क्या है वेदांत फैशंस लिमिटेड का आईपीओ?

0
390

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । अजय वर्मा । पिछले कुछ महीनों में भारतीय बाजारों में एक के बाद एक आईपीओ आने का सिलसिला जारी है। निवेशक अब वेदांत फैंशंस लिमिटेड की सार्वजनिक पेशकश (आइपीओ) का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। वेदांत फैशंस लिमिटेड मान्यवर, मोहे, मेबाज, मंथन और त्वमेव जैसे लोकप्रिय ब्रांड्स के पीछे प्रमुख बल रहा है। इन ब्रांड्स की संपूर्ण लोकप्रियता, जिसने ब्रांड को सार्वजनिक होने से पहले बेहद जरूरी पहचान दिलाई है, और शानदार वित्‍तीय प्रदर्शन को देखते हुए, यह उम्‍मीद है कि यह आइपीओ निवेशकों के लिए काफी फायदेमंद होगा।एंजेल वन

कंपनी के विषय में:
वेदांत पुरुषों के लिए एथनिक ब्रांड्स पर फोकस करता है और मुख्य रूप से इंडियन सेलिब्रेटरी वियर मार्केट की जरूरतों को पूरा करता है। यह वन-स्टॉप शॉपिंग की तरह है, जहां लोग वेदांत फैशंस के लोकेशंस पर सभी प्रकार के अवसरों के लिए अपनी सभी एथनिक ड्रेस की जरूरतें प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, मल्टी-ब्रांड स्टोर्स, बड़े फॉर्मेट स्टोर्स और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स में भी इसकी मौजूदगी है।

आईपीओ के बारे में विस्तृत जानकारी:
आरएचपी (रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस) के अनुसार आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) सब्सक्रिप्शन के लिए 4 फरवरी खुलेगा और 8 फरवरी को बंद होगा। बिक्री के प्रस्ताव में प्रोमोटर्स और मौजूदा शेयरधारकों के 3,63,64,838 इक्विटी शेयर शामिल हैं। प्रत्येक शेयर का अंकित मूल्य 1 रुपये है, और इसका प्राइस बैंड 824 रुपये से लेकर 866 रुपये के बीच रहने की उम्मीद है। एक लॉट में 17 शेयर शामिल होंगे और निवेशक अधिकतम 13 लॉट के लिए बोली लगा सकेंगे। सूचीबद्ध होने के बाद इस कंपनी का बाजार पूंजीकरण 19,998-20,017 करोड़ रुपये (सांख्यिकी स्रोत यहां) रहने की उम्मीद है।

मौजूदा शेयरधारिता:
राइन होल्डिंग्स के पास वर्तमान में कंपनी की 7.2% हिस्सेदारी है, जबकि केदारा एआईएफ के पास 0.3% और रवि मोदी फैमिली ट्रस्ट के पास 74.67% है। इश्यू के बुक रनिंग लीड मैनेजर ऐक्सिस कैपिटल, एडलवीस फाइनेंशियल सर्विसेज, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, आईआईएफएल सिक्योरिटीज और कोटक महिंद्रा कैपिटल हैं। इस इश्यू के पहले प्रोमोटर की हिस्सेदारी 92.40% है।

कंपनी के संचालन का अंतरराष्ट्रीय और घरेलू विस्तार:
सितंबर 2021 के आसपास से, फर्म के पास 546 एक्सक्लूसिव ब्रांड आउटलेट (ईबीओ) का वैश्विक खुदरा नेटवर्क है, जिसमें 58 शॉप-इन-शॉप शामिल हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा और संयुक्त अरब अमीरात में 11 अंतरराष्ट्रीय ईबीओ हैं, जहां बड़ी संख्या में भारतीय आबादी रहती है। इसलिए, न केवल भारत में बल्कि विभिन्न प्रमुख बाजारों में उद्यम की समग्र उपस्थिति मजबूत है।

सारांश
सबसे प्रसिद्ध मेंस वेडिंग वियर ब्रांड्स में से एक होने के नाते, वेदांत लिमिटेड अन्य सूचीबद्ध आईपीओ के साथ दौड़ में सही प्रतीत होता है। यह एक सकारात्मक दिशा प्रतीत होती है जिसमें भारत आगे बढ़ रहा है, और यह पहली या आखिरी बार नहीं होगा जब किसी भारतीय ब्रांड ने सफलतापूर्वक शेयर बाजार में अपनी पहचान बनाई हो। यह ब्रांड पहचान को बढ़ाएगा और अपनी इक्विटी के लिए एक सार्वजनिक बाजार प्रदान करेगा।एंजेल वन

LEAVE A REPLY