जल्दी निवेश शुरू करने के लिए स्मार्ट विकल्पों को अपनायें

0
453
Angel one logo 2021

टुडे एक्सप्रेस न्यूज़ । रिपोर्ट अजय वर्मा । गुरुग्राम, 01 September, 2022: एक व्यक्ति अपनी निवेश यात्रा के दौरान कई उतार-चढ़ावों से गुजरता है। जोखिम और निवेश को लेकर हर व्यक्ति की धारणा दूसरे से अलग होती है। निवेश को लेकर विभिन्न दृष्टिकोण (जैसे वैल्यू और ग्रोथ निवेश) हैं, जिसे एक निवेशक बाजार की स्थितियों और व्यक्तिगत प्राथमिकताओं के आधार पर अपना सकता है। हालांकि इन सबके बीच एक मंत्र जिसने सभी प्रकार के निवेशकों के लिए बेहतर काम किया है, वह है निवेश की यात्रा को जल्द से जल्द शुरू करना।

भारत उभरते बाजारों में से एक है और यहां युवाओं की उच्‍च आबादी निवास करती है। इसे देखते हुए, भारत में पिछले कुछ वर्षों में युवा निवेशकों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। नए जमाने की ब्रोकरेज कंपनियों के मुताबिक, पहली बार निवेश करने वाले निवेशकों में से 70% से अधिक (उनके साथ जुड़े) 30 साल से कम उम्र के हैं।

इस बात के अलग-अलग कारण हैं जो यह बताते हैं कि क्यों बुद्धिमान निवेशक विकल्पों को अपनाकर जल्दी शुरुआत करना सबसे अच्छा काम है ताकि कोई व्यक्ति अपने पोर्टफोलियो पर सर्वाधिक रिटर्न अर्जित कर सकता है।

यहां कुछ टिप्स बताए गए हैं, जो कम उम्र से निवेश को प्रोत्साहित करती हैं:

चक्रवृद्धि का फायदा

किसी भी निजी निवेशक को शुरुआती निवेश से मिलने वाले पहले लाभों में से एक ‘चक्रवृद्धि प्रभाव’ है। सीधे शब्दों में कहें तो चक्रवृद्धि प्रभाव का मतलब किसी निवेश की उच्च रिटर्न अर्जित करने की क्षमता से है क्योंकि एक वर्ष के ब्याज/लाभांश को शुरुआती कोष में फिर से निवेश किया जा सकता है। इसलिए, किसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए निवेश में देरी करने का मतलब केवल यह होगा कि निवेशक को प्रति माह काफी राशि खर्च करनी पड़ सकती है। यह सेवानिवृत्ति योजना के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है जब कोई निवेशक मासिक या वार्षिक चक्रवृद्धि ब्याज की एक निश्चित दर अर्जित करने के लिए एक व्यवस्थित निवेश योजना या एसआईपी बनाता है। इस मामले में, जल्दी की गई शुरुआत हमेशा एक उच्च रिटर्न (और पूंजी) के साथ समाप्त होगी।

अधिक जोखिम लेने की क्षमता
कई अध्ययनों से इस बात की पुष्टि होती है कि उम्र बढ़ने के साथ एक निवेशक की जोखिम लेने की क्षमता कम हो जाती है। इसके अलावा, उच्च जोखिम अक्सर निवेश पर अधिक रिटर्न की उम्मीद से जुड़ा होता है। जब कोई निवेशक जल्दी शुरू करता है, तो जोखिम लेने की क्षमता अधिक होती है; इसलिए, मल्टी-बैगर स्टॉक में निवेश किया जा सकता है, और निवेश के लिए विभिन्न अपरंपरागत क्षेत्रों का पता लगाया जा सकता है। इसके अलावा, कम जिम्मेदारियों के साथ एक निवेशक सीमित प्रारंभिक निवेशों से अच्छे रिटर्न के लिए इक्विटी या यहां तक कि एफएंडओ में ट्रेडिंग कर उच्च जोखिम उठाने के लिए तैयार हो सकता है।

कॅरियर की तरक्की के शुरुआती वर्षों के दौरान बचत और निवेश की आदतों में सुधार
स्टॉक मार्केट सिक्युरिटीज जैसे इक्विटी शेयर और बॉन्ड में व्यवस्थित या एकमुश्त निवेश शुरू करने से उन युवाओं में बचत की स्मार्ट आदत पैदा हो सकती है जिन्होंने हाल ही में कमाई शुरू की है। पहली बार कमाने वालों को पहली बार अपने बैंक खातों में नियमित रूप से धन की आमद को लेकर खुशी होती है। लेकिन निवेश को जल्दी शुरू करने से नकदी प्रवाह को प्रभावी रूप से व्यवस्थित करने में मदद मिलती है और आप गैर प्राथमिकता वाली वस्तुओं पर खर्च करने से बच जाते हैं। घर या कार खरीदने और उच्च शिक्षा की योजना बनाने जैसे दीर्घकालिक लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए उचित वित्तीय योजना महत्वपूर्ण है। निवेश यात्रा की शुरुआत में यह सुनिश्चित करने में मदद मिलती है कि आम तौर पर जीवन के बाद के चरण में आने वाली चुनौतियों को कम किया जाता है।

व्यवस्थित और छोटे आकार के निवेश
जब कोई व्यक्ति लंबी अवधि के निवेश के लिए योजना बनाता है तो प्रति माह या प्रति हफ्ते निवेश की जाने वाली राशि छोटी होती है और यह निवेशकों की सहूलियत के मुताबिक होती है। निवेशक के दिमाग में तात्कालिकता का समग्र स्तर सीमित होता है और वह उसी के मुताबिक समझदारी से भरा निर्णय लेता है। निवेशक बाजार में कम मात्रा में व्यवस्थित निवेश कर समान लक्ष्यों को पहले हासिल कर सकता है। शुरुआती निवेश हमेशा लंबी अवधि में फायदेमंद होती है।

सारांश
वैसे जो निवेशक जल्द ही निवेश की यात्रा शुरू करते हैं, वे परिष्कृत उपकरणों का इस्तेमाल कर बाजार का व्यापक विश्लेषण कर सकते हैं, जो मौलिक और द्वितीयक अनुसंधान पर आधारित होता है। किसी व्यक्ति की धारणा और आवश्यकताओं के अनुसार निवेश करना महत्वपूर्ण है, लेकिन निवेश के लक्ष्यों को प्राप्त करने, बजट तैयार करने और परिसंपत्ति विविधीकरण की शुरुआत में जल्दी शुरुआत करना निश्चित रूप से फायदेमंद होता है। समय-समय पर पुनर्संतुलन करना और अंततः उच्च रिटर्न का आनंद उठाना अन्य घटक हैं जो कम उम्र से निवेश शुरू करने की प्रवृत्ति का समर्थन करते हैं। श्री प्रभाकर तिवारी, सीजीओ, एंजेल वन लिमिटेड

LEAVE A REPLY