पानी को एकत्रित न होने दें व कूलर को सप्ताह में कम से कम 2 बार करें साफ

0
1691

Today Express News / Ajay verma / पलवल, 09 मई। सिविल सर्जन डॉ ब्रह्मदीप ने बताया कि हमें कोरोना वायरस के साथ-साथ मलेरिया से भी लडऩा है। इस मौसम में मलेरिया का मच्छर सबसे ज्यादा सक्रिय रहता है। इसके लक्षण सर्दी व कम्पन्न के साथ तेज बुखार, सिर दर्द व उल्टियां हैं। मलेरिया व मच्छर जनित बिमारियों से बचने के लिए खासकर गर्भवती महिलाओं व बच्चों को मच्छरदानी व मच्छर नाशक क्रीम का प्रयोग करना चाहिए। घर के दरवाजे व खिडकियों पर जाली लगानी चाहिए। समय-समय पर कीटनाशक का छिडक़ाव करवाते रहना चाहिए। पूरी बाजू के कपडे पहनने चाहिए। घर की छत पर रखी पानी की टंकी की समय-समय पर सफाई करनी चाहिए। कहीं पर भी पानी को एकत्रित न होने दें व कूलर को सप्ताह में कम से कम 2 बार साफ करके व सुखा कर ही पानी भरें। पानी से भरे गड्ढों को मिट्टी से भर दें। जहां भी पानी भरा हुआ दिखे उसमें पैट्रोल व डीजल या टेमिफोज दवाई डाल दें। किसी भी प्रकार के लक्षण दिखने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर रक्त की जांच करवाएं। मलेरिया का बुखार उतरने के उपरांत भी 2 सप्ताह तक मलेरिया की दवाई खाएं अन्यथा मलेरिया पुन: होने की संभावना रहती है।

LEAVE A REPLY