एफआईए ने अपने ग्लोबल सेफ एंड अफोर्डेबल हेलमेट प्रोग्राम के लिए स्टीलबर्ड के साथ सहभागिता की

0
1067
Mr Rajeev Kapur, MD, Steelbird Helmets -1

Today Express News | Ajay verma | Delhi | स्टीलबर्ड को एशिया के सबसे बड़े हेलमेट निर्माता और दुनिया भर में आपूर्ति करने वाले भारतीय ब्रांड में से एक होने का श्रेय प्राप्त है। विश्वव्यापी वितरण नेटवर्क, विनिर्माण क्षमता, उच्च गुणवत्ता और हेलमेट की किफायती रेंज के कारण, भारतीय निर्माता और एफआईए अपने वैश्विक सड़क सुरक्षा कार्यक्रम के लिए स्अीलबर्ड के साथ सहभागिता कर रहे हैं। इस कार्यक्रम का उद्देश्य एफआईए के सदस्य क्लबों के विश्वव्यापी नेटवर्क के समर्थन के साथ, उन क्षेत्रों में यूनाइटेड नेशंस रेगुलेशंस 22.05 के अनुसार मानकों पर खरे उतरने वाले हेलमेट्स को प्रदान करता हैं, जिन क्षेत्रों के स्थानीय बाजार में कम गुणवत्ता वाले हेलमेटों के कारण दोपहिया चालकों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

इस कार्यक्रम के लिए स्टीलबर्ड की उत्पादन क्षमता प्रति वर्ष 240,000 हेलमेट्स है और सभी भागीदारों के साथ इस कार्यक्रम के लिए कुल उत्पादन क्षमता प्रति वर्ष 240,000 हेलमेट्स तक है।
एफआईए इस अति महत्वाकांक्षी पहल पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा मानकों को पूरा करने वाले मोटरसाइकिल हेलमेट को उपलब्ध करवाने की सुविधा के लिए काम कर रहा है, जो कि गर्म और आर्द्र जलवायु में भी आरामदायक है, और 20 अमेरिकी डॉलर के मूल्य के आसपास बिक्री के लिए उपलब्ध है। एफआईए सुरक्षा विभाग, जिसे आमतौर पर प्रतियोगिताओं के लिए सुरक्षा उपकरण विकसित करने का काम सौंपा जाता है, ने इस उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए अपनी विशेषज्ञता का उपयोग किया है। उन बाजारों में जहां जनसंख्या काफी हद तक दो-पहिया मोटर चालित परिवहन पर निर्भर है, और जहां गर्म जलवायु और काफी अधिक महंगा खरीद मूल्य कई मोटरसाइकिल चालकों को हेलमेट पहनने से रोकते हैं। ऐसे में एफआईए सेफ एंड अफोर्डेबल हेलमेट कार्यक्रम उनको हेलमेट कम दरों पर उपलब्ध करवाते हुए मोटरसाइकिल संबंधी घातक सड़क हादसों को कम करने में योगदान देगा।
अनुसंधान से पता चलता है कि हेलमेट पहनना सबसे प्रभावी सड़क सुरक्षा उपायों में से एक है, जिससे मोपेड सवारों और मोटरसाइकिल चालकों के बीच सिर की चोटों की संख्या लगभग 44 प्रतिशत तक कम हो जाती है।
यह एफआईए की सुरक्षित और सस्ती हेलमेट पहल के हिस्से के रूप में एक हेलमेट निर्माता के साथ दूसरी साझेदारी है। इस परियोजना को हाल ही में माइकल शूमाकर के परिवार द्वारा स्थापित कीप फाइटिंग फाउंडेशन का समर्थन मिला, जिसमें पांच हज़ार हेलमेट का दान प्राप्त हुआ था।
जीन टॉड, प्रेसिडेंट, एफआईए, ने कहा कि “हेलमेट पहनना सड़क सुरक्षा में एक महत्वपूर्ण मुद्दा है। हमारी सुरक्षित और सस्ती हेलमेट पहल के नए भागीदार के रूप में स्टीलबर्ड का स्वागत करते हुए मुझे खुशी हो रही है। भारतीय निर्माता की सफलताओं को विशेषताओं को देखते हुए, मुझे विश्वास है कि यह सहयोग हमारी अंतरराष्ट्रीय पहल की सफलता में योगदान देगा। स्टीलबर्ड, इस पहल के लिए काफी किफायती मूल्य पर उच्च गुणवत्ता वाले हेलमेट की पेशकश करने के लिए प्रतिबद्ध है जो दुनिया के उन क्षेत्रों में हेलमेट को बड़े पैमाने पर अपनाने में मदद करेगा जहां इसकी अधिक आवश्यकता है।“
श्री राजीव कपूर, प्रबंध निदेशक, स्टीलबर्ड हेलमेट ने कहा कि “एफआईए के साथ हमारी इस सहभागिता पर हमें बेहद गर्व है क्योंकि हमने अन्य कई वैश्विक कंपनियों को विश्व स्तर पर पीछे छोड़ा है। इसके अलावा, यह सहभागिता उन क्षेत्रों और क्षेत्रों में सुरक्षा उपायों को बढ़ाने के लिए एक विशाल अवसर की भी पेशकश करता है जो सड़क सुरक्षा मानकों पर अछूते हैं यां वहां पर उनकी उपलब्धता कम रहते हैं। सुरक्षा से समझौता किए बिना दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट के उपयोग को बढ़ाने के उद्देश्य से एफआईए द्वारा कई क्षेत्रों की पहचान की गई है। एक ब्रांड के रूप में हमने न केवल अपने वितरण नेटवर्क का निर्माण करने के लिए बल्कि सवारियों को गुणवत्ता और सुरक्षा प्रदान करने के लिए भी बहुत मेहनत की है।”
स्टीलबर्ड को एशिया के सबसे बड़े हेलमेट निर्माताओं और दुनिया भर में आपूर्ति करने वाले एकमात्र भारतीय ब्रांड के लिए श्रेय प्राप्त है। यह भारत की पहली कंपनी है जो समय से काफी आगे चल रही है और अपनी अलग अलग विनिर्माण सुविधाओं, प्रयोगशालाओं और डिज़ाइनों को आगामी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पहले ही एडवांस्ड कर चुकी है।
कंपनी अपनी किफायती रेंज के साथ उन क्षेत्रों में प्रवेश करने के लिए तैयार है, जिनमें अभी तक कंपनी मौजूदगी नहीं है। ब्रांड के सभी 6 संयंत्रों में अत्याधुनिक विनिर्माण सुविधा है और सबसे बड़ा प्लांट बद्दी (हिमाचल प्रदेश) में है, चंडीगढ़ के पास छह लाख वर्गमीटर से अधिक कवर्ड एरिया में फैला है। कंपनी ने प्रति दिन 22000 हेलमेट की क्षमता स्थापित की है।
द फैडरेशन इंटरनेशन द ल ऑटोमोबाइल (एफआईए), वर्ल्ड मोटर स्पोर्ट (विशेष रूप से फॉर्मूला 1, फॉर्मूला ई, एंडुरेंस, रैली, रैलीक्रॉस और कार्टिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप) के लिए गर्वर्निंग बॉडी है और दुनिया की अग्रणी गतिशीलता संगठनों का महासंघ है। एफआईए सभी के लिए सुरक्षित, स्थायी और सुलभ गतिशीलता को बढ़ावा देता है। 1904 में पेरिस और जिनेवा में मुख्यालय के साथ स्थापित, एफआईए एक गैर-लाभकारी संगठन है। यह पांच महाद्वीपों पर 146 देशों के 245 सदस्य संगठनों को एक साथ लाता है। इसके सदस्य क्लब 80 मिलियन सड़क उपयोगकर्ताओं और उनके परिवारों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

LEAVE A REPLY