परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने आईटीआई व आरटीए कार्यालय का किया औचक निरीक्षण

0
539

TODAY EXPRESS NEWS / REPORT / AJAY VERMA / पलवल, 03 फरवरी। हरियाणा के परिवहन, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री मूलचंद शर्मा ने आज पलवल में राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) व जिला सचिवालय स्थित क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए)कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण कार्यालय से तीन कर्मचारी गैरहाजिर मिले जिनके खिलाफ परिवहन मंत्री ने विभागीय कार्रवाई करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान उपायुक्त नरेश नरवाल भी साथ रहें।

मूल चंद शर्मा के निरीक्षण के दौरान आईटीआई स्थित वर्कशॉप में जमीन पर बैठ कर विद्यार्थी पढ़ाई करते मिले साथ ही कई मशीनें भी बंद मिली। उन्होंने आईटीआई परिसर में स्वच्छता व अन्य इंतजामों का भी जायजा लिया। परिसर में मिली विद्यार्थियों को जमीन पर बिठाने, स्वच्छता व आवारा पशुओं के घूमने संबंधी खामियों को लेकर कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को फटकार लगाते हुए निर्देश दिए कि भविष्य में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। परिवहन, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री ने आईटीआई में पढऩे वाले विद्याॢथयों विशेषकर छात्राओं से बातचीत करते हुए उनकी समस्याएं सुनी। उन्होंने छात्राओं की समस्याओं को ध्यानपूर्वक सुना और संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए। आईटीआई के उपरांत मंत्री ने जिला सचिवालय स्थित आरटीए कार्यालय को निरीक्षण किया। उपायुक्त नरेश नरवाल के साथ आरटीए कार्यालय पहुंचे श्री शर्मा ने कर्मचारियों के हाजिरी रजिस्टर व विभिन्न व्यवस्थाओं की जांच की। परिवहन मंत्री के निरीक्षण के दौरान आरटीए कार्यालय से तीन कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। जिनके खिलाफ मंत्री ने विभागीय कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हरियाणा सरकार का ध्येय सुशासन है और नागरिकों को मिलने वाली सुविधाओं में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी व कर्मचारी कार्यालय के अनुशासन व निर्धारित समयसीमा का अवश्य ध्यान रखें और लापरवाही करने पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त व क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण के सचिव वत्सल वशिष्ठ, आईटीआई के प्राचार्य भगत सिंह सहित अन्य अधिकारी भी साथ रहे।

LEAVE A REPLY