किन्नरों के आर्शीवाद में होती है बहुत ताकत : लखन सिंगला

0
1318
There is a lot of strength in blessing of eunuchs Lakhan Singla

Today Express News | Ajay verma | ओल्ड फरीदाबाद के पथवारी मंदिर में किन्नर समाज द्वारा सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन में मुख्यातिथि के रूप में वरिष्ठ कांग्रे्रसी नेता लखन कुमार सिंगला ने शिरकत की वहीं सम्मेलन की अध्यक्षता समाजसेवी अनिल सिंगला द्वारा की गई। वैसे तो इस सम्मेलन में देशभर के किन्नर हिस्सा लेते है, लेकिन कोरोना महामारी के चलते सीमित संख्या में ही किन्नरों ने हिस्सा लिया। सम्मेलन की शुरूआत पथवारी मंदिर में फल एवं फूल आदि चढ़ाकर की गई। इस अवसर पर कांग्रेसी नेता लखन कुमार सिंगला ने कहा कि हमारे समाज में किन्नरों को मान-सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है, इनके आर्शीवाद में बहुत ताकत होती है इसलिए वह किन्नर समाज से गुजारिश करते है कि कोरोना महामारी के खात्मे के लिए वह परमात्मा से प्रार्थना करें ताकि इस बीमारी से विश्व से अंत हो जाए। उन्होंने सम्मेलन में आए सभी किन्नरों का आभार जताते हुए उनके स्वस्थ्य जीवन की कामना की। सम्मेलन में समाजसेवी अनिल सिंगला ने भी किन्नर समाज का स्वागत करते हुए उनसे आर्शीवाद लिया और कहा कि यह लोग भी समाज का एक अभिन्न अंग है और इनके बिना कोई खुशी पूरी नहीं हो सकती, इसलिए हर खुशी में इनका आर्शीवाद होना जरूरी है। किन्नर समाज की प्रधान शांति दीदी व रेखा दीदी ने सभी का आभार जताते हुए कहा कि कोरोना महामारी के इस सम्मेलन में समाज के गणमान्य लोगों ने उपस्थित होकर जो सम्मान उन्हें दिया है, उसके लिए वह सदैव उनके आभारी रहेंगे और वह परमात्मा से प्रार्थना करेंगे कि कोरोना महामारी का देश व पूरे विश्व से जल्द अंत हो और पहले की तरह मनुष्य का जीवन चलता रहे। इसके उपरांत किन्नर समाज द्वारा एक विशाल शोभायात्रा बाजार में निकाली गई, जहां जगह-जगह व्यापारियों व दुकानदारों ने इस शोभायात्रा का फूल मालाओं एवं लडडूओं से तोलकर किन्नरों का सम्मान किया। इस अवसर पर विजय सिंगला, अरविंद गोयल, रमेश कपड़े वाला, नवल कपड़े वाला, राजकुमार कपड़े वाला, कुंजीलाल बंसल, महेंद्र सिंगला, अन्नू खत्री, रोहित गोयल, संजय जूते वाला, सचिन सिंगला, टीकाराम नागर, विजय कुमार, संतलाल, ओमप्रकाश पंडित, आकाश गुप्ता, संदीप वर्मा, कर्मवीर खटाना, कपूरचंद अग्रवाल, आकाश सैनी, दीपक वर्मा सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY