केका ने भारत का सबसे बड़ा वर्चुअल एचआर सम्मेलन आयोजित किया

0
153

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़। रिपोर्ट अजय वर्मा।  केका ने हाल ही में अपने दो दिवसीय कार्यक्रम एचआर कैटालिस्ट 2.0 का समापन किया है। यह भारत का सबसे बड़ा वर्चुअल एचआर सम्मेलन है जिसमें इंडस्ट्री के दिग्‍गज एचआर से जुड़े सबसे महत्‍वपूर्ण विषयों पर चर्चा करते हैं और अहम जानकारियां प्रदान करते हैं। यह सम्मेलन क्लियरसाइट, नोवा बेनिफिट्स और स्प्रिंगवर्क्स के सहयोग में आयोजित किया गया। इसमें 17 अलग-अलग विषयों पर अपनी जानकारी साझा करने के लिए 50 से ज्यादा वक्ता एक साथ एक मंच पर आए।

इस सम्मेलन के लिए 23,000 पंजीकरण हुए थे। इस वेबिनार में 10 देशों से 8000 से ज्यादा प्रोफेशनल्स शामिल हुए। प्रत्येक सहभागी ने 20 से ज्यादा सेशन की वीडियो सामग्री देखने में औसतन 3.5 घंटे बिताए।

इस सम्मेलन की शुरुआत रिलायंस एचआर के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट हरजीत खंडूजा ने “बिहाइंड द स्माइल: द साइलेंट कॉस्ट ऑफ फेक इमोशन्स एट वर्क” शीर्षक के भाषण से की। उनके इस भाषण में कार्यस्थल पर अक्सर नजरअंदाज किए जाने वाले पहलुओं पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम के दूसरे भाग में क्लियरसाइट के चीफ ऑपरेटिंग ऑफीसर जोसेफिन ग्रूम ने “एचआर टीम के निर्माण की अनिवार्यताएं” विषय पर एक विचारोत्तेजक पैनल चर्चा का आगाज़ किया। दिन का समापन केका एचआर में प्रोसेस कोच – परफॉर्नेंस मैनेजमेंट, क्षितिज सचान के “गोल सेटिंग हैक्स” नामक एक इंटरैक्टिव कार्यशाला के आयोजन से हुआ। इस कार्यशाला में एचआर प्रबंधन में प्रभावी लक्ष्य-निर्धारण रणनीतियों के लिए व्यावहारिक सुझाव प्रदान किए गए।

इस सम्मेलन के दूसरे दिन की शुरुआत नोवा बेनिफिट्स के सीईओ और संस्थापक सारांश गर्ग, एसआइएक्‍सटी रिसर्च एंड डेवलपमेंट, इंडिया के को-सीईओ सुमंत बीएस और केका एचआर के कम्युनिकेशंस मैनेजर डॉ. निशात अफजल की उपस्थिति में “एचआर प्रमुख कैसे सीईओ बन सकते हैं” शीर्षक पर आधारित एक पैनल चर्चा के साथ हुई। चर्चा में एचआर लीडर से सीईओ बनने तक की यात्रा की खोज की गई, जिससे एक्जीक्यूटिव रोल निभाने के इच्छुक एचआर प्रोफेशनल्स को कई मूल्यवान जानकारियां मिलीं।

इस सम्मेलन के मुख्य आकर्षणों में “कर्मचारी स्वायत्तता बनाम माइक्रोमैनेजमेंट” शीर्षक पर आधारित एक पैनल डिस्कशन भी था। इस डिस्कशन में टॉपलाइन के पीपुल्स सक्सेस एंड कम्युनिटी के निदेशक मोहम्मद सुफियान सैत भी शामिल थे। इस सम्मेलन में भागीदारी करने वाले लोगों को कार्यस्थल में स्वायत्तता और माइक्रो मैनेजमेंट के बीच सही संतुलन बनाने पर महत्वपूर्ण जानकारी मिली। स्प्रिंगवर्क्स के सीईओ कार्तिक मंडाविले द्वारा आयोजित एक फायरसाइड चैट में “एग्जिट इंटरव्यू, ऑफबोर्डिंग और रिटेंशन स्ट्रैटेजीज” पर चर्चा की गई। यह चर्चा कंपनी या संगठन छोड़कर जाने वाले लोगों से अनुभव से सीखने के विषय पर आधारित थी।

पीपल मैटर्स के सीईओ एस्टर मार्टिनेज द्वारा समापन भाषण देने के साथ यह कार्यक्रम समाप्त हुआ। एचआर कैटालिस्ट 2.0 ने अपने वक्ताओं, विविध विषयों और इंटरैक्टिव सत्रों की शानदार श्रृंखला के साथ अपेक्षाओं से बेहतर प्रदर्शन किया। इसमें उपस्थित लोगों को भरपूर जानकारी मिली और वे इंडस्ट्री के दिग्गजों द्वारा साझा किए गए ज्ञान के भागीदार बने।

केका एचआर के वीपी सेल्स धीरज पांडे ने कहा, “एचआर कैटालिस्ट 2.0 को मिले जबरदस्त रिस्‍पॉन्‍स से हम उत्‍सहित हैं। सम्मेलन ने एचआर के दिग्गजों को एक साथ एक मंच पर जुटाया। इसमें सार्थक चर्चाएं हुईं और सीखने और नेटवर्किंग के लिए एक मंच मिला। हम इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए अपने भागीदारों, वक्ताओं और उपस्थित लोगों के आभारी हैं।”

एचआर कैटालिस्ट और भविष्‍य में होने वाले इवेंट्स के बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया www.keka.com पर जाएं।

LEAVE A REPLY