ज्योर्तिमठ ज्योतिषपीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज धर्म संचार यात्रा के दौरान श्री संकट मोचन हनुमान मंडल कैली धाम पहुंचे

0
555

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़।  रिपोर्ट अजय वर्मा। फरीदाबाद, 28 अक्टूबर। ज्योर्तिमठ ज्योतिषपीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज धर्म संचार यात्रा के दूसरे दिन पलवल प्रस्थान करते हुए श्री संकट मोचन हनुमान मंडल कैली धाम में प्रवास किया। इस दौरान शंकराचार्य ने बताया कि बिना वेदपाठी गुरु के ज्ञान संभव नहीं हरी का आना हरियाणा की सही परिभाषा होगी इसलिए हरियाणा में हरि के 24 अवतारों का मंदिर निर्माण करवाने और धर्म का संचार आगे बढ़ सके। यही मेरी यात्रा का उद्देश्य है। जिसमें फरीदाबाद में मत्सय अवतार के मंदिर का निर्माण हो ऐसी कामना करता हूं। शंकराचार्य की यात्रा 26 अक्टूबर से 8 नवंबर तक प्रदेश के विभिन्न जिलों से होती हुई हिंदू समाज से धर्म संवाद करते हुए आगे बढ़ेगी।

Jyotirmath Jyotishapeethadhishwar Shankaracharya Swami Avimukteshwaranand Saraswati Ji Maharaj reached Shri Sankat Mochan Hanuman Mandal Kaili Dham during Dharma Sanchar Yatra 1

रात्रि प्रवास जागेश्वर मंदिर पलवल में धर्म सभा व प्रवचन के बाद एडवोकेट ललित गर्ग के निवास पर होगा। कार्यक्रम में श्री संकट मोचन हनुमान मंडल के सदस्य योगेश तिवारी उर्फ  मुन्ना भैया, कैलाश जोशी, मुकेश वर्मा, प्रफुल्ल शर्मा, शंभू नाथ पांडे आदि लोगों ने गुरु की महिमा की प्रस्तुति देते हुए शंकराचार्य जी को भजन सुनाया। जिसकी शंकराचार्य ने भी सराहना करते हुए कहा कि सभी धर्म के मूल में गुरु को होना आवश्यक है। कार्यक्रम को सफल बनाने में वरिष्ठ उद्योगपति अरुण बजाज, उद्योगपति वी एस चौधरी, गौतम चौधरी, कोऑर्डिनेशन कमेटी के सदस्य पवन वशिष्ठ, एडवोकेट ललित गर्ग, अमर बंसल, बलबीर शर्मा, एडवोकेट पंकज पाराशर, कैलाश शर्मा, प्रेम पसरीजा, विनोद गर्ग, प्रेम प्रकाश गुप्ता, पवन गुप्ता, दिनेश अग्रवाल, कांतिलाल गुप्ता व संस्था के अध्यक्ष पारसमल आदि लोगों ने शंकराचार्य के आगमन पर सौभाग्य बताते हुए उनके बताए हुए मार्ग पर आगे धर्म के लिए और कार्य करने के लिए संकल्पित हुए। शंकराचार्य का स्वागत आचार्य महावीर प्रसाद वशिष्ठ अपने साथी और शिष्यों के साथ स्वस्ति वाचन कर मंत्र उच्चारण और शंखनाद के साथ शंकराचार्य का भव्य स्वागत किया।

Jyotirmath Jyotishapeethadhishwar Shankaracharya Swami Avimukteshwaranand Saraswati Ji Maharaj reached Shri Sankat Mochan Hanuman Mandal Kaili Dham during Dharma Sanchar Yatra - 3

LEAVE A REPLY