आईथिंक लॉजिस्टिक्स ने नेशनल लॉजिस्टिक्स पॉलिसी के तहत की पहल ,अपने ग्राहकों को गो ग्रीन इनिशिएटिव के तहत पौधे दे रही है

0
345
iThink Logistics, an initiative under the National Logistics Policy, is giving saplings to its customers under the Go Green Initiative

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । रिपोर्ट अजय वर्मा । नई दिल्ली, 28 अक्टूर, 2022। भारत में तेजी से बढ़ते ‘सास’ (SAAS ) आधारित प्लेटफॉर्म्स में से एक आईथिंक लॉजिस्टक्स ने घोषणा की है कि वह नेशनल लॉजिस्टिक्स पॉलिसी (एनएलपी) की दिशा में कदम उठा चुकी है और इसके लिए वह विभिन्न शहरों में गो ग्रीन इनिशिएटिव के तहत अपने ग्राहकों को पौधे भेजेंगे। कार्बन फुटप्रिंट को कम करने में पौधों के महत्व को समझने में मदद करने के लिए पौधों का यह उपहार ग्राहकों के लिए एक उत्साहजनक तोहफा होगा। ये पौधे, जो ग्राहकों को दिए जाएंगे, नमी के स्तर को बढ़ाने और साथ ही हवा में कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा को कम करने के लिए जाने जाते हैं, जो हवा को साफ करने में मदद करता है। यह पर्यावरण के अनुकूल पहल अत्यधिक कार्बन इमीशन (CE)  में सुधार की दिशा में एक विवेकपूर्ण कदम है क्योंकि लॉजिस्टिक्स क्षेत्र भारत में कार्बन उत्सर्जन में तीसरा सबसे बड़ा योगदानकर्ता है।

इस इनिशिएटिव के बारे में जानकारी देते हुए आईथिंक लॉजिस्टिक्स की को फाउण्डर ज़ैबा सारंग ने बताया ‘‘ हम अत्यधिक कार्बन उत्सर्जन को समाप्त करने की जिम्मेदारी के महत्व को समझते हैं, क्यों कि यह लॉजिस्टिक्स परिचालन का एक बाय प्रोडक्ट्स है। चूंकि हमारी कम्पनी वास्तव में एक भारतीय संगठन है, इसलिए हम दिवाली की इस शुभ अवधि का उपयोग एक अन्तर पैदा करने और एक टचस्टोन स्थापित करने के लिए करना चाहते हैं कि भारत में जिम्मेदार लॉजिस्क्सि  कम्पनियों को कैसे काम करना चाहिए।
उन्होंने आगे बताया कि आईथिंक लॉजिस्टिक्स की गो ग्रीन पहल में कर्मचारी जुड़ाव गतिविधियां भी शामिल हैं जिनका उद्देश्य जागरूकता पैदा करना और पर्यावरण के लिए स्थिरता को बढ़ावा देना है। इस महीने चल रहे सार्वजनिक परिवहन दिवस के मद्देनजर हम प्रत्येक कर्मचारी को इस बात के लिए प्रेरित कर रहे है कि प्रत्येक कर्मचारी महीने के एक निर्धारित दिन सार्वजनिक परिवहन से  ही यात्रा करे तथा अपनी इस यात्रा की सेल्फी लेकर भेजे। एक और दिलचस्प भागीदारी गतिविधि के तहत अपशिष्ट उत्पाद से पर्यावरण के अनुकूल  सर्वोत्तम  बनाना शामिल है जिसे बाद में नीलाम किया जाएगा, और संग्रह को एक  NGO को भेज दिया जाएगा। इसके अलावा एक एनजीओं इस अभियान को गति देने के लिए फण्ड रेजिंग संग्रहण के लिए प्रत्येक महीने एक फूड स्टॉल भी स्थापित किया जाएगा।

LEAVE A REPLY