने से बचाता है। एग्रीबाजार ऐप का इस्‍तेमाल कर यूजर्स सुचारू तरीके से अपने एग्रीपे अकाउंट में पैसा डाल सकते हैं, वह भी बैंक या कार्ड के डिटेल्‍स शेयर किये बिना। हमें उम्‍मीद है कि यह सॉल्‍यूशन भुगतान की पारंपरिक प्रक्रिया को एक बार के भुगतान वाले ठिकाने का रूप देगा, ताकि खरीदार और विक्रेता, दोनों ही ज्‍यादा अबाध तरीके से उच्‍चतम सुरक्षा के साथ लेन-देन कर सकें।”

हाल में, एग्रीबाजार ने नये फीचर्स के साथ अपना नया यूआई भी लॉन्‍च किया था, ताकि यूजर्स व्‍यापारों का निर्माण, खोज या बोली लगाने का काम ज्‍यादा सुविधा से कर सकें। उदाहरण के लिये, यूजर्स अब तीन आसान स्‍टेप्‍स से व्‍यापार निर्मित कर सकते हैं, ऑटोमेटिक तरीके से निपटान कर सकते हैं, ब्रोकर के दखल के बिना फसल बेच सकते हैं, रियल-टाइम में चीजों पर निगरानी रख सकते हैं, वेयरहाउस सुविधाओं को एक पल में एक्‍सेस कर सकते हैं, मंडी के रोजाना के दामों का अपडेट तुरंत ले सकते हैं और एक ही बार में बोली लगाने वालों तक अपनी पहुँच बढ़ा सकते हैं। इन अनोखे फीचर्स के साथ एग्रीबाजार भारत में कृषि के सेक्‍टर में क्रांति कर रहा है, जिससे हर संभव बिन्‍दु पर किसानों और अंतिम यूजर्स को फायदा हो रहा है।

एग्रीबाजार के विषय में
एग्रीबाजार भारत का सबसे बड़ा एग्री-टेक मार्केटप्‍लेस है, जो किसानों को आकर्षक दामों पर सबसे नये टूल्‍स के साथ सशक्‍त करने के लिये अपनी पूरी ऊर्जा लगा रहा है। यह डिजिटल प्‍लेटफॉर्म उर्वरकों, बीजों, रोपण सामग्री और उपकरणों जैसे कृषि के इनपुट्स तक पहुँच तो दे ही रहा है, साथ ही किसानों को उनके द्वारा खरीदे जाने वाले उत्‍पादों की गुणवत्‍ता और सर्वश्रेष्‍ठ अभ्‍यासों पर पर्याप्‍त जानकारी देने का प्रयास भी करता है। एग्रीबाजार ऑर्गेनिक इनपुट्स के माध्‍यम से कृषि के स्‍थायित्‍वपूर्ण अभ्‍यासों पर मूल्‍यवान जानकारी की पेशकश करता है। उन्‍होंने बिग डाटा के इस्‍तेमाल से किसानों के लिये रियल-टाइम में फसल सम्‍बंधी सलाह की पेशकश करने के लिये एडवांस्‍ड टेक्‍नोलॉजीज भी विकसित की हैं। वे मौसम के ऐतिहासिक डाटा का विश्‍लेषण करते हैं और कृषि के लिये रियल-टाइम में सलाह साझा करते हैं।

LEAVE A REPLY